भारत में FDI प्रवाह नवीन रुझान, चुनौतियां तथा आगे की राह

हाल ही में, उद्योग संवर्धन एवं आंतरिक व्यापार विभाग (DPIIT) द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार वित्त-वर्ष 2023-24 में भारत में 44.42 बिलियन डॉलर का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) प्राप्त हुआ था, यह वित्त-वर्ष 2022-23 में 46.03 बिलियन अमेरिकी डॉलर के निवेश से 3.49% अधिक कम है। किसी देश की कंपनी अथवा व्यक्ति द्वारा किसी अन्य देश के व्यावसायिक हितों में किया गया निवेश प्रत्यक्ष विदेशी निवेश कहलाता है । भारत में, उद्योग संवर्धन एवं आंतरिक व्यापार विभाग (DPIIT) प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) नीति तैयार करने के लिए नोडल विभाग है। FDI में वृद्धि से आर्थिक संवृद्धि प्रोत्साहित होती है, पिछले ....

क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |