CISCE ने डिजीलॉकर के माध्यम से प्रमाण-पत्र उपलब्ध कराए

  • काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (CISCE) ने डिजीलॉकर के माध्यम से वास्तविक समय में ICSE (कक्षा 10वीं) और ISC (कक्षा 12वीं) के प्रमाण-पत्र और मार्कशीट उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है।
  • डिजिलॉकर प्लेटफार्म को वर्ष 2015 में लॉन्च किया गया था। यह इलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की एक प्रमुख पहल है।
  • यह डिजिटल तरीके से दस्तावेजों और प्रमाण-पत्रों को जारी रखने व सत्यापित करने के लिए एक सुरक्षित क्लाउड आधारित प्लेटफार्म है।
  • ये डिजिटल दस्तावेज भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम, 2000 के तहत कानूनी रूप से वैध दस्तावेज हैं।
  • IT नियम 2016 के अनुसार इन दस्तावेजों को मूल दस्तावेजों के ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |

करेंट अफेयर्स न्यूज़