UPPCS (Main) Questions for राजनीति विज्ञान और अंतरराष्ट्रीय संबंध (द्वितीय प्रश्न पत्र) 2013


Time: Three Hours [Maximum Marks: 200]

नोटः-

  1. कुल पांच प्रश्नों के उत्तर दीजिए, जिनमें से प्रत्येक खण्ड से कम से कम दो प्रश्न हों।
  2. सभी प्रश्नों के अंक समान हैं।

Note:–

  1. Answer any five question in all, of which at least two should be from each section.
  2. All questions carry equal marks.

खण्ड-अ (Section-A)

  1. अंतरराष्ट्रीय राजनीति में ‘राजनय’ की भूमिका की विवेचना कीजिये। समसामायिक काल में इसके समक्ष क्या चुनौतियां आ रही हैं?
  2. Discuss the role of 'Diplomacy' in International politics. What challenges does it face in the contemporary period?
  3. विचारधारा और राष्ट्रीय शक्ति आज के राष्ट्रीय हित का निर्माण नहीं करते, किंतु शक्ति संतुलन विदेश नीति के चयन में प्रासंगिक है। सोदाहरण स्पष्ट कीजिये।
  4. Ideology and national power do not determine national interest of today but balance of power remains a relevant factor in foreign policy choice. Illustrate your answer.
  5. “दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संघ (दक्षेस)” की स्थापना ने दक्षिण एशिया के राज्यों में पारस्परिक सहयोग के द्वार खोल दिये हैं।’’ इस कथन को ध्यान में रखते हुए दक्षिण एशिया के क्षेत्र में भारत की भूमिका का परीक्षण कीजिये।
  6. "The establishment of South Asian Association for Regional Cooperation (SAARC) has opened the gates of mutual cooperation among the states of South Asia." In the light of this statement examine India's role in the South Asian Region.
  7. भारत के नाभिकीय परीक्षण के विशेष संदर्भ में नाभिकीय निःशस्त्रीकरण की समस्या की विवेचना कीजिए।
  8. Discuss the problem of nuclear disarmament with reference to India's nuclear test.

    खण्ड-ब (Section-B)

  9. भारत की विदेश नीति के निर्धारक तत्त्व क्या हैं? विगत दशक में भारत की विदेश नीति के कार्यान्वयन पर एक आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए।
  10. What are the determinantes of India's foreign policy? Write a critical note on the working of India's policy during the past decade.
  11. तीसरी दुनिया के देशों के मामलों में भारत की भूमिका का आलोचनात्मक परीक्षण कीजिए।
  12. Critically examine India's role in the affairs of the third world countries.
  13. चीन तथा भारत के द्विपक्षीय संबंधों में मुख्य मतभेदों को रेखांकित कीजिये तथा वर्तमान में सम्बन्धों की प्रकृति की समीक्षा कीजिए।
  14. Underline the major points of differences in the bilateral relationship of China and India and review the nature of relationship at present.
  15. भारत-रूस संबंधों की वर्तमान स्थिति का परीक्षण कीजिये।
  16. Examine the present state of Indo-Russian relations.