U.P.P.C.S. (Main) Questions for राजनीति विज्ञान और अंतरराष्ट्रीय संबंध (प्रथम प्रश्न-पत्र) 2014


Time Allowed: Three Hours][Maximum Marks: 200

नोटः-

  1. कुल पांच प्रश्नों के उत्तर दीजिए, जिनमें से प्रत्येक खण्ड से कम से कम दो प्रश्न हों।
  2. सभी प्रश्नों के अंक समान हैं।

खण्ड-अ (Section-A)

  1. निम्नलिखित पर टिप्पणियां कीजिये, जिनमें से प्रत्येक 200 शब्दों से अधिक न होः
    (अ) कौटिल्य का ‘सप्तांग सिद्धांत’
    (ब) ‘‘राज्य का आधार इच्छा है शक्ति नहीं।’’ (टी० एच० ग्रीन) समझाइए।
    (स) राजनीति विज्ञान की ‘सत्ता’ की अवधारणा की विवेचना कीजिए।
    (द) “मनुष्य स्वतंत्र पैदा होता है और वह सर्वत्र बंधनों में जकड़ा हुआ है।” (रूसो) समझाइये।
  2. Comment on the following in not more than 200 words each:
    (a) 'Saptang Principle' of Kautilya.
    (b) "Will, not force, is the basis of the state." (T.H. Green) Explain.
    (c) Discuss the concept of 'authority', in Political science.
    (d) "Man is born free and everywhere he is in chains." -(Rousseau) Explain.
  3. अरस्तू को राजनीतिक विज्ञान का जनक क्यों माना जाता है? व्याख्या कीजिए।
  4. Why is Aristotle regarded as the Father of Political Science? Discuss.
  5. हाब्स के संप्रभुता के सिद्धांत की विवेचना कीजिए। उसे व्यक्तिवादी विचारक क्यों कहा जाता है?
  6. Discuss the theory of sovereignty of Hobbes. Why is he known as an Individualist Thinker?
  7. मार्क्स का कहना है कि उसने हीगल के द्वन्द्वात्मक दर्शन को सिर के बल उल्टा खड़ा पाया, उसने इसे पैरों के बल सीधा खड़ा कर दिया। समझाइए।
  8. Marx claims that he found Hegelian Dialectical method standing on its head, and that he put it back on its feet. Explain.

    खण्ड-ब (Section-A)

  9. निम्न में से किन्हीं दो पर टिप्पणियां लिखिएः
  10. Comment on any two of the following:
    (अ) राजनीतिक आधुनिकीकरण
    Political modernization
    (ब) शासन की संघात्मक व्यवस्था।
    Federal system of government
    (स) गांधीजी के प्रन्यास-सिद्धांत की अवधारणा।
    Gandhiji's concept of Trusteeship.
  11. भारत में ‘न्यायिक-पुनरावलोकन’ के सिद्धांत एवं व्यवहार की विवेचना कीजिए।
  12. Examine the theory and practice of the Judicial-Review in India.
  13. “जाति की भूमिका राष्ट्रीय स्तर की राजनीति पर उतनी नहीं है जितनी स्थानीय और राज्य राजनीति पर है।” माइकल बैंचर। उपर्युक्त कथन के प्रकाश में भारतीय प्रजातंत्र में जाति की भूमिका की विवेचना कीजिए।
  14. 'Caste plays a major role in state and local politics but it is marginal at all Indian level.' -(Michael Brechar). Discuss the role of caste in India Democracy in the light of the above statement.
  15. राज्यसभा की शक्तियों का परीक्षण कीजिए एवं द्वितीय सदन के संदर्भ में उसकी भूमिका को इंगित कीजिए।
  16. Examine the power of Rajya Sabha and identify its role as a second chamber.