स्वच्छ ऊर्जा उत्पादन में हरित प्रौद्योगिकियों की भूमिका

अंतरराष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी (IEA) की 'इलेक्ट्रिसिटी 2024' रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2026 तक वैश्विक स्तर पर बिजली की मांग में औसतन 3.4% की वृद्धि होने का अनुमान है।

  • रिपोर्ट के अनुसार, बिजली की मांग में होने वाली इस वैश्विक वृद्धि में लगभग 85% हिस्सा भारत, चीन और दक्षिण-पूर्वी एशियाई देशों का होगा।
  • रिपोर्ट में बताया गया है कि बिजली उत्पादन में नवीकरणीय और स्वच्छ ऊर्जा की हिस्सेदारी 2023 में 40% रही है।
  • जलवायु परिवर्तन के नकारात्मक प्रभावों से बचने के लिए ग्रीनहाउस उत्सर्जन को 2030 तक लगभग आधा करने और 2050 तक शुद्ध शून्य उत्सर्जन तक पहुंचाने की आवश्यकता है। ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |

पत्रिका सार