एथेनॉल उत्पादन संवर्धन नीति 2021


बिहार सरकार ने 17 मार्च, 2021 को एथेनॉल उत्पादन संवर्धन नीति, 2021 (Ethanol Production Promotion Policy, 2021) को मंजूरी प्रदान की।

  • बिहार 'एथेनॉल उत्पादन संवर्धन नीति' लागू करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है, जो निवेशकों को मक्का, शीरे, टूटे चावल और सड़े हुए अनाज से सीधे एथेनॉल बनाने की अनुमति देगा।
  • नई नीति बिहार में ‘जैव ईंधन पर राष्ट्रीय नीति 2018’ द्वारा अनुमत सभी फीड स्टॉक से एथेनॉल उत्पादन की अनुमति देगी।

नीति की विशेषताएं: निवेशकों को अधिकतम 5 करोड़ रुपए तक के संयंत्र और मशीनरी की लागत का अतिरिक्त 15% पूंजीगत सब्सिडी प्रदान करना।

  • पूंजीगत सब्सिडी बिहार औद्योगिक निवेश प्रोत्साहन नीति, 2016 के तहत मौजूदा प्रोत्साहन के अलावा होगी।
  • नई नीति एससी, एसटी, आर्थिक रूप से पिछड़ों, महिलाओं, दिव्यागों, युद्ध विधवाओं, और एसिड हमलों के पीड़ितों जैसे विशेष वर्ग के निवेशकों के लिए अतिरिक्त सब्सिडी भी प्रदान करती है। उन्हें संयंत्र और मशीनरी की अधिकतम 5.25 करोड़ लागत पर 15.75% की पूंजीगत सब्सिडी दी जाएगी।

बिहार सरकार को मिला 'डिजिटल इंडिया पुरस्कार 2020'


  • बिहार सरकार ने लॉकडाउन के दौरान काम के लिए 30 दिसंबर, 2020 को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से 'डिजिटल इंडिया पुरस्कार 2020' प्राप्त किया।
  • मुख्यमंत्री सचिवालय, आपदा प्रबंधन विभाग और बिहार के राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) को 'महामारी में नवाचार' श्रेणी के तहत विजेता घोषित किया गया।
  • बिहार में, लॉकडाउन के दौरान 'प्रवासी सहायता ऐप' के माध्यम से राज्य सरकार द्वारा राज्य के बाहर फंसे हुए 21 लाख से अधिक लोगों को वित्तीय सहायता प्रदान की गई।
  • राज्य सरकार ने राशन कार्ड धारकों को मुफ्त राशन और अन्य खातों में नकद 1000 रुपये सहित अन्य सहायता की भी निगरानी जारी रखी।
  • आपदा प्रबंधन विभाग की पहल के तहत, कोरोना लॉकडाउन के दौरान प्रवासी श्रमिकों को पंजीकृत करने और उनके कौशल को मैप करने के लिए 'गरूर ऐप' (Garur App) नामक एक डिजिटल प्लेटफॉर्म विकसित किया गया था।

नीतीश कुमार सातवीं बार बिहार के मुख्‍यमंत्री


नीतीश कुमार ने 16 नवंबर, 2020 को सातवीं बार राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। । भाजपा नेता तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी को उपमुख्यमंत्री की शपथ दिलाई गई।

  • नितीश कुमार ने किसी भी निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव नहीं लड़ा। तारकिशोर प्रसाद ‘कटिहार’ निर्वाचन क्षेत्र से तथा रेणु देवी ‘बेतिया’ निर्वचन क्षेत्र से विधायक हैं।
  • 17वें विधान सभा चुनाव में कुल 243 सीटों में से राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) ने बिहार में पूर्ण बहुमत हासिल करते हुए 125 सीटें जीतीं। राष्ट्रीय जनता दल (राजद), कांग्रेस और वामपंथी दलों सहित महागठबंधन को 110 सीटें हासिल हुई।
  • भारतीय जनता पार्टी को 74 सीटों पर विजय मिली, जबकि राजद को 75 सीटों पर जीत हासिल हुई।
  • विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष राजद के तेजस्वी यादव हैं, जो ‘राघोपुर’ निर्वाचन क्षेत्र से निर्वाचित हुए।
  • भारतीय जनता पार्टी के विजय कुमार सिन्हा बिहार विधान सभा के अध्यक्ष निर्वाचित किए हैं। विजय कुमार सिन्हा ‘लखीसराय’ निर्वाचन क्षेत्र से निर्वाचित हुए हैं।

काबर ताल रामसर स्थल के रूप में नामित


  • नवंबर 2020 में बिहार के बेगूसराय जिले में ‘काबर ताल’ को रामसर कन्वेंशन के तहत अंतरराष्ट्रीय महत्व की एक आर्द्रभूमि के रूप में मान्यता दी गई है। राज्य में यह दर्जा प्राप्त करने वाली यह पहली आर्द्रभूमि है।
  • इसे ‘कंवर झील’ के नाम से भी जाना जाता है। काबर ताल जैव विविधता और प्रवासी पक्षियों के लिए मध्य एशियाई उड़ान मार्ग (फ्लाईवे) की महत्वपूर्ण आर्द्रभूमि है।
  • स्थल के प्रमुख खतरों में जल प्रबंधन गतिविधियाँ जैसे- जल निकासी, पानी का बहाव, बांध से पानी का प्रवाह रुकना, नहरबंदी शामिल हैं।
  • आर्द्रभूमि के समुचित इस्तेमाल और इसके संरक्षण के लिए ‘रामसर कन्वेन्शन’ एक अंतरराष्ट्रीय समझौता है। इस समझौते पर 2 फरवरी, 1971 को हस्ताक्षर हुए थे।

बिहार के दरभंगा में नए एम्‍स की स्‍वीकृति


केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 15 सितंबर, 2020 को बिहार के दरभंगा में प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत एक अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान-एम्स के गठन की स्वीकृति दे दी है। इसमें निदेशक के पद की भी मंजूरी दे दी गई है।

  • इसमें एमबीबीएस की अंडर ग्रेजुएट की 100 और बीएससी नर्सिंग की 60 सीटें होंगी। यह 750 बिस्तरों वाला अस्पताल होगा।
  • इसका निर्माण 4 वर्षों में 1,264 करोड़ रूपये की लागत से किया जाएगा।