बीमा समावेशन में वृद्धि हेतु इरडा के दिशानिर्देश

हाल ही में, भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (IRDAI) द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करते हुए बीमा समावेशन (Insurance Inclusion) को बढ़ाने के लिए महिला-केंद्रित, समर्पित वितरण चैनल- ‘बीमा वाहक’ पर दिशा-निर्देश जारी किए गए।

  • दिशानिर्देशों में कहा गया है कि 31 दिसंबर, 2024 तक प्रत्येक ग्राम पंचायत में बीमा वाहक तैनात किए जाएंगे।
  • साथ ही प्रमुख जीवन बीमाकर्ता (Life Insurer) 40% ग्राम पंचायतों को कवर करेगा, प्रमुख सामान्य बीमाकर्ता (General Insurer) अन्य 40% को कवर करेगा, और प्रमुख स्वास्थ्य बीमाकर्ता (Health Insurer) और अन्य बीमाकर्ता क्रमशः 5% और 15% को कवर करेंगे।
  • दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि:
    • प्रत्येक ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |
आर्थिक परिदृश्य