आतंकी ड्रोन : भारत के लिए सुरक्षा चुनौतियां

आतंकी ड्रोन (Terror Drone) मानव रहित हवाई वाहन (Unmanned Aerial Vehicles - UAV) हैं, जिनका उपयोग एक देश या समूह द्वारा अपने विरोधी पड़ोसी देशों या संगठनों के विरुद्ध किया जाता है।

  • मानव रहित हवाई वाहन या ड्रोन जैसी नई तकनीक के उद्भव ने हमारे देश की सुरक्षा एजेंसियों के लिए सीमाओं का प्रबंधन और आंतरिक सुरक्षा को और भी चुनौतीपूर्ण बना दिया है।

भारत की सुरक्षा चुनौतियां

  • गोल्डन क्रिसेंट और गोल्डन ट्राइएंगल से निकटता: कुख्यात गोल्डन क्रिसेंट और गोल्डन ट्राइएंगल से भारत की निकटता इसे असुरक्षित बनाती है। आतंकवादियों एवं आपराधिक संगठनों द्वारा ड्रोन का प्रयोग भारत में विभिन्न ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |

मुख्य विशेष