बौद्धिक संपदा साक्षरता और जागरूकता अभियान ‘कपिला ’


केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने 15 अक्टूबर, 2020 को राष्ट्रीय नवाचार दिवस के अवसर पर आविष्कारों के पेंटेट के प्रति जागरुकता के लिए ‘बौद्धिक संपदा साक्षरता और जागरूकता शिक्षा अभियान के लिए कलाम कार्यक्रम – कपिला’ (Kalam Program for Intellectual Property Literacy and Awareness- KAPILA) का वर्चुअल तरीके से शुभारंभ किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: इस अभियान के तहत, उच्च शिक्षण संस्थानों में शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्रों को अपने आविष्कार को पेटेंट कराने के लिए आवेदन प्रक्रिया की सही प्रणाली के बारे में जानकारी मिलेगी और वे अपने अधिकारों के बारे में जागरूक होंगे।

  • 15 से 23 अक्टूबर के सप्ताह को 'बौद्धिक संपदा साक्षरता सप्ताह' के रूप में मनाने का भी निर्णय लिया गया।
  • इस अवसर पर नवाचार संस्थान परिषद (आईआईसी 2.0) की वार्षिक प्रदर्शन रिपोर्ट प्रस्तुत की गई और आईआईसी 3.0 की शुरुआत करने की घोषणा की गई।
  • नवाचार संस्थान परिषद की स्थापना शिक्षा मंत्रालय द्वारा 2018 में की गई थी। अब तक लगभग 1700 उच्च शिक्षण संस्थानों में इसकी शाखाएं खोली जा चुकी हैं। आईआईसी 3.0 के तहत 5000 उच्च शिक्षण संस्थानों में आईआईसी की शाखाएं खोली जाएंगी।