दक्षिण चीन सागर: भारत की सामरिक और आर्थिक प्राथमिकताएँ

दक्षिण चीन सागर एशिया के दक्षिण-पूर्वी हिस्से में स्थित एक महत्वपूर्ण समुद्री क्षेत्र है, जो सामरिक, आर्थिक और राजनीतिक दृष्टिकोण से अत्यंत महत्वपूर्ण है। यह समुद्र पश्चिम में वियतनाम, उत्तर में चीन, पूर्व में फिलीपींस, और दक्षिण में मलेशिया और ब्रुनेई से घिरा हुआ है।

  • दक्षिण चीन सागर से महत्वपूर्ण समुद्री व्यापार मार्ग गुजरते है। इस क्षेत्र में तेल, प्राकृतिक गैस, और मत्स्य संसाधनों की प्रचुरता है, जिससे संबंधित देशों के बीच अधिकारों को लेकर विवाद चल रहे हैं।
  • स्प्रैटली और पारासेल द्वीपसमूह जैसे विवादित क्षेत्रों पर चीन, वियतनाम, फिलीपींस, मलेशिया, और ब्रुनेई अपने-अपने दावे पेश करते हैं।
    • चीन इस क्षेत्र के ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |

मुख्य विशेष