नाबार्ड तथा ICRIER द्वारा प्रकाशित शोधा रिपोर्ट

नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट (NABARD) तथा इंडियन काउंसिल फॉर रिसर्च ऑन इंटरनेशनल इकोनॉमिक रिलेशंस (ICRIER) द्वारा हाल ही में एक नई शोध रिपोर्ट प्रकाशित की गई।

  • इस रिपोर्ट का शीर्षक ‘2030 तक कृषि वस्तुओं के लिए भारत की मांग और आपूर्ति की संभावनाएं’ (Prospects of India's Demand and Supply for Agricultural Commodities towards 2030) है।

मुख्य बिंदु

  • रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत को अगले 7 वर्षों (2030-31 तक) में प्रमुख प्रोटीन स्रोतों, खाद्य तेलों और फलों के उत्पादन में निरंतर कमी का सामना करना पड़ेगा। इसलिए, तिलहन, दलहन एवं फलों के उत्पादन और उत्पादकता के ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |
आर्थिक परिदृश्य