आईएनएस संधायक (यार्ड 3025) भारतीय नौसेना में शामिल

  • 3 फरवरी, 2024 को नौसेना डॉकयार्ड, विशाखापत्तनम में आईएनएस संधायक (यार्ड 3025) को भारतीय नौसेना में शामिल किया गया। यह देश का पहला और सबसे बड़ा सर्वे पोत है।
  • जहाज का प्राथमिक उद्देश्य सुरक्षित समुद्री नौवहन को सक्षम करने की दिशा में बंदरगाहों, नौवहन चैनलों/मार्गों, तटीय क्षेत्रों और गहरे समुद्रों का पूर्ण पैमाने पर जलमाप चित्रण संबंधी जलीय सर्वेक्षण करना है।
  • भारतीय नौसेना के अनुसार, कोलकाता के मैसर्स गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स में 4 बड़े सर्वेक्षण पोत निर्माणाधीन हैं। आइएनएस संधायक उनमें प्रथम ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |

PSC न्यूज बुलेट्स