धन शोधन निवारण अधिनियम (PMLA) और इसकी प्रासंगिकता

धन शोधन या मनी लॉन्ड्रिंग (Money Laundering) से तात्पर्य गलत या अवैध रूप से अर्जित आय को वैध रूप से अर्जित आय के रूप में दर्शाना है।

  • इसमें वैसे धन का रूपांतरण होता है जो गैरकानूनी स्रोतों और विधियों द्वारा अवैध रूप से प्राप्त किया गया है।
  • वैश्विक स्तर पर इसे एक जघन्य अपराध माना जाता है जो न केवल देश के सामाजिक और आर्थिक ताने-बाने को प्रभावित करता है, बल्कि आतंकवाद और मादक पदार्थों की तस्करी जैसे अन्य गंभीर अपराधों को भी बढ़ावा देता है।
  • भारत सरकार ने इस समस्या के समाधान के लिए धन शोधन निवारण अधिनियम (Prevention Of ....

क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |

मुख्य विशेष