संत लालन शाह फकीर

  • 20 से 22 मई, 2024 के मध्य सूफी संत और मानवतावादी कवि फकीर लालन शाह की 250वीं जयंती मनाने के लिए बांग्लादेश के शेरपुर में 3 दिवसीय ‘इंडो-बांग्ला संगीत समारोह’ (Indo-Bangla Music Festival) आयोजित किया गया।
  • यह समारोह लालन बिस्वसंघ (Lalon Biswasangha), भारतीय उच्चायोग एवं बांग्लादेश के सांस्कृतिक मामलों के मंत्रालय के सहयोग से आयोजित किया गया।
  • फकीर लालन शाह का जन्म 1774 में आधुनिक बांग्लादेश के जेनाइदाह जिले के होरीशपुर में हुआ था।
  • वे भारतीय उपमहाद्वीप के एक प्रमुख बंगाली दार्शनिक, संत, रहस्यवादी संगीतकार, समाज सुधारक और विचारक थे।
  • उन्हें बाउल संगीत (Baul music) का जनक माना जाता है। 2008 में बाउल ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |

करेंट अफेयर्स न्यूज़