हरित प्रौद्योगिकियाँ और सतत कृषि

जैविक खेती एक कृषि पद्धति है जो लोगों, पारिस्थितिकी तंत्र और मृदा के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए प्राकृतिक उर्वरकों एवं पारिस्थितिक प्रक्रियाओं का उपयोग करती है। इसे पारिस्थितिक या जैविक खेती के रूप में भी जाना जाता है।

  • कृषि-वानिकी एक भूमि प्रबंधन प्रणाली है, जिसमें पेड़ों एवं झाड़ियों को फसल एवं पशुपालन प्रणालियों के साथ एकीकृत करके फसल उत्पादन एवं पर्यावरण संरक्षण को महत्व दिया जाता है।
  • एकीकृत कीट प्रबंधन (IPM) कीटों के प्रबंधन के लिए एक विज्ञान-आधारित, पर्यावरण-अनुकूल दृष्टिकोण है जो जैविक, सांस्कृतिक और रासायनिक प्रणालियों को एक साथ लाता है।
  • बायोगैस एक नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत है, इसका ....

क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |

पत्रिका सार