बहरीन:

यह 15 अगस्त, 1971 को स्वाधीन हुआ था। यह अरब प्रायद्वीप का एक प्रधान राज्य है, जिसमें 33 छोटे-छोटे द्वीप शामिल हैं। इनमें बहरीन द्वीप सबसे बड़ा है। फरवरी 2001 में जनमत के बाद पहली बार अरब जगत के किसी देश में महिलाओं को वोट डालने का अधिकार दिया गया। इसके साथ ही वहां पर प्रजातंत्र की स्थापना हुई।

राजधानीः मनामा_ शासन प्रणालीः संवैधानिक राजतंत्र_ क्षेत्रफलः 760 वर्ग किमी-_ सरकारी भाषाः अरबी_ धर्मः इस्लाम_ मुद्राः बहरीन दीनार_ घनत्वः 1814-35 व्यक्ति/ वर्ग किमी-_ प्रति व्यक्ति जी-डी-पी- (पी-पी-पी-)ः $51,700_ कुल जनसंख्या 1,410,942_ नगरीय जनसंख्याः 88-9»_ जनसंख्या वृद्धि दरः 2-26» जीवन प्रत्याशा (वर्षों में)ः 79_ कृषि योग्य भूमिः 2-1 प्रतिशत_ उद्योगः पेट्रोलियम प्रसंस्करण आयातः कच्चा तेल, मशीनरी रसायन_ निर्यातः पेट्रोलियम, एल्युमीनियम_ राष्ट्रीय दिवसः 16 दिसंबर।

1- बहरीन अपने स्वर्ण एवं ‘स्वर्ण सौक’ के लिए प्रसिद्ध है।

2- ‘सौक’ यहां के पारंपरिक बाजार को कहते हैं।

3- यूनेस्को की विश्व विरासत सूची में बहरीन के दो स्थल ‘क्वालाट अल-बहरीन-प्राचीन बंदरगाह व ढि़लमुन की राजधानी’ और ‘मोती निर्माण-एक द्वीपीय अर्थव्यवस्था का प्रमाण’ शामिल हैं।

5- वर्ष 1971 में बहरीन स्वतंत्र हुआ और वहाँ संवैधानिक राजतंत्र की स्थापना हुई, जिसका प्रमुऽ अमीर होता है।

6- 1975 में यहाँ नेशनल असेंबली भंग हुई, जो अब तक बहाल नहीं हो पाई है।

7- कुवैत पर इराक के आक्रमण (1990) के बाद बहरीन संयुत्तफ़ राष्ट्रसंघ का सदस्य बना।


Download as PDF