शिक्षा ऋण में रिकॉर्ड वृद्धि

  • भारतीय रिजर्व बैंक के अनुसार चालू वित्त वर्ष (2023-24) में अक्टूबर तक शिक्षा ऋण में साल-दर-साल 20-6 प्रतिशत की रिकॉर्ड वृद्धि दर्ज की गई। इस वित्त वर्ष में शिक्षा ऋण का मूल्य 1,10,715 करोड़ रुपये था, जबकि एक साल पहले की अवधि में यह 96,853 करोड़ रुपए था।
  • RBI के आंकड़ों के अनुसार शिक्षा ऋण में देखा गया यह उछाल पिछले पांच वर्षों में सबसे अधिक था।
  • भारतीय स्टेट बैंक के वरिष्ठ अर्थशास्त्री बिबेकानंदे पांडा के अनुसार भारत के साथ-साथ विदेशों में ऑफलाइन कैंपस पाठ्यक्रमों का कम आधार और पुनरुद्धार (Low base and revival of offline campus courses) ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |

PSC न्यूज बुलेट्स