सार्वजनिक भारतीय कंपनियों की डायरेक्ट लिस्टिंग

  • हाल ही में, केंद्र सरकार ने GIFT-इंटरनेशनल फाइनेंशियल सर्विसेज सेंटर (GIFT-IFSC) एक्सचेंज में भारतीय सार्वजनिक कंपनियों की प्रतिभूतियों की डायरेक्ट लिस्टिंग की अनुमति दी है।
  • इसके एक तरफ जहां कॉर्पोरेट मंत्रालय ने कंपनी (अनुमेय क्षेत्रधिकार में इक्विटी शेयरों की सूची) नियम, 2024 जारी किए गए हैं, तो वहीं दूसरी तरफ वित्त मंत्रालय के आर्थिक प्रभाग ने विदेशी मुद्रा प्रबंधन (गैर-ऋण लिखित) नियम, 2019 में संशोधन किया है।
  • डायरेक्ट लिस्टिंग से भारतीय कंपनियों को कम लागत पर विदेशी पूंजी एकत्र करने में आसानी होगी तथा भारत में विदेशी निवेश को बढ़ावा ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |

PSC न्यूज बुलेट्स