प्लैंकटन क्रैश

  • हाल ही में, नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) द्वारा गठित पैनल ने अक्टूबर और नवंबर 2023 में पुडुचेरी में समुद्र के लाल होने की घटना के लिए प्लवक क्रैश (Plankton Crash) को जिम्मेदार ठहराया है।
  • जांच के दौरान समुद्र की सतह का तापमान (31 डिग्री सेल्सियस), लवणता (41पीएसयू), पीएच (6.5), और घुलित ऑक्सीजन (5.8पीपीएम) जैसे पर्यावरणीय मापदंडों का मूल्यांकन किया गया।
  • अन्नामलाई विश्वविद्यालय के शोधकर्ता इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि समुद्र में नोक्टिलुका सिंटिलन्स नामक फाइटोप्लांकटन की प्रजाति की शारीरिक क्षति से निकले लाल रंगद्रव्य से यह परिघटना हुई।
  • शोधकर्ताओं ने कुरुचिकुप्पम में मिलने वाली नहर में बहाए जाने वाले सीवेज की ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |

PSC न्यूज बुलेट्स