PRATHAM PRAVAKTA

PP 1 June-15मिशन इंडिया की चुनौतियां 20

मोदी के ‘मिशन इंडिया’ पर कम से कम सिद्धांत रूप में मुख्यधारा की किसी राजनैतिक जमात की ओर से सवालिया निशान उभरता नहीं दिख रहा है। तो, क्या ‘मिशन इंडिया’ की चुनौतियां कम हैं? शायद नहीं क्योंकि सवालिया निशान कम होने से ही इसे साकार करके दिखाने का दायित्व भी कई गुना बढ़ जाता है।

कुशासन और नाकामी का ठीकरा मीडिया पर 14

जिस समय समाजवादी पार्टी के नेता राज्य में कानून-व्यवस्था दुरुस्त होने की डींगें हांक रहे थे, उस समय एक ही दिन में राज्य के अलग-अलग हिस्सों में नाबालिग लड़कियों और महिलाओं के साथ गैंगरेप की कई वारदातें हुईं। कुछ की हत्या कर दी गयी। केवल चैबीस घंटे के भीतर हुई वारदातें यह बताने को काफी हैं कि उत्तर प्रदेश में दरअसल हालात कितने भयावह हो चले हैं।