भारतीय रेलवे पर IEEFA की विश्लेषण रिपोर्ट

  • हाल ही में, ऊर्जा अर्थशास्त्र और वित्तीय विश्लेषण संस्थान (IEEFA) द्वारा जारी एक रिपोर्ट के अनुसार, आने वाले वर्षों में रेल द्वारा अतिरिक्त 400 मिलियन टन कोयले के परिवहन की भारतीय रेलवे की महत्वाकांक्षी योजना आवश्यक नेटवर्क उन्नयन करने और बढ़ती माल ढुलाई एवं यात्री मांगों को पूरा करने की क्षमता पर काफी प्रभाव डाल सकती है।
  • IEEFA के विश्लेषण में पाया गया कि भारतीय रेलवे पहले से ही अधिक नेटवर्क भार का अनुभव कर रही है।
  • इस रिपोर्ट में यह भी उल्लेख किया गया है कि कोयला आपूर्ति संकट के दौरान, कोयले की आवाजाही को प्राथमिकता देने ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |

PSC न्यूज बुलेट्स