भारत-मॉरीशस कर संधि का संशोधन

  • हाल ही में, भारत और मॉरीशस ने दोहरे कराधान अपवंचन समझौते (Double Taxation Avoidance Agreement- DTAA) में संशोधन करने वाले एक प्रोटोकॉल पर हस्ताक्षर किए हैं।
  • संशोधित समझौते में 'प्रधान प्रयोजन परीक्षण' (Principal Purpose Test) को शामिल किया गया है। इसका उद्देश्य कर से बचाव का मुकाबला करना है, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि संधि के लाभ सिर्फ़ असली लेन-देन के लिए दिए जा सकें।
  • 2016 में, भारत और मॉरीशस ने एक संशोधित कर समझौते पर हस्ताक्षर किए थे, जिसने भारत को 1 अप्रैल, 2017 से मॉरीशस के माध्यम से होने वाले शेयरों के लेनदेन पर भारत ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |

PSC न्यूज बुलेट्स