​IREDA को नवरत्न का दर्जा

  • हाल ही में, भारत में नवीकरणीय परियोजनाओं के लिए वित्तपोषण एजेंसी 'भारतीय नवीकरणीय ऊर्जा विकास एजेंसी' (IREDA) को सार्वजनिक उद्यम विभाग (वित्त मंत्रालय) द्वारा 'नवरत्न’ के दर्जे से सम्मानित किया गया है।
  • IREDA नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण में है। इसकी स्थापना 1987 में एक गैर-बैंकिंग वित्तीय संस्थान के रूप में की गई थी।
  • किसी एजेंसी को 'नवरत्न’ दर्जा प्रदान किए जाने का अर्थ है कि अब वह एजेंसी अधिक स्वायत्त है और निवेश एवं कुशल प्रतिभा को आकर्षित करने के लिए त्वरित निर्णय लेने में सक्षम होगी। ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |

करेंट अफेयर्स न्यूज़