वासुकी इंडिकस

  • आईआईटी रूड़की के शोधकर्ताओं ने पृथ्वी पर मौजूद सबसे बड़े सांपों में से एक के जीवाश्म की खोज की है।
  • यह जीवाश्म गुजरात के कच्छ में पाया गया है और इसका नाम वासुकी इंडिकस रखा गया है। यह सरीसृप 10 मीटर से 15 मीटर के बीच लंबा होता था।
  • वासुकी का तात्पर्य उस पौराणिक साँप से है जिसे अक्सर हिंदू भगवान शिव के गले में दर्शाया जाता है।
  • सरीसृप 47 मिलियन वर्ष पहले मध्य इओसीन अवधि के दौरान पृथ्वी पर वास करते थे, जब अफ्रीका, भारत और दक्षिण अमेरिका एक संयुक्त भूभाग थे।
  • संभवतः इसका शरीर चौड़ा और बेलनाकार था, ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |

PSC न्यूज बुलेट्स