मॉस्किटोफिश

  • हाल ही में, आंध्र प्रदेश, ओडिशा और पंजाब ने मच्छरों की समस्या से निपटने के लिए स्थानीय जल निकायों में मॉस्किटोफिश (Mosquitofish) छोड़ी है।
  • मॉस्किटोफिश मच्छरों का जैविक नियंत्रण करने का एक प्रमुख तरीका बन गया है। मीठे पानी के पारिस्थितिक तंत्र में मच्छरों के लार्वा को खाने के लिए मॉस्किटोफिश को छोड़ा जाता है।
  • यह कीटनाशकों जैसे रासायनिक पदार्थों का एक प्रमुऽ विकल्प है, जिसका मानव स्वास्थ्य और पारिस्थितिक तंत्र दोनों पर गंभीर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है।
  • गम्बूसिया एफिनिस (Gambusia affinis) और गम्बूसिया होलब्रूकी (Gambusia holbrooki) मॉस्किटोफिश की दो प्रजातियां ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |

PSC न्यूज बुलेट्स