अफ़गानिस्तान:

प्राचीन काल में इसका नाम एरियाना व मध्यकाल में खुरासान रखा गया। अहमदशाह दुर्रानी ने 1747 ई- में पृथक अफगानिस्तान राज्य की स्थापना की। 19वीं सदी में नव साम्राज्यवाद के क्षेत्रीय प्रभाव के कारण अफगानिस्तान, रूस तथा ब्रिटिश भारत के बीच अन्तस्थ (बफर) राज्य बन गया। 1919 ई- में ब्रिटिश सैनिकों के विरुद्ध विद्रोह के पश्चात् अफगानिस्तान स्वतंत्र राज्य बना। 1973 में एक विद्रोह के बाद राजतंत्र की समाप्ति हुई लेकिन अंतर्कलह का दौर चलता रहा। विभिन्न गुरिल्ला समूहों तथा सोवियत समर्थित राष्ट्रपति नजीबुल्ला के बीच हुए समझौते के बाद नजीबुल्ला ने मुजाहिदीन नेतृत्व परिषद को सत्ता सौंप दी।

11 सितंबर, 2001 को अमेरिका के वर्ल्ड टेªड सेंटर व पेंटागन पर हमला करने के बाद अमेरिका व सहयोगी देशों ने अफगानिस्तान पर ‘ऑपरेशन एंड्योरिंग फ्रीडम’ चलाया। परिणामतः नवंबर 2001 में तालिबान का सफाया हो गया। अफगानिस्तान की संसद द्विसदनीय है। इसे नेशनल एसेंबली कहते हैं। 2015 में भारतीय प्रधानमंत्री ने अपनी अफगानिस्तान यात्र के दौरान वहां की संसद की नई इमारत का उद्घाटन किया। यह इमारत काबुल में स्थित है जो भारत द्वारा बनायी गयी है। वर्तमान में अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गानी हैं।

राजधानीः काबुल_ शासन प्रणालीः लोकतांत्रिक_ क्षेत्रफलः 652,230 वर्ग कि-मी-_ सरकारी भाषाः पश्तो, दारी_ धर्मः इस्लाम (सुन्नी)_ मुद्राः अफगानी_ जनसंख्याः 34,124,811 (वृद्धि दर)ः 2-36 प्रतिशत_ घनत्वः 51-10 (जुलाई 2016) व्यक्ति/वर्ग किमी-_ प्रति व्यक्ति जी-डी-पी- (पी-पी-पी-)ः $ 2000य जीवन प्रत्याशाः 51-7 वर्ष_ प्रजातियांः पश्तून, ताजिक, हजारा_ कृषि योग्य भूमिः 20-5 प्रतिशत_ कृषि उत्पादः अफीम, फल, मूंगफली, ऊन_ उद्योगः सूतीवस्त्र, साबुन, जूता, फर्नीचर_ आयातः पूंजीगत उत्पाद, उपभोक्ता उत्पाद_ निर्यातः अफीम, मूंगफली, कालीन, ऊन_ राष्ट्रीय दिवसः 19 अगस्त।

1- अफगानिस्तान इस्लामिक गणराज्य दक्षिणी मध्य एशिया में अवस्थित देश है। यह स्थलरुद्ध है।

2- अफगानिस्तान रेशम मार्ग और मानव प्रवास का एक प्राचीन केन्द्र बिन्दु रहा है

3- वैश्विक आतंकवाद सूचकांक, 2017 में आतंकवाद के मामले में अफगानिस्तान इराक के पश्चात दूसरे स्थान पर है।

6- यह विश्व के 90» से अधिक अफीम की आपूर्ति करता है।

7- अफगानिस्तान के ‘जाम की मिनार और पुरातात्विक अवशेषों’ तथा ‘बामियान घाटी की सांस्कृतिक भूदृश्य और पुरातात्विक अवशेषों’ को यूनेस्को के विश्व विरासत सूची में शामिल किया गया है। अप्रैल 2007 में अफगानिस्तान सार्क का सदस्य देश बना।


Download as PDF