Vision IAS
Current Affairs
Jallikattu: India’s Official Entry For Oscars 2021

Malayalam film Jallikattu, directed by Lijo Jose Pellissery, has been selected as India’s official entry for the ‘Best International Feature Film’ category for the 93rd Academy Awards to be held ...

Draft Merchant Shipping Bill, 2020

The Ministry of Ports, Shipping and Waterways has issued a draft of the Merchant Shipping Bill, 2020 for public consultation.It aims to repeal and replace the Merchant Shipping Act, 1958 ...

2020 Afghanistan Conference & Indian Initiative

Indian Foreign Minister S. Jaishankar, joined the two-day event, 2020 Afghanistan Conference, organized in Geneva, via video link.The conference was co-hosted by the UN, the Afghanistan government, and the government ...

Pilibhit Tiger Reserve:First Among 13 Tiger Range Countries To Get TX2Award

The Pilibhit Tiger Reserve (PTR) and the Uttar Pradesh Forest department have bagged the first-ever international award, TX2, for doubling the number of tigers in four years against a target ...

Chang’e-5 Mission: China’s First Mission To Return Moon Samples

China has launched Chang’e-5 probe - its first mission to return moon samples.China’s Chang’e-5 probe is named after the Chinese Moon goddess who is traditionally accompanied by a white or ...

National Fisheries Awards

The Department of Fisheries under the Ministry of Fisheries, Animal Husbandry and Dairying awarded best performing States, Organisations and Districts for 2019-20 for the first time on the occasion of ...

Tripura Govt. Launched “Mukhyamantri Unnoato Godhan Prakalp”

The Government of Tripura has launched a 3-year plan to introduce sex-sorted artificial insemination of cattle under the Mukhyamantri Unnoto Godhan Prakalpa(MUGP) scheme.It is aimed at making Tripura self-sufficient in ...

सामयिक खबरे*
एनआईआईएफ ऋण प्‍लेटफार्म

केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने 25 नवंबर, 2020 को नेशनल इनवेस्टमेंट एण्ड इंफ्रास्ट्रक्चर फंड-एनआईआईएफ (NIIF) द्वारा प्रायोजित ‘एनआईआईएफ ऋण प्लेटफार्म’ (NIIF Debt Platform) में 6000 करोड़ रुपये के पूंजी निवेश की मंजूरी ...

भारत के लिए सतत विकास लक्ष्य निवेशक मानचित्र

संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) और 'इन्वेस्ट इंडिया' ने 26 नवंबर, 2020 को 'भारत के लिए सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) निवेशक मानचित्र' (SDGs Investor Map for India) का शुभारंभ किया।महत्वपूर्ण ...

संयुक्त अरब अमीरात ‘गोल्डन’ वीजा प्रणाली

संयुक्त अरब अमीरात (United Arab Emirates– UAE) ने 15 नवंबर, 2020 को पेशेवरों, विशिष्ट डिग्री धारकों और अन्य लोगों के लिए अपनी ‘गोल्डन’ वीजा प्रणाली का विस्तार करने की घोषणा ...

संविधान दिवस पर ई-संकलन का अनावरण

केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने 26 नवंबर, 2020 को संविधान दिवस के अवसर पर संविधान, मौलिक अधिकारों और मौलिक कर्तव्यों से संबंधित लेखों के ई-संकलन का ...

उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश-2020

24 नवंबर, 2020 को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में ‘उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश-2020’ को मंजूरी दी गई। शादी करने ...

रोलैक्स पेरिस मास्टर्स 2020

रूस के डेनिल मेडवेडेव ने 8 नवंबर, 2020 को जर्मनी के अलेक्जेंडर ज्वेरेव को ‘रोलैक्स पेरिस मास्टर्स 2020’ के फाइनल में 5-7, 6-4, 6-1 से हराकर अपना आठवां एटीपी खिताब ...

एटीपी फाइनल्स

रूस के डेनिल मेडवेडेव ने 22 नवंबर, 2020 को लंदन में खेले गए फाइनल में अमेरिकी ओपन विजेता ऑस्ट्रिया के डॉमिनिक थीम को हराकर एटीपी फाइनल्स का एकल खिताब अपने ...

Sanskriti IAS
Current Questions

Consider the following statements with reference to the Forest Rights Act, 2006:

  1. The Act recognizes and vests the forest rights and occupation in Forest land in forest Dwelling Scheduled Tribes (FDST) and Other Traditional Forest Dwellers (OTFD) who have been residing in such forests for generations.
  2. The Act identifies four types of Rights: Title Rights, Use Rights and Relief and Development Rights.
  3. Under the Act, Forest Rights can also be claimed by any member or community who has for at least three generations (75 years) prior to the 13th day of December, 2005 primarily resided in forest land for bona fide livelihood needs.

Which of the statement (s) given above is/are correct? Choose the correct answer from the code given below:

A
1 and 2
B
2 and 3
C
1 and 3
D
1, 2 and 3

सामयिक प्रश्न

डगलस स्टूर्ट को उनके पहले ही उपन्यास शग्गी बैन(Shuggie Bain) के लिए बुकर पुरस्कार 2020 दिया गया है। बुकर पुरस्कार की शुरूआत कब हुई थी?

A
1969
B
1970
C
1971
D
1972

Chronicle English Books
Success Sutra
FAQ Tips & Tricks

Be Your Own Teacher

  • UPSC preparation is very long and tedious process, which is further made difficult by an ever expanding syllabus and lack of time on the part of the aspirants. Considering this, depending upon one teacher, guide, mentor or even a single coaching class material is not going to help you cross the line. You should transform yourself into your own teacher, who is able to develop questions as a student and answer them as well using reference materials and study materials. Adopting this dual-role approach to your preparation methodology will help gain confidence along with helping you with subjective studies. If you inculcate this habit for the long run, you will get into the mode of self-study to solve any question that arises in your mind about any topic.

सफलता के सूत्र
सामान्य प्रश्न ,ट्रिप्स और

सफलता के लिए आखिर सही रणनीति क्या होनी चाहिए?

आईएएस परीक्षा में यदि सफल होना है, तो पहली एवं सबसे प्राथमिक शर्त तो यही है कि आपको अपने बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिये अर्थात ‘अपनी क्षमता मूल्यांकन का सूक्ष्म परीक्षण’ (Diagnosing self assessment abilities)।’ जानकारी जुटाने से लेकर सफल होने तक के तीन चरण हैं। वस्तुतः ये चरण ठीक उसी तरह हैं जिस तरह एक डॉक्टर किसी मरीज के साथ करता है। ये चरण हैं-

1.             केस स्टडी

2.             निदान या डायग्नोसिस

3.             इलाज या ट्रीटमेंट।

केस स्टडी से तात्पर्य है कि आपको अपने बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिये। यह ‘खुद को जानों’ वाला चरण है। खुद को जानने से मतलब है ‘आत्मकथा’ लेखक की तरह अपनी सारी सच्चाइयाें को निष्पक्ष एवं बेबाकी से बयां कर देना और कुछ भी नहीं छिपाना। यह अपनी क्षमता का परीक्षण के समान है। तात्पर्य यह कि आपको अपनी सारी अच्छाइयों एवं कमजोरियों का ज्ञान एवं एहसास होना चाहिये। यहां अच्छाइयों एवं कमजोरियों का संबंध आईएएस परीक्षा के संदर्भ में हैं। इसके लिए खुद का अध्ययन या सूक्ष्म परीक्षण आवश्यक है। अपनी कमजोरियों या निर्बल पक्षों को जानना इतना आसान भी नहीं है। इसके लिए अपने बारे में सारी सूचनाएं संग्रह करनी होगी और सिविल सेवा परीक्षा की आवश्यकताओं से उसका तालमेल बिठाना होगा। यह तभी संभव है जब आप परीक्षा एवं उसके  प्रत्येक चरण की बारीकियों से आप सुपरिचित हों।

दूसरा चरण है डायग्नोसिस या निदान की। यही सबसे महत्वपूर्ण चरण है। डायग्नोसिस या निदान का मतलब होता है ‘समस्या को जानना’। चिकित्सा की भाषा में यह इसे ‘रोग की पहचान’ है और आईएएस परीक्षा की भाषा में ‘निर्बल पक्षों’ का पूरा ज्ञान। इस बिंदु तक पहुंचने में प्रथम चरण में जुटायी गयी सूचनाएं कार्य करती है। जब आप खुद का निष्पक्ष मूल्यांकन कर लेते हैं तब आपके पास आपका सारा खाका सामने होता है जिसके बल पर आप जान जाते हैं कि आपकी समस्या क्या है और आपको करना क्या है?

तीसर चरण है इलाज या ट्रीटमेंट की। एक बार समस्या या निर्बल पक्षों को जानने के पश्चात उसके समाधान की प्रक्रिया आरंभ होती है ठीक उसी प्रकार जिस प्रकार एक डॉक्टर किसी मरीज की बीमारी जानने के पश्चात उसका इलाज आरंभ करता है। जब आप सिविल सेवा परीक्षा की सारी प्रक्रियाओं एवं आवश्यकताओं से सुपरिचित हो जाते हैं तो आपका बल उन कमजोरियों को दूर करने की होती है या होनी चाहिये जिसे दूर किये बिना सिविल सेवा परीक्षा में सफल होना कठिन होता है।

अतएव उपर्युक्त तीनों प्रक्रिया का सार यही है कि परीक्षा में शामिल होने से पूर्व खुद की क्षमता का सूक्ष्म स्तर पर संपूर्ण निष्पक्ष मूल्यांकन जरूरी है। यह मूल्यांकन संभव है पर खुद से खुद का निष्पक्ष मूल्यांकन आसान भी नहीं है। आपको भीड़ से अलग करने में आपके गुरु/मार्गदर्शक की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। वे अंधकार मार्ग में प्रकाश दिखाने का कार्य करते हैं। जिस तरह कोई व्यक्ति अपने इलाज के लिए क्लिनिक में डॉक्टर के पास जाता है ठीक उसी प्रकार सिविल सेवा परीक्षा रूपी महासागर को सफलता पूर्वक तैरकर पार करने के लिए गुरू के मार्गदर्शन रूपी नैया की भी जरूरत होती है। उन्हें पूर्व में कई शिष्यों को महासागर पार कराने का अनुभव जो होता है। जाहिर है कि शिक्षक या मार्गदर्शक न केवल आपका सटीक आकलन करने में सफल होते हैं वरन् आपका मूल्यांकन कर कमजोर पक्षों को दूर करने का इलाज भी बताते हैं और उस प्रक्रिया में शामिल होते हैं। यदि आपने खुद की क्षमता का सटीक मूल्यांकन कर लिया तो फिर आईएएस परीक्षा में प्रथम प्रयास में ही सफल होना असंभव नहीं रह जाता। हिंदी माध्यम के छात्र यहीं गलती कर बैठते हैं। ‘क्रॉनिकल आईएएस अकेडमी’ आज उसी गुरु या सफल मार्गदर्शक की भूमिका में है, जहां आपकी गलती करने की संभावना को शून्य कर देता है।

Chronicle Hindi Books
 Civil Services Chronicle English Special
Forum IAS

Magazine

Main Title Here

सिविल सर्विसेज क्रॉनिकल दिसंबर 2020

Product Type : Print Edition Shipment : Free
125
View
Main Title Here

Civil Services Chronicle December 2020

Product Type : Print Edition Shipment : Free
100
View
Main Title Here

समसामयिकी क्रॉनिकल दिसंबर 2020

Product Type : Print Edition Shipment : 30
30
View
Main Title Here

सिविल सर्विसेज क्रॉनिकल नवंबर 2020

Product Type : Print Edition Shipment : Free
125
View
Main Title Here

Civil Services Chronicle November 2020

Product Type : Print Edition Shipment : Free
100
Out Of Stock View
Main Title Here

समसामयिकी क्रॉनिकल नवंबर 2020

Product Type : Print Edition Shipment : 30
30
View
Main Title Here

Civil Services Chronicle October 2020

Product Type : Print Edition Shipment : Free
100
View

Books

Main Title Here

क्रॉनिकल इयरबुक 2020

Product Type : Hard Copy Shipment : Free
215
View
Main Title Here

Chronicle Year Book 2020

Product Type : Hard Copy Shipment : Free
300
View
Main Title Here

भूगोल (प्रश्नोत्तर रूप में) 2020

Product Type : Hard Copy Shipment : Free
400
View