तेनजिंग नोर्गे राष्ट्रीय साहसिक पुरस्कार

हाल ही में, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू द्वारा उत्तरकाशी जिले की पर्वतारोही सविता कंसवाल को पर्वतारोहण के क्षेत्र में असाधारण उपलब्धियों के लिए मरणोपरांत तेनजिंग नोर्गे राष्ट्रीय साहसिक पुरस्कार प्रदान किया गया।

  • सविता कंसवाल ने 16 दिनों की आश्चर्यजनक अवधि के भीतर माउंट एवरेस्ट (8,848 मीटर) और माउंट मकालू (8,485 मीटर) दोनों को फतह करने वाली पहली भारतीय महिला पर्वतारोही बनी थीं।
  • उनका अंतिम पर्वतारोहण अभियान डांडा चोटी पर चढ़ने का प्रयास था, जिसे नेहरू पर्वतारोहण संस्थान द्वारा भेजा गया था। 4 अक्टूबर, 2022 को डांडा चोटी पर चढ़ने का प्रयास करते समय, सविता हिमस्खलन की चपेट में आ गईं ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |