सिविल सर्विसेज मेन्स परीक्षा 2021 हिंदी साहित्य पेपर I


खण्ड-A


1. निम्नलिखित प्रत्येक पर लगभग 150 शब्दों में टिप्पणियां लिखिएः 10×5 = 50

(a) अवहट्ठ की व्याकरणिक संरचना का स्वरूप 10

(b) देवनागरी लिपि के प्रमुख गुण 10

(c) रहीम की काव्य-भाषा का महत्व 10

(d) दक्खिनी हिन्दी का स्वरूप 10

(e) स्वातंत्र्योत्तर भारत में हिन्दी की स्थिति 10


2. (a) पूर्वी हिन्दी की प्रमुख बोलियों का संक्षिप्त परिचय दीजिए। 20

(b) उन्नीसवीं शताब्दी में खड़ीबोली के विकास पर प्रकाश डालिए। 15

(c) हिन्दी में पारिभाषिक शब्दावली निर्माण में आने वाली कठिनाइयों का परिचय दीजिए। 15


3. (a) साहित्यिक भाषा के रूप में अवधी के महत्व का आकलन कीजिए। 20

(b) ब्रजभाषा की व्याकरणिक विशेषताओं का निरुपण कीजिए। 15

(c) हिन्दी और उसकी बोलियों के अंतर्संबंध का विवेचन कीजिए। 15


4. (a) नागरी लिपि के सुधार हेतु किए गए प्रयासों का विवेचन कीजिए। 20

(b) ‘‘हिन्दुस्तानी एक कृत्रिम भाषा थी” - इस कथन की तर्कपूर्ण व्याख्या कीजिए। 15

(c) मानक हिन्दी की व्याकरणिक संरचना को स्पष्ट कीजिए। 15


खण्ड-B


5. निम्नलिखित प्रत्येक पर लगभग 150 शब्दों में टिप्पणियां लिखिएः 10×5 = 50

(a) रामचन्द्र शुक्ल के साहित्येतिहास लेखन की प्रमुख विशेषताएं 10

(b) कबीर की प्रासंगिकता 10

(c) बिहारी का काव्य-वैभव 10

(d) प्रेमचन्द्र की कहानियों में चित्रित ‘आदर्शोन्मुख यथार्थवाद’ 10

(e) ‘रेणु’की कथा-भाषा 10


6. (a) रीतिबद्ध काव्यधारा में केशवदास के कवि-कर्म का मूल्यांकन कीजिए। 20

(b) मुक्तिबोध की काव्य-संवेदना की प्रमुख विशेषताएं स्पष्ट कीजिए। 15

(c) हिन्दी उपन्यास के विकास में यशपाल के योगदान पर विचार कीजिए। 15


7. (a) मोहन राकेश की नाट्य-कला और मंच-सज्जा पर प्रकाश डालिए। 20

(b) रामविलास शर्मा के आलोचना-कर्म के महत्व पर प्रकाश डालिए। 15

(c) संस्मरण साहित्य के विकास पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए। 15


8. (a) हिन्दी रंगमंच के विकास की संक्षिप्त रूपरेखा दीजिए। 20

(b) कृष्णा सोबती के कथा- संसार पर प्रकाश डालिए। 15

(c) महादेवी वर्मा के रेखाचित्रों के महत्व का आकलन कीजिए। 15