Explained Socio-Economic Development
सामयिक खबरे*
प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना का तीसरा चरण

15 जनवरी, 2021 को देश के सभी राज्यों के 600 जिलों में ‘प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तीसरे चरण’ का शुभारम्भ किया गया।महत्वपूर्ण तथ्य: कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय (एमएसडीई) ...

एलसीए तेजस एमके-1ए लड़ाकू विमान

13 जनवरी, 2021 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) से 83 हल्के लड़ाकू विमान (एलसीए) ‘तेजस’ खरीदने की मंजूरी प्रदान की।महत्वपूर्ण तथ्य: ...

अस्मी

14 जनवरी, 2021 को रक्षा मंत्रालय के अनुसार रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) तथा भारतीय सेना द्वारा संयुक्त रूप से भारत की पहली स्वदेशी ‘9 एमएम मशीन पिस्तौल’ (9mm ...

रिस्क-ओ-मीटर

म्यूचुअल फंड निवेशकों के लिए जोखिम को ठीक तरह से पहचानने के लिए बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) का 'रिस्क-ओ-मीटर' (Risk-o-meter) 1 जनवरी, 2021 से लागू हो ...

एनसीएवीईएस इंडिया फोरम 2021

जनवरी 2021 में सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय द्वारा आभासी प्रारूप में संयुक्त राष्ट्र सांख्यिकी प्रभाग (UNSD), यूरोपीय संघ और संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण के सहयोग से ‘एनसीएवीईएस इंडिया फोरम 2021' ...

नवोन्मेष पोर्टल

केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 14 जनवरी, 2021 को राष्ट्रीय नवप्रवर्तन प्रतिष्ठान- भारत [National Innovation Foundation (NIF) – India] द्वारा विकसित एक ‘नवोन्मेष पोर्टल’ (Innovation Portal) राष्ट्र ...

सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भारत-जापान सहयोग

भारत और जापान ने 15 जनवरी, 2021 को सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। दूरसंचार विभाग और जापान ...

Current Affairs
UN Human Rights Council’s First-Ever Presidential Vote

The UN Human Rights Council elected Fiji's ambassador Nazhat Shameem Khan as its president in 2021after a diplomatic stand-off blocked the usual consensus decision. The council's presidency rotates each year ...

Russia Withdraws From Open Skies Treaty

Russia has announced to withdraw from the Open Skies treaty citing "lack of progress" on maintaining the functioning of the treaty after the United States withdrew from it last year.About ...

Defence Modernisation: Army To Get Indigenous SWITCH Drones

Towards modernization of Indian Defence forces, the Indian Army has struck a deal for SWITCH UAV from ideaForge Technology — especially for surveillance along LAC in Eastern Ladakh. This is the ...

UNEP Adaptation Gap Report 2020

The UN Environment Programme (UNEP) has released the 2020 Adaptation Gap Report on 14th January 2021.What is Adaptation? Adaptation is adjustment in natural or human systems in response to actual ...

IAF To Get 83 ‘Tejas’ From HAL

The Union Cabinet has approved procurement of 73 LCA Tejas Mk-1A fighter aircrafts and 10 LCA Tejas Mk-1 Trainer aircrafts from Hindustan Aeronautics Limited (HAL).Light Combat Aircraft Mk-1AIt is an ...

‘Khadi Prakritik Paint’: India’s First Cow Dung Paint

The Khadi and Village Industries Commission has developed India’s first cow dung based paint.The project is being developed by Kumarappa National Handmade Paper Institute, Jaipur (a KVIC unit).An eco-friendly, non-toxic ...

GSI Finds Vanadium In Arunachal Pradesh

Geological Survey of India (GSI) has found promising concentration of vanadium in the palaeo-proterozoic carbonaceous phyllite rocks in the Depo and Tamang areas of Arunachal Pradesh’s Papum Pare district.“Good prospects” ...

Vision IAS
सामयिक प्रश्न

जनवरी 2021 में किस देश के राष्ट्रीय चिड़ियाघर मसाया में, 'नीव' (Nieve) नामक एक दुर्लभ सफेद बाघ का जन्म हुआ है?

A
निकारागुआ
B
वेनेजुएला
C
पेरू
D
मेक्सिको

Current Questions

Consider the following statements with reference to the Forest Rights Act, 2006:

  1. The Act recognizes and vests the forest rights and occupation in Forest land in forest Dwelling Scheduled Tribes (FDST) and Other Traditional Forest Dwellers (OTFD) who have been residing in such forests for generations.
  2. The Act identifies three types of Rights: Title Rights, Use Rights and Relief and Development Rights.
  3. Under the Act, Forest Rights can also be claimed by any member or community who has for at least three generations (75 years) prior to the 13th day of December, 2005 primarily resided in forest land for bona fide livelihood needs.

Which of the statement(s) given above is/are correct? Choose the correct answer from the code given below:

A
1 and 2
B
2 and 3
C
1 and 3
D
1, 2 and 3

Chronicle English Books
सफलता के सूत्र
सामान्य प्रश्न ,ट्रिप्स और

सफलता के लिए आखिर सही रणनीति क्या होनी चाहिए?

आईएएस परीक्षा में यदि सफल होना है, तो पहली एवं सबसे प्राथमिक शर्त तो यही है कि आपको अपने बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिये अर्थात ‘अपनी क्षमता मूल्यांकन का सूक्ष्म परीक्षण’ (Diagnosing self assessment abilities)।’ जानकारी जुटाने से लेकर सफल होने तक के तीन चरण हैं। वस्तुतः ये चरण ठीक उसी तरह हैं जिस तरह एक डॉक्टर किसी मरीज के साथ करता है। ये चरण हैं-

1.             केस स्टडी

2.             निदान या डायग्नोसिस

3.             इलाज या ट्रीटमेंट।

केस स्टडी से तात्पर्य है कि आपको अपने बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिये। यह ‘खुद को जानों’ वाला चरण है। खुद को जानने से मतलब है ‘आत्मकथा’ लेखक की तरह अपनी सारी सच्चाइयाें को निष्पक्ष एवं बेबाकी से बयां कर देना और कुछ भी नहीं छिपाना। यह अपनी क्षमता का परीक्षण के समान है। तात्पर्य यह कि आपको अपनी सारी अच्छाइयों एवं कमजोरियों का ज्ञान एवं एहसास होना चाहिये। यहां अच्छाइयों एवं कमजोरियों का संबंध आईएएस परीक्षा के संदर्भ में हैं। इसके लिए खुद का अध्ययन या सूक्ष्म परीक्षण आवश्यक है। अपनी कमजोरियों या निर्बल पक्षों को जानना इतना आसान भी नहीं है। इसके लिए अपने बारे में सारी सूचनाएं संग्रह करनी होगी और सिविल सेवा परीक्षा की आवश्यकताओं से उसका तालमेल बिठाना होगा। यह तभी संभव है जब आप परीक्षा एवं उसके  प्रत्येक चरण की बारीकियों से आप सुपरिचित हों।

दूसरा चरण है डायग्नोसिस या निदान की। यही सबसे महत्वपूर्ण चरण है। डायग्नोसिस या निदान का मतलब होता है ‘समस्या को जानना’। चिकित्सा की भाषा में यह इसे ‘रोग की पहचान’ है और आईएएस परीक्षा की भाषा में ‘निर्बल पक्षों’ का पूरा ज्ञान। इस बिंदु तक पहुंचने में प्रथम चरण में जुटायी गयी सूचनाएं कार्य करती है। जब आप खुद का निष्पक्ष मूल्यांकन कर लेते हैं तब आपके पास आपका सारा खाका सामने होता है जिसके बल पर आप जान जाते हैं कि आपकी समस्या क्या है और आपको करना क्या है?

तीसर चरण है इलाज या ट्रीटमेंट की। एक बार समस्या या निर्बल पक्षों को जानने के पश्चात उसके समाधान की प्रक्रिया आरंभ होती है ठीक उसी प्रकार जिस प्रकार एक डॉक्टर किसी मरीज की बीमारी जानने के पश्चात उसका इलाज आरंभ करता है। जब आप सिविल सेवा परीक्षा की सारी प्रक्रियाओं एवं आवश्यकताओं से सुपरिचित हो जाते हैं तो आपका बल उन कमजोरियों को दूर करने की होती है या होनी चाहिये जिसे दूर किये बिना सिविल सेवा परीक्षा में सफल होना कठिन होता है।

अतएव उपर्युक्त तीनों प्रक्रिया का सार यही है कि परीक्षा में शामिल होने से पूर्व खुद की क्षमता का सूक्ष्म स्तर पर संपूर्ण निष्पक्ष मूल्यांकन जरूरी है। यह मूल्यांकन संभव है पर खुद से खुद का निष्पक्ष मूल्यांकन आसान भी नहीं है। आपको भीड़ से अलग करने में आपके गुरु/मार्गदर्शक की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। वे अंधकार मार्ग में प्रकाश दिखाने का कार्य करते हैं। जिस तरह कोई व्यक्ति अपने इलाज के लिए क्लिनिक में डॉक्टर के पास जाता है ठीक उसी प्रकार सिविल सेवा परीक्षा रूपी महासागर को सफलता पूर्वक तैरकर पार करने के लिए गुरू के मार्गदर्शन रूपी नैया की भी जरूरत होती है। उन्हें पूर्व में कई शिष्यों को महासागर पार कराने का अनुभव जो होता है। जाहिर है कि शिक्षक या मार्गदर्शक न केवल आपका सटीक आकलन करने में सफल होते हैं वरन् आपका मूल्यांकन कर कमजोर पक्षों को दूर करने का इलाज भी बताते हैं और उस प्रक्रिया में शामिल होते हैं। यदि आपने खुद की क्षमता का सटीक मूल्यांकन कर लिया तो फिर आईएएस परीक्षा में प्रथम प्रयास में ही सफल होना असंभव नहीं रह जाता। हिंदी माध्यम के छात्र यहीं गलती कर बैठते हैं। ‘क्रॉनिकल आईएएस अकेडमी’ आज उसी गुरु या सफल मार्गदर्शक की भूमिका में है, जहां आपकी गलती करने की संभावना को शून्य कर देता है।

Success Sutra
FAQ Tips & Tricks

Be Your Own Teacher

  • UPSC preparation is very long and tedious process, which is further made difficult by an ever expanding syllabus and lack of time on the part of the aspirants. Considering this, depending upon one teacher, guide, mentor or even a single coaching class material is not going to help you cross the line. You should transform yourself into your own teacher, who is able to develop questions as a student and answer them as well using reference materials and study materials. Adopting this dual-role approach to your preparation methodology will help gain confidence along with helping you with subjective studies. If you inculcate this habit for the long run, you will get into the mode of self-study to solve any question that arises in your mind about any topic.

Historica Academy
DIAS
Forum IAS

पत्रिकाएं

Main Title Here

समसामयिकी क्रॉनिकल फरवरी 2021

Product Type : Print Edition Shipment : 30
30
View
Main Title Here

Civil Services Chronicle February 2021

Product Type : Print Edition Shipment : Free
100
View
Main Title Here

सिविल सर्विसेज क्रॉनिकल जनवरी 2021

Product Type : Print Edition Shipment : Free
125
View
Main Title Here

Civil Services Chronicle January 2021

Product Type : Print Edition Shipment : Free
100
View
Main Title Here

समसामयिकी क्रॉनिकल जनवरी 2021

Product Type : Print Edition Shipment : 30
30
Out Of Stock View
Main Title Here

सिविल सर्विसेज क्रॉनिकल दिसंबर 2020

Product Type : Print Edition Shipment : Free
125
View
Main Title Here

Civil Services Chronicle December 2020

Product Type : Print Edition Shipment : Free
100
View
Main Title Here

समसामयिकी क्रॉनिकल दिसंबर 2020

Product Type : Print Edition Shipment : 30
30
View
Main Title Here

सिविल सर्विसेज क्रॉनिकल नवंबर 2020

Product Type : Print Edition Shipment : Free
125
View

पुस्तकें

Main Title Here

Explained Socio-Economic Development

Product Type : Hard Copy Shipment : Free
300
View
Main Title Here

क्रॉनिकल इयरबुक 2020

Product Type : Hard Copy Shipment : Free
215
Out Of Stock View
Main Title Here

Chronicle Year Book 2020

Product Type : Hard Copy Shipment : Free
300
Out Of Stock View
Main Title Here

भूगोल (प्रश्नोत्तर रूप में) 2020

Product Type : Hard Copy Shipment : Free
400
Out Of Stock View