मछलियों द्वारा उपकरणों का उपयोग (Tool-Using)

  • लक्षद्वीप सागर (Laccadive Sea) में मछली की तीन नई प्रजातियाँ देखी गई हैं जो अपने शिकार से भोजन प्राप्त करने के लिए उपकरणों का उपयोग (Tool-Using) करती है।
  • इनका नाम जैनसेन व्रास्से (Jansen’s wrasse), चेकरबोर्ड व्रास्से (checkerboard wrasse) और मून व्रास्से (moon wrasse) है।
  • सभी तीन प्रजातियां, समुद्री अर्चिन के कठोर आवरणों को तोड़ने के लिए जीवित या मृत प्रवाल संरचनाओं का उपयोग करते हुए पायी गईं। लक्षद्वीप सागर भारत, मालदीव और श्रीलंका की जलीय सीमा से लगा हुआ एक जल निकाय है। यह कर्नाटक के दक्षिण-पश्चिम में, केरल के पश्चिम में और तमिलनाडु के दक्षिण में स्थित ....
क्या आप और अधिक पढ़ना चाहते हैं?
तो सदस्यता ग्रहण करें
इस अंक की सभी सामग्रियों को विस्तार से पढ़ने के लिए खरीदें |

पूर्व सदस्य? लॉग इन करें


वार्षिक सदस्यता लें
सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल के वार्षिक सदस्य पत्रिका की मासिक सामग्री के साथ-साथ क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स पढ़ सकते हैं |
पाठक क्रॉनिकल पत्रिका आर्काइव्स के रूप में सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मासिक अंक के विगत 6 माह से पूर्व की सभी सामग्रियों का विषयवार अध्ययन कर सकते हैं |

PSC न्यूज बुलेट्स