कृषि भूमि से 6 मिलियन पेड़ गायब हूए

हाल ही में, डेनमार्क के कोपेनहेगन विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं द्वारा उपग्रह-इमेजरी आधारित विश्लेषण में पाया गया है कि 2019 से 2022 की अवधि के दौरान भारत ने भारत ने कृषि भूमि पर लगभग 5.8 मिलियन पूर्ण विकसित वृक्ष (full-grown trees) खो दिए हैं।

  • यह विश्लेषण भारतीय कृषि भूमि पर केंद्रित है और अलग-अलग प्रजाति के बड़े वृक्षों पर नज़र रखता है। 2010-2011 के दौरान उपग्रह के माध्यम देखे गए कुल पेड़ों में से 11% पेड़ 2018 से 2022 की अवधि में दिखाई नहीं दिए। इससे शोधकर्ताओं ने निष्कर्ष निकाला कि ये पेड़ “गायब हो गए” (disappeared) हैं।
  • भारत का लगभग 56% हिस्सा ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |