चाबहार बंदरगाह टर्मिनल के संचालन हेतु भारत-ईरान समझौता

13 मई, 2024 को, भारत और ईरान ने चाबहार बंदरगाह को संचालित करने के लिए 10 साल के अनुबंध पर हस्ताक्षर किए हैं। यह समझौता सामान्य सहयोग ढांचे की प्रारंभिक स्थापना के 8 वर्ष बाद हुआ है।

  • अनुबंध पर इंडियन पोर्ट्स ग्लोबल लिमिटेड (IPGL) और ईरान के पोर्ट एंड मैरीटाइम ऑर्गनाइजेशन (PMO) के बीच हस्ताक्षर किए गए।
  • IPGL ने बंदरगाह और उसके बुनियादी ढांचे को सुसज्जित करने में लगभग 120 मिलियन डॉलर का निवेश करने की योजना बनाई है। इसके अतिरिक्त, भारत ने चाबहार से संबंधित बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के लिए $250 मिलियन की क्रेडिट विंडो (Credit Windo) की पेशकश की है। ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |