सिविल सर्विसेज़ क्रॉनिकल मार्च 2022

निबन्ध

विकास जैसी गतिशील प्रक्रिया में मानवाधिकार, मूल्यवान मार्गदर्शक हैं

विजेता–डॉ. जय नारायण सिंह (मोती बाग, नई दिल्ली) विकास एक ऐसी प्रक्रिया है, जो किसी प्राणी या समाज को उन्नति की ओर ले जाती है। एक ऐसी स्थिति, जिससे प्राणी में कार्य क्षमता बढ़ती है। यानी यह एक तरह की अभिवृद्धि है, जिसका एक हिस्सा स्वयं मनुष्य है। चूंकि मनुष्य बुद्धिमान एवं विवेकवान प्राणी है इसलिए इसे कुछ ऐसे मूल तथा अहरणीय अधिकार प्राप्त हैं, जिसे सामान्यतया मानवाधिकार कहा जाता है। विकास परिवर्तन, प्रकृति का नियम है। समय-समय पर विकास के पैमाने काफी हद तक बदलते रहते हैं। किंतु मानवाधिकार ऐसे अधिकार हैं, जो कि सभी दशाओं में सभी व्यक्तियों

विशेषज्ञ सलाह

दर्शनशास्त्र एक वैकल्पिक विषय के रूप में

दर्शनशास्त्र ही क्यों चुनें? इसका पाठ्यक्रम अपेक्षाकृत संक्षिप्त है, अतः इसका रिवीजन आसान है| यह विषय समसामयिक घटनाओं व मुद्दों पर अपेक्षाकृत कम निर्भर है| अन्य विषयों की तुलना में इसे कम समय (लगभग डेढ़ से दो माह) में तैयार किया जा सकता है| पाठ्यक्रम का विभाजन बहुत सरल है| विभिन्न दार्शनिकों केकथनोंका अनुसरण करना है, अतः अपनी कल्पना शक्ति के इस्तेमाल से बचा जा सकताहै| समय-समय पर कई उम्मीदवार इसे चुनकर अच्छी रैंक हासिल कर चुके हैं जैसे- अथर आमिर खान (2015, सेकंड रैंक) प्रश्न की मांग के अनुसार यदि उत्तर खूबसूरती से प्रस्तुत किया जाए तो यह अधिक अंकदायी विषय बन जाता है| दर्शनशास्त्र वैकल्पिक

राष्ट्रीय परिदृश्य

शासन प्रणाली

राष्ट्रीय सुरक्षा

प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक: एसपीजी ऐक्ट का उल्लंघन

सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में पंजाब दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक (security breach) की जांच के लिए न्यायमूर्ति इंदु मल्होत्रा की अध्यक्षता में 5 सदस्यीय समिति का गठन किया। सुप्रीम कोर्ट ने इस मुद्दे पर सभी मौजूदा जांचों पर रोक लगाने के बाद इस पांच सदस्यीय समिति के गठन की घोषणा की। पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक मामले में केंद्र सरकार पंजाब पुलिस अधिकारियों के खिलाफ ‘विशेष सुरक्षा दल (SPG) अधिनियम’ के तहत कार्रवाई पर विचार कर रही है। 5 जनवरी, 2022 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे के दौरान

प्रशासनिक प्रणाली

आईएएस अधिकारियों का सेंट्रल डिप्युटेशन

केंद्र सरकार आईएएस और आईपीएस अधिकारियों को ‘केंद्रीय प्रतिनियुक्ति’ (Central deputation) के माध्यम से स्थानांतरित करने के लिए राज्य सरकारों की मंजूरी लेने की आवश्यकता के प्रावधान को समाप्त करते हुए इस संबंध में अधिभावी शक्तियां (overriding powers) हासिल करने के बारे में विचार कर रही है। इस संबंध में कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (DoPT) ने 12 जनवरी, 2022 को ‘भारतीय प्रशासनिक सेवा (कैडर) नियम 1954’ के नियम 6 (deputation of cadre officers) में संशोधन करने का प्रस्ताव किया। केंद्र सरकार द्वारा आईएएस (कैडर) नियमों में संशोधन का यह प्रस्ताव अधिकारियों की केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर अधिक नियंत्रण रखने के उद्देश्य से किया

अखिल भारतीय पर्यावरण सेवा की स्थापना का प्रस्ताव

हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से पूछा कि क्या वह पूर्व कैबिनेट सचिव टी-एस-आर सुब्रमण्यम की अध्यक्षता वाली समिति की 2014 में की गई सिफारिश के अनुसार एक भारतीय पर्यावरण सेवा [Indian Environmental Service (IES)], गठन करेगी। सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में कहा गया है कि पर्यावरण विनियमन (Environmental Regulation) से संबंधित मामलों से निपटने में विशेष विशेषज्ञता की आवश्यकता होती है। अतः ऐसे मामलों के लिए एक अखिल भारतीय पर्यावरण सेवा की स्थापना की जानी चाहिए। भारतीय पर्यावरण सेवा का मुद्दाः पुनः चर्चा में क्यों?सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में कहा गया है कि पर्यावरण से संबंधित मामलों

निर्वाचन प्रणाली

संस्थान एवं निकाय

सत्यनिष्ठा अनुबंध की संशोधित मानक संचालन प्रक्रिया

हाल ही में केंद्रीय सतर्कता आयोग (CVC) ने 8 महीने में दूसरी बार सत्यनिष्ठा अनुबंध (Integrity Pact) को अपनाने और लागू करने के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) में संशोधन किया। यह सार्वजनिक खरीद में पारदर्शिता सुनिश्चित करने की दिशा में केंद्रीय सतर्कता आयोग का महत्वपूर्ण कदम है। इस परिवर्तन से सार्वजनिक खरीद में सरकारी अनुबंधों की जांच के लिए स्वतंत्र बाह्य अनुवीक्षकों [Independent External Monitors (IEMS)] का एक बड़ा पूल प्राप्त होगा। संशोधित मानक संचालन प्रक्रियानियमों में किये गए बदलाव के अनुसार अब इंडिपेंडेंट एक्सटर्नल मॉनिटर्स (IEM) को केवल उन प्रतिष्ठित व्यक्तियों / अधिकारियों के पैनल से चुना जाएगा, जिन्होंने अतिरिक्त

सर्वेक्षण एवं रिपोर्ट

भ्रष्टाचार बोध सूचकांक, 2021

अंतरराष्ट्रीय गैर सरकारी संगठन ‘ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल’ (Transparency International) द्वारा 25 जनवरी, 2022 को ‘भ्रष्टाचार बोध सूचकांक, 2021’ [Corruption Perceptions Index (CPI), 2021] जारी किया गया। इस सूचकांक में भारत ने 85वां स्थान प्राप्त किया। इस सूचकांक रिपोर्ट के अनुसार भ्रष्टाचार के मामले में भारत स्थिति ‘विशेष रूप से चिंताजनक’ (Particularly Worrying) है। इस साल के भ्रष्टाचार बोध सूचकांक से पता चलता है कि दुनिया भर में भ्रष्टाचार का स्तर एक ठहराव पर है। इस सूचकांक में डेनमार्क, न्यूजीलैंड और फिनलैंड ने संयुक्त रूप से शीर्ष स्थान प्राप्त किया तथा ये देश दुनिया के सबसे कम भ्रष्ट देश हैं, जबकि दक्षिण सूडान ने इस

पंचायतीराज

ग्रामीण क्षेत्र विकास योजना निर्माण और कार्यान्वयन दिशा-निर्देश

20 जनवरी, 2022 को ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री गिरिराज सिंह ने पंचायतीराज मंत्रालय द्वारा तैयार किए गए संशोधित ‘ग्रामीण क्षेत्र विकास योजना निर्माण और कार्यान्वयन दिशानिर्देश’ [Rural Area a Development Plan Formulation and Implementation (RADPFI) Guidelines] जारी किए। vये संशोधित आरएडीपीएफआई दिशानिर्देश, ग्रामीण भारत के रूपांतरण एवं सशत्तफ़ीकरण तथा ग्रामीण समृद्धि को बढ़ावा देने के दृष्टिकोण को ध्यान में रखते हुए तैयार किए गए हैं। ये दिशानिर्देश ग्रामीण क्षेत्रों में जीवन की गुणवत्ता (quality of life) में सुधार करने में मदद करेंगे। पृष्ठभूमिभारत में इससे पहले विशेष रूप से शहरी क्षेत्रों में कई स्थानिक विकास पहलों को लागू किया गया है,

संक्षिप्तिकी

भारतीय ध्वज संहिता 2002 के अनुपालन हेतु एडवाइजरी

गृह मंत्रालय ने 18 जनवरी, 2022 को राज्य और केंद्र-शासित प्रदेशों के प्रशासन से ‘भारतीय ध्वज संहिता 2002’ और राष्ट्रीय गौरव अपमान निवारण अधिनियम, 1971’ के प्रावधानों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करने हेतु एडवाइजरी जारी की। मुख्य बिंदु प्रायः राष्ट्रीय ध्वज को प्रदर्शित करने के कानूनों और प्रक्रियाओं के बारे में लोगों और संगठनों में जागरूकता की कमी देखी गई है। इसी को ध्यान में रखते हुए यह एडवाइजरी जारी की गई। राज्यों और केंद्र-शासित प्रदेशों को महत्वपूर्ण राष्ट्रीय, सांस्कृतिक और खेल आयोजनों के अवसर पर जनता द्वारा केवल कागज के ध्वज का उपयोग सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है। इसने यह

न्यूज़ बुलेट्स

इन फोकस

भारत में ई-गवर्नेंसः चुनौतियां एवं संभावनाएं

प्रशासनिक सुधार एवं लोक शिकायत विभाग (DARPG) तथा इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रलय (MeitY) ने 7 से 8 फरवरी, 2022 के मध्य हैदराबाद में ई-गवर्नेंस पर 24वें राष्ट्रीय सम्मेलन [24th Conference on e-Governance (NCeG) 2021] का आयोजन किया। ई-गवर्नेंस पर 24वें राष्ट्रीय सम्मेलन ने देश में ई-शासन को बढ़ावा देने के लिए कुछ नवीनतम तकनीकों पर विचारों के रचनात्मक आदान-प्रदान के लिए एक मंच प्रदान किया। इस दो दिवसीय ई-गवर्नेंस सम्मेलन में गहन विचार-विमर्श के बाद ई-गवर्नेंस पर ‘हैदराबाद घोषणा’ ('Hyderabad Declaration' on e-Governance) को अपनाया गया। ई-शासन पर हैदराबाद घोषणाहैदराबाद घोषणा के तहत यह संकल्प लिया गया कि भारत सरकार

आर्थिक परिदृश्य

कृषि एवं संबंधित क्षेत्र

अरोमा मिशन के तहत बैंगनी क्रांति

जनवरी 2022 में केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) जितेंद्र सिंह ने कहा कि बैंगनी क्रांति (Purple Revolution) जम्मू-कश्मीर का ‘‘स्टार्ट-अप इंडिया” में एक प्रमुख योगदान है। उन्होंने किसानों की आय को बढ़ावा देने के लिए जम्मू और कश्मीर के लिए ‘एकीकृत अरोमा डेयरी उद्यमिता’ (Integrated Aroma Dairy Entrepreneurship) का प्रस्ताव दिया है। जम्मू-कश्मीर केंद्रशासित प्रदेश के पशुपालन और डेयरी संसाधनों को अरोमा मिशन के साथ एकीकृत किया जा सकता है, जिसे केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तत्वावधान में सीएसआईआर (CSIR - Council of Scientific & Industrial Research) द्वारा जम्मू-कश्मीर में पहले ही आरंभ किया जा चुका है। अरोमा

रिपोर्ट एवं सूचकांक

स्टेट ऑफ़ इंडियाज लाइवलीहुड (सॉयल) रिपोर्ट-2021

हाल ही में जारी ‘स्टेट ऑफ इंडियाज लाइवलीहुड (State of India's Livelihood - SOIL) रिपोर्ट’ -2021 में कहा गया है कि पिछले सात वर्षों में केंद्र सरकार की योजनाओं के तहत सिर्फ 1.5% किसान उत्पादक संगठनों (Farmer Producer Organisation - FPOs) को फंडिंग प्राप्त हुई है। एक्सेस डेवलपमेंट सर्विसेज (Access Development Services) नामक एक राष्ट्रीय आजीविका सहायता संगठन ने SOIL रिपोर्ट को तैयार किया है। किसान उत्पादक संगठन (FPOs) अर्थः किसान उत्पादक संगठनों (FPOs) में उत्पादकों, विशेष रूप से छोटे और सीमांत किसान समूहों को शामिल किया जाता है। एक प्रभावी संगठन के माध्यम से किसान कृषि संबंधी चुनौतियों जैसे- निवेश, प्रौद्योगिकी, आगत

वर्ल्ड एम्प्लॉयमेंट एंड सोशल आउटलुक ट्रेंड्स 2022

19 जनवरी, 2022 को अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन (ILO) ने ‘वर्ल्ड एम्प्लॉयमेंट एंड सोशल आउटलुक ट्रेंड्स 2022’ (WESO Trends 2022) नामक शीर्षक से एक रिपोर्ट जारी की। रिपोर्ट के अनुसार महामारी को लेकर उत्पन्न अनिश्चितता के कारण वैश्विक स्तर पर रोजगार की स्थिति में अनेक अनिश्चितताएं बनी हुई हैं। वर्ल्ड एम्प्लॉयमेंट एंड सोशल आउटलुक ट्रेंड्स में वर्ष 2022 और वर्ष 2023 के लिये व्यापक श्रम बाजार अनुमान भी शामिल हैं। इसमें महामारी काल में श्रम बाजारों में हुए सुधारों तथा इन सुधारों के विभिन्न समूहों, श्रमिकों एवं आर्थिक क्षेत्र पर पड़ने वाले प्रभावों का भी विश्लेषण किया गया है। रिपोर्ट के प्रमुख बिंदु रोजगार

त्रैमासिक रोजगार सर्वेक्षण (क्यूईएस) के दूसरे दौर के परिणाम

हाल ही में श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के श्रम ब्यूरो द्वारा वर्ष 2021 की दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) के लिये त्रैमासिक रोजगार सर्वेक्षण (Quarterly Employment Survey - QES) के दूसरे दौर के परिणाम जारी किये गए। जुलाई-सितंबर 2021 की तिमाही में 9 चुनिंदा क्षेत्रों द्वारा सृजित कुल रोजगार 3.10 करोड़ था, जो अप्रैल-जून की अवधि की तुलना में 2 लाख अधिक है। प्रमुख बिंदु QES के संदर्भ में: ‘त्रैमासिक रोजगार सर्वेक्षण’ (QES) ‘ऑल-इंडिया क्वार्टरली एस्टेब्लिश्मेंट-बेस्ड एम्प्लॉयमेंट सर्वे’ (All-India Quarterly Establishment-based Employment Survey - AQEES) का एक हिस्सा है। इसमें कुल 9 वर्गों के संगठित क्षेत्र के अंतर्गत 10 अथवा अधिक श्रमिकों को रोजगार

मुद्रा-बैंकिंग

बैड बैंक के लिये RBI की मंजूरी लंबित

घाटे में चल रही बैंकिंग प्रणाली में दबावग्रस्त आस्तियों (Stressed Assets) से निपटने के लिए प्रस्तावित ‘बैड बैंक’ को सभी विनियामक अनुमोदन प्राप्त हो गए हैं। बावजूद इसके ‘बैड बैंक’ स्थापित करने के प्रस्ताव के कार्यान्वयन हेतु भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की मंजूरी अभी भी लंबित है। हाल ही में भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के अध्यक्ष दिनेश कुमार खारा ने कहा कि नेशनल एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी (NARCL) या बैड बैंक तथा इंडिया डेट रिजॉल्यूशन कंपनी लिमिटेड (IDRCL) परिचालन के लिए तैयार हैं। बैंकों की बैलेंस शीट को साफ करने के लिए बैड बैंक बनाने की योजना की घोषणा केंद्रीय बजट 2021-22 में

योजना एवं पहल

इंडिया स्किल्स 2021

जनवरी 2022 में देश की सबसे बड़ी कौशल प्रतियोगिता ‘इंडिया स्किल्स 2021’ नेशनल कम्पटीशन (IndiaSkills 2021 National Competition) का समापन हुआ। यह प्रतियोगिता कौशल के उच्चतम मानकों को प्रदर्शित करने के लिये आरंभ की गई है तथा युवाओं को राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा दिखाने हेतु एक मंच प्रदान करती है। भारत कौशल प्रतियोगिता प्रत्येक दो वर्ष में राज्य सरकारों और औद्योगिक समूहों के सहयोग से आयोजित की जाती है। मुख्य बिंदु प्रतिभागीः इस प्रतियोगिता में 30 राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों ने भाग लिया तथा वर्ष 2021 में 54 कौशलों में अपने कौशल का प्रदर्शन किया, जिसमें सात नए कौशल शामिल थे। कौशल

ड्रोन प्रमाणन योजना

26 जनवरी, 2022 को नागरिक उîóयन मंत्रालय (MoCA) ने न्यूनतम सुरक्षा और गुणवत्ता आवश्यकताओं को सुनिश्चित करने के लिए एक ड्रोन प्रमाणन योजना (Drone Certification Scheme) को अधिसूचित किया है, इससे ड्रोन के स्वदेशी विनिर्माण को बढ़ावा मिलेगा। ड्रोन प्रमाणन योजना ड्रोन प्रमाणन योजना (Drone Certification Scheme) को उदारीकृत ड्रोन नियमावली, 2021 के नियम 7 के तहत अधिसूचित किया गया है। यह योजना ड्रोन के सरल, तीव्र और पारदर्शी प्रमाणन में मदद करेगी। यह उदारीकृत ड्रोन नियमों, उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना, हवाई क्षेत्र के नक्शे और सिंगल विंडो डिजिटल स्काई प्लेटफॉर्म (Single Window Digital Sky Platform) के साथ-साथ भारत में ड्रोन

उद्योग एवं व्यापार

भारत में इलेक्ट्रॉनिक विनिर्माण को प्रोत्साहन

भारत में वर्ष 2026 तक 300 बिलियन अमेरिकी डॉलर का इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादन (Electronics Production) हासिल करने की संभावना है। यह अनुमान भारत सेल्यूलर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन (India Cellular & Electronics Association - ICEA) के सहयोग से इलेक्ट्रॉनिक्स एवं आईटी मंत्रालय (MeitY) द्वारा जारी ‘‘वर्ष 2026 तक 300 बिलियन अमेरिकी डॉलर सस्टेनेबल इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग एंड एक्सपोर्ट्स” (300 billion USD Sustainable Electronics Manufacturing and Exports by 2026) नामक 5 वर्षीय रोडमैप और विजन दस्तावेज के अनुसार है। ICEA मोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक्स उद्योग (Mobile and Electronics Industry) का शीर्ष औद्योगिक निकाय है। यह रोडमैप दो-भाग वाले विजन दस्तावेज का दूसरा खंड है- जिसमें से

विविध

विदेशी अंशदान (विनियमन) अधिनियम

हाल ही में गृह मंत्रालय द्वारा ऐसे 6,000 गैर-सरकारी संगठनों की सूची जारी की गई है, जिनका पंजीकरण ‘विदेशी अंशदान (विनियमन) अधिनियम’ [Foreign Contribution (Regulation) Act - FCRA] के तहत नवीनीकृत नहीं किया गया है। इनमें तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम (TTD), रामकृष्ण मिशन और शिरडी के श्री साईबाबा संस्थान ट्रस्ट (SSST) भी शामिल हैं। विदेशी योगदान (Foreign contribution): व्यक्तिगत उपयोग के लिये मिले उपहारों के अलावा विदेशी स्रोत से प्राप्त वस्तुएं, मुद्रा और प्रतिभूतियाँ विदेशी योगदान के अंतर्गत शामिल की जाती हैं। विदेशी योगदान (विनियमन) अधिनियम [FCRA]भारत सरकार द्वारा विदेशी योगदान की स्वीकृति और विनियमन के उद्देश्य से वर्ष 1976 में विदेशी

संक्षिप्तिकी

विकास एवं नियोजन

मसौदा क्षेत्रीय योजना-2041

हाल ही में, एक 5 सदस्यीय समूह, जिसमें एक सेवानिवृत्त भारतीय वन सेवा अधिकारी, एक शहरी योजनाकार और एक पर्यावरण विश्लेषक शामिल हैं, ने ‘क्षेत्रीय योजना-2041 के मसौदे’ (Draft Regional Plan 2041) पर आपत्ति की पेशकश की है। क्षेत्रीय योजना 2041 की मुख्य विशेषताएं इसके अंतर्गत आने वाला क्षेत्रः राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र नियोजन बोर्ड (National Capital Region Planning Board) इसके अंतर्गत संपूर्ण दिल्ली, उत्तर प्रदेश के 8 जिलों, हरियाणा के 14 जिलों और राजस्थान के दो जिलों को शामिल करता है। समग्र रूप से इसके अंतर्गत आने वाला क्षेत्र लगभग 55,083 वर्ग किलोमीटर पर विस्तृत है। उद्देश्यः मसौदा क्षेत्रीय योजना के लिए निर्धारित

न्यूज बुलेट्स

इन फोकस

नेचुरल फार्मिंग: महत्व तथा चुनौतियां

हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्य सरकारों से प्राकृतिक कृषि (Natural Farming) आरंभ करने का आग्रह किया। प्रधानमंत्री ने कहा ‘हमें कृषि में प्रचलित गलत प्रथाओं को दूर करने की आवश्यकता है।' आंध्र प्रदेश राज्य पिछले कुछ समय से प्राकृतिक खेती को बढ़ावा दे रहा है। ऑस्ट्रेलियाई मृदा सूक्ष्म जीवविज्ञानी और जलवायु वैज्ञानिक वाल्टर जेहने ने कहा है, फ्आंध्र प्रदेश में अपनाई गई पुनर्याेजी कृषि पद्धतियों (Regenerative Agricultural Practices) ने कृषि की आर्थिक व्यवहार्यता को मौलिक रूप से परिवर्तित कर दिया है तथा इससे स्थानीय समुदाय भविष्य में अधिक सक्षम हो जाएंगे।' प्राकृतिक कृषि p(Natural Farming)इसे ‘रसायन मुक्त

अंतरराष्ट्रीय संबंध एवं संगठन

रिपोर्ट एवं सूचकांक

वैश्विक जोखिम रिपोर्ट, 2022

11 जनवरी, 2022 को विश्व आर्थिक फोरम द्वारा वैश्विक जोखिम रिपोर्ट 2022 (Global Risks Report 2022) जारी की गई। वर्तमान रिपोर्ट इसका 17वां संस्करण है। इस रिपोर्ट में वैश्विक स्तर पर सबसे बड़ी चिंता जलवायु परिवर्तन संबंधी जोखिम को माना गया है। मुख्य बिंदु अर्थव्यवस्थाः वैश्विक अर्थव्यवस्था 2024 तक 2.3% तक सिकुड़ सकती है। विकासशील देशों और विकसित देशों की अर्थव्यवस्था क्रमशः 5.5% और 0.9% तक सिकुड़ सकती है। विभिन्न देशों की अर्थव्यवस्था असमान रूप से रिकवर कर रही है, जो वर्तमान वैश्विक चुनौती से समन्वित रूप से निपटने में समस्या पैदा कर सकती है। डिजिटल निर्भरता एवं साइबर सुरक्षाः डिजिटल असमानता और

द्विपक्षीय संबंध

अंतरराष्ट्रीय घटनाक्रम

कजाकिस्तान में विरोधा-प्रदर्शन एवं सीएसटीओ

हाल ही में तेल समृद्ध देश कजाकिस्तान में तरलीकृत पेट्रोलियम गैस की मूल्यवृद्धि को लेकर गृहयुद्ध जैसे हालात बन गए। इस समस्या के समाधान के लिए कजाकिस्तान के राष्ट्रपति के आग्रह पर, ‘सामूहिक सुरक्षा संधि संगठन’ (Collective Security Treaty Organization-CSTO) द्वारा सैन्य-दल भेजा गया है। मुख्य बिन्दुतरलीकृत पेट्रोलियम गैस पर सब्सिडी का फैसला तीन साल पहले लिया गया था, लेकिन 1 जनवरी, 2022 से ईंधन की कीमतें पूरी तरह से बाजार आधारित हो गईं। इसके कारण एलपीजी की कीमत बाजार की मांग एवं पूर्ति के आधार पर जल्द ही बढ़ गई। इसके पश्चात सरकार के निर्णय के विरुद्ध बड़े पैमाने पर विरोध-प्रदर्शन

टोंगा में ज्वालामुखी विस्फ़ोट

हाल ही में, दक्षिणी प्रशांत महासागर में स्थित ‘टोंगा’ (Tonga) के दो द्वीपों के मध्य स्थित समुद्री भाग में ज्वालामुखी विस्फोट (Undersea Volcanic Eruption) हुआ, जिसकी वजह से प्रशांत महासागर में ‘सुनामी लहरें’ उठीं। टोंगा द्वीपसमूह ‘पैसिफिक रिंग ऑफ फायर’ की परिधि में अवस्थित है। मुख्य बिन्दु‘पैसिफिक रिंग ऑफ फायर’ (Pacific Ring of Fire)) में 450 से अधिक ज्वालामुखी शामिल हैं, जिसमें माउंट सेंट हेलेंस (संयुक्त राज्य अमेरिका), माउंट फूजी (जापान) और माउंट पिनातुबो (फिलीपींस) जैसे विश्व के सर्वाधिक सक्रिय ज्वालामुखी हैं। प्रशांत महासागर के साथ फैले हुए इस तटीय क्षेत्र में प्रशांत प्लेट तथा अन्य छोटी टेक्टोनिक प्लेटें (जैसे, फिलीपीन सागर

बैठक एवं सम्मेलन

दावोस एजेंडा 2022

17-21 जनवरी, 2022 के दौरान विश्व आर्थिक मंच (World Economic Forum – WEF) द्वारा आभासी रूप से दावोस एजेंडा 2022 का आयोजन किया गया। इस बैठक को भारतीय प्रधानमंत्री सहित विभिन्न देशों के नेताओं ने संबोधित किया। मुख्य बिन्दुइसमें प्रमुख वैश्विक मुद्दों के समाधान पर विभिन्न देशों के प्रमुख, सीईओ और अन्य नेताओं के बीच चर्चा की गई और समाधान की रूपरेखा प्रस्तुत की गई। चर्चा मुख्य रूप से कोविड-19 महामारी प्रतिक्रिया (COVID-19 pandemic response), वैश्विक आर्थिक सुधार, जलवायु कार्रवाई, तकनीकी नवाचार और वैश्विक सहयोग जैसे विषयों पर केंद्रित थी। एजेंडा 2022 में विश्व आर्थिक मंच द्वारा विभिन्न पहलों का शुभारंभ किया गया,

भारत के पड़ोसी देश

त्रिंकोमाली तेल टैंक फ़ार्म: भारत एवं श्रीलंका

हाल ही में श्रीलंका और भारत के मध्य त्रिंकोमाली ऑयल टैंक फार्म (Trincomalee Oil Tank farm) को संयुक्त रूप से विकसित करने हेतु एक समझौता सम्पन्न हुआ। भारत की तरफ से इंडियन ऑयल की सहायक कंपनी- लंका आईओसी (Lanka IOC - LIOC) इसमें भागीदारी करेगी। मुख्य बिन्दुइस संयुक्त उपक्रम में लंका आईओसी को 49% हिस्सेदारी दिए जाने की घोषणा की गई है, जबकि सीलोन पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन की हिस्सेदारी 51% होगी। सीलोन पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन के द्वारा इसके लिए ट्रिंको पेट्रोलियम टर्मिनल्स लिमिटेड (Trinco Petroleum Terminals Ltd) नामक एक विशेष प्रयोजन कंपनी (special purpose company) का गठन किया गया है। इससे पूर्व 2002 में श्रीलंका

वैश्विक संगठन

एशियाई अवसंरचना निवेश बैंक

हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के पूर्व गवर्नर उर्जित पटेल को एशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक (Asian Infrastructure Investment Bank – AIIB) का उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है। एशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक में इनका कार्यकाल 3 वर्ष का होगा। एशियन इन्प्रफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक 2013 में चीन द्वारा एशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक (Asian Infrastructure Investment Bank-AIIB) की आधारशिला रखी गयी थी। एआईआईबी (AIIB) एक बहुपक्षीय अंतरराष्ट्रीय विकास बैंक है। इस बैंक का मुख्यालय बीजिंग में स्थित है। बैंक का मुख्य लक्ष्य ऊर्जा, परिवहन तथा विनिर्माण क्षेत्र में आधारभूत संरचना परियोजनाओं को वित्त सुविधा उपलब्ध करवाना है। इसके अलावा यह एशिया-प्रशांत क्षेत्र में शिक्षा और

संधि एवं समझौते

क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदारी का प्रभावी होना

1 जनवरी, 2022 से क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदारी (RCEP) समझौता औपचारिक तौर पर लागू हो गया। इसके साथ ही, व्यापार की मात्रा के अनुसार यह विश्व का सबसे बड़ा मुक्त व्यापार क्षेत्र समझौता बन गया है। मुख्य बिन्दुभारत इससे संबंधित वार्ता में शामिल था परंतु कुछ अंतर्निहित मुद्दों के कारण भारत इस मुक्त व्यापार ब्लॉक में सम्मिलित न हो सका। हाल ही में दक्षिण कोरिया ने भारत के इसमें शामिल न होने पर चिंता व्यक्त की तथा भविष्य में इसमें शामिल होने की संभावना व्यक्त की है। क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदारी समझौते के अंतर्गत, वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद (GDP) का लगभग 2 ट्रिलियन

संक्षिप्तिकी

न्यूज़ बुलेट्स

इन फोकस

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी

अंतरिक्ष/ब्रह्माण्ड विज्ञान

नासा का आर्टेमिस कार्यक्रम

हाल ही में नासा द्वारा की गई घोषणा के अनुसार फरवरी 2022 में आर्टेमिस कार्यक्रम (Artemis Program) के रॉकेट और अंतरिक्ष यान के उपकरणों का परीक्षण प्रारंभ किया जाएगा। इन परीक्षणों के द्वारा आर्टेमिस 1 (Artemis 1) मिशन की सफलता सुनिश्चित करने का प्रयास किया जाएगा। vअवगत करा दें कि नासा के आर्टेमिस कार्यक्रम के तहत पहला मिशन आर्टेमिस-1 होगा, जिसे मार्च 2022 में प्रक्षेपित किया जाना है, यह एक मानव रहित मिशन होगा। आर्टेमिस-1 के बाद वर्ष 2024 में आर्टेमिस-2 का प्रक्षेपण किया जाएगा, जोकि मानवयुक्त मिशन होगा। इसके बाद आर्टेमिस-3, आर्टेमिस-4 एवं आर्टेमिस-5 का प्रक्षेपण भी प्रस्तावित है। मुख्य

डार्क मैटर और डार्क एनर्जी का अध्ययन

हाल ही में लॉन्च किए गए ‘जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप’ (JWST) के प्राथमिकता वाले लक्ष्यों की सूची जारी की गई, जिसमें अन्य लक्ष्यों के साथ डार्क एनर्जी (Dark Energy) और डार्क मैटर (Dark Matter) की प्रकृति को बेहतर ढंग से समझना शामिल है। डार्क एनर्जी और डार्क मैटर से संबंधित मुख्य बिंदुखगोलविदों के अनुसार डार्क एनर्जी, ऊर्जा का एक रहस्यमय और काल्पनिक रूप है। यह ब्रह्मांड के लगभग 68% हिस्से का निर्माण करती है। डार्क एनर्जी गुरुत्वाकर्षण (Gravity) के विपरीत व्यवहार करती है और नकारात्मक या प्रतिकारक दबाव को दर्शाती है। इसके कारण ब्रह्मांड के विस्तार की दर समय के साथ तेज

गगनयान मिशन के लिए क्रायोजेनिक इंजन का सफ़ल परीक्षण

20 जनवरी, 2022 को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने गगनयान मिशन के लिए क्रायोजेनिक इंजन का योग्यता परीक्षण (Qualification Test) सफलतापूर्वक संपन्न किया। इससे पूर्व भी इस स्वदेशी क्रायोजेनिक इंजन का सफल परीक्षण सम्पन्न किया गया है। मुख्य बिंदुयह परीक्षण इसरो प्रोपल्शन कॉम्प्लेक्स (ISRO Propulsion Complex) में संपन्न किया गया, जोकि तमिलनाडु के महेंद्रगिरि में स्थित है। गगनयान मिशन के लिए तरल प्रणोदक आधारित हाई थ्रस्ट इंजन का निर्माण किया गया है तथा इसे ‘विकास इंजन’ (Vikas engine) नाम दिया गया है। अलग-अलग परिस्थितियों में इंजन के तीन और परीक्षण किए जाएंगे और जिनकी कुल अवधि 75 सेकंड की होगी। इसके अगले

नवीन प्रौद्योगिकी

भारत में 4 नए सुपरकंप्यूटर

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा हाल ही में जारी वर्षांत समीक्षा के अनुसार जुलाई 2021 के पश्चात देश में 4 नए सुपरकंप्यूटर स्थापित किए गए हैं तथा राष्ट्रीय सुपरकंप्यूटिंग मिशन के माध्यम से देश में उच्च शक्ति कंप्यूटिंग को तेजी से बढ़ावा दिया जा रहा है। मुख्य बिंदुइन 4 सुपर कंप्यूटर्स को IIT-हैदराबाद, NABI- मोहाली, CDAC-बेंगलुरू और IIT कानपुर में स्थापित किया गया है। इनकी स्थापना राष्ट्रीय सुपरकंप्यूटिंग मिशन (National Supercomputing Mission– NSM) के तहत की गई है। राष्ट्रीय सुपरकंप्यूटिंग मिशन का उद्देश्य 70 से अधिक ‘उच्च-प्रदर्शन कंप्यूटिंग सुविधाओं’ से लैस एक विशाल सुपरकंप्यूटिंग ग्रिड की स्थापना करना तथा देश के राष्ट्रीय शैक्षणिक

रक्षा-विज्ञान

एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का सफ़ल परीक्षण

11 जनवरी, 2022 को रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन ने मैन-पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल (Man-Portable Anti-Tank Guided Missile-MPATGM) का सफल परीक्षण किया। इस एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल को स्वदेश में ही विकसित किया गया है। मुख्य बिंदुरक्षा मंत्रालय के अनुसार, यह टैंक रोधी मिसाइल कम भार वाली ‘दागो और भूल जाओ मिसाइल’ है, क्योंकि इसे दागे जाने के बाद पुनः निर्देशित करने की आवश्यकता नहीं पड़ती। परीक्षण के दौरान मिसाइल ने निर्धारित लक्ष्य पर प्रहार कर उसे सफलतापूर्वक नष्ट कर दिया। मिसाइल ने अपनी क्षमताओं का प्रदर्शन करते हुए सभी उद्देश्यों को पूरा किया। मिसाइल में ऑन-बोर्ड नियंत्रण और मार्गदर्शन के लिए

ब्रह्मोस के उन्नत संस्करण का परीक्षण

11 जनवरी, 2022 को रक्षा अनुसंधान विकास संगठन ने ब्रह्मोस (BrahMos) के उन्नत संस्करण का परीक्षण किया। यह ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का नोसैन्य संस्करण है। इसका परीक्षण आईएनएस विशाखापत्तनम से किया गया। मुख्य बिंदु ब्रह्मोस मिसाइल को उन्नत करने का वर्तमान प्रयास स्वदेशी रूप से किया जा रहा है। जबकि इसके मूल संस्करण का विकास भारत और रूस द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। उल्लेखनीय है कि ब्रह्मोस मिसाइल का विकास, भारत के मिसाइल प्रौद्योगिकी नियंत्रण व्यवस्था (Missile Technology Control Regime) यानी एमटीसीआर (MTCR) का सदस्य बनने से पूर्व से किया जा रहा है। एमटीसीआर के प्रावधानों के तहत प्रारंभ में इसे

भू-विज्ञान

भूकंप और कच्छ क्षेत्र के भूदृश्य में बदलाव

हाल ही में वडोदरा के ‘महाराजा सयाजीराव विश्वविद्यालय’ के भूवैज्ञानिकों द्वारा किए गए एक अध्ययन में यह पाया गया है कि भूकंप की घटनाओं के कारण गुजरात के कच्छ क्षेत्र के भूदृश्य में असाधारण परिवर्तन हुआ है। यह परिवर्तन ‘कटरोल हिल फॉल्ट’ (Katrol Hill Fault-KHF) के भूदृश्य में पाया गया है। vयह अध्ययन ‘इंजीनियरिंग जियोलॉजी’ (Engineering Geology) तथा ‘अर्थ सरफेस प्रोसेसेज एंड लैंडफॉर्म्स’ नामक जर्नल्स में हाल ही में प्रकाशित हुआ। मुख्य बिंदु शोधकर्ताओं ने उच्च तकनीकी उपकरणों के प्रयोग द्वारा फॉल्ट लाइन की सतह से एकत्रित अवसादी नमूनों का अध्ययन किया। कच्छ क्षेत्र में विभिन्न भ्रंश (Fault) पाए जाते हैं, जैसे कच्छ

परंपरागत/गैर-परंपरागत ऊर्जा

चीन द्वारा फ्यूजन रिएक्टर बनाने का प्रयास

हाल ही में चीन के हेफेई भौतिक विज्ञान संस्थान (Hefei Institute of Physical Sciences) में ‘प्रायोगिक उन्नत सुपरकंडक्टिंग टोकामक’ (Experimental Advanced Superconducting Tokamak - EAST) परमाणु संलयन रिएक्टर का सफल परीक्षण किया गया। इस संलयन रिएक्टर को 1,056 सेकंड तक चलाने में सफलता प्राप्त की गई। मुख्य बिंदुइस प्रयोग में उसी प्रक्रिया से ऊर्जा पैदा की गई, जिससे सूर्य में ऊर्जा पैदा होती है, अतः आम बोलचाल की भाषा में इसे ‘कृत्रिम सूर्य’ के निर्माण की भी संज्ञा दी जाती है। प्रायोगिक उन्नत सुपरकंडक्टिंग टोकामक (ईस्ट) से 158 मिलियन डिग्री फारेनहाइट तापमान प्राप्त किया गया जो सूरज के तापमान से 5 गुना

स्वास्थ्य विज्ञान

यूके में बर्ड फ्लू का पहला मानव संक्रमण

हाल ही में यूनाइटेड किंगडम (यूके) ने बर्ड फ्लू से मानव के संक्रमित होने की सूचना दी है। यह यूके में किसी व्यक्ति के बर्ड फ्लू के H5N1 स्ट्रेन से संक्रमित होने का पहला मामला है। बर्ड फ्लू संक्रमणबर्ड फ्लू या एवियन इन्फ्लूएंजा एक अत्यधिक संक्रामक वायरल बीमारी है, यह कोविड-19 की तुलना में ज्यादा घातक है। यह इन्फ्लूएंजा टाइप ए (Type A) वायरस के कारण होता है; यह आम तौर पर मुर्गियों, टर्की, बतख जैसे पक्षियों को प्रभावित करता है। हालांकि यह मनुष्यों और अन्य जानवरों को प्रभावित करने में भी सक्षम है। वर्ष 1997 में हांगकांग में एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस (H5N1)

यूवी-सी कीटाणुशोधान प्रौद्योगिकी

भारत सरकार, संसद परिसर तथा सार्वजनिक परिवहन के कुछ साधनों (एसी बस और ट्रेन) में यूवी-सी कीटाणुशोधन प्रौद्योगिकी (UV-C Disinfection Technology) प्रयोग करने की योजना पर विचार कर रही है। इस प्रौद्योगिकी के प्रयोग के माध्यम से वर्तमान कोविड-19 जैसी महामारियों की रोकथाम का प्रयास किया जाएगा। मुख्य बिंदुइस प्रौद्योगिकी को विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत सीएसआईआर-वैज्ञानिक उपकरण संगठन परिषद (CSIR-Council of Scientific Instruments Organization) द्वारा विकसित किया गया है। यूवी-सी कीटाणुशोधन प्रौद्योगिकी (UV-C Disinfection Technology) में 100 nm और 280 nm के बीच तरंग दैर्ध्य (Wavelength) का उपयोग किया जाता है। दशकों से अस्पतालों में हवा को कीटाणुरहित करने के

ट्रैफि़क जनित वायु प्रदूषण बच्चों के स्वास्थ्य पर प्रभाव

हाल ही में जॉर्ज वाशिंगटन विश्वविद्यालय द्वारा बाल अस्थमा (Children Asthma) पर किए एक शोध के अनुसार, यातायात से संबंधित वायु प्रदूषक (traffic-related air pollutants) के कारण वैश्विक स्तर पर बच्चों में अस्थमा के लगभग 2 मिलियन नए मामले सामने आए हैं। जॉर्ज वाशिंगटन विश्वविद्यालय द्वारा किया गया यह अध्ययन 5 जनवरी, 2022 को लैंसेट प्लेनेटरी हेल्थ (Lancet Planetary Health) नामक जर्नल में प्रकाशित किया गया। मुख्य बिंदु यातायात वाहनों द्वारा निस्सृत नाइट्रोजन डाइऑक्साइड (NO2) नामक गैस बच्चों को अस्थमा के खतरे में डालती है। खासकर शहरी क्षेत्रों में यह समस्या विकट है। वर्ष 2019 में वैश्विक स्तर पर NO2 के कारण 1.85

संक्षिप्तिकी

नासा एवं इसरो का निसार मिशन

हाल ही में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के अध्यक्ष द्वारा इसरो के भविष्य के मिशन के बारे में जानकारी प्रदान की गई। उनके अनुसार नासा और इसरो द्वारा ‘नासा-इसरो सिंथेटिक एपर्चर रडार उपग्रह’ (NASA-ISRO Synthetic Aperture Radar satellite) अर्थात ‘निसार’ (NISAR) मिशन को वर्ष 2023 में लॉन्च किया जाएगा। मुख्य बिंदुइसरो द्वारा निसार मिशन (NASA-ISRO SAR) के लिए एस-बैंड SAR पेलोड का विकास कर नासा को सुपुर्द किया जा चुका है। नासा द्वारा इस उपग्रह के लिए रडार, विज्ञान आंकड़ों हेतु हाई-रेट कम्युनिकेशन सब-सिस्टम, जीपीएस रिसीवर और डेटा सबसिस्टम पेलोड प्रदान किए जाएंगे। इसरो (ISRO) द्वारा स्पेसक्राफ्रट बस, दूसरे प्रकार के रडार

चीन की आर्टिफि़शियल मून रिसर्च फ़ैसिलिटी

हाल ही में चीन ने एक ‘कृत्रिम चंद्रमा अनुसंधान सुविधा केंद्र’ (Artificial Moon Research Facility) का निर्माण किया है। यह सुविधा केंद्र, चुंबकत्व का उपयोग करके गुरुत्वाकर्षण स्तर को कम करने में सक्षम है। इस अनुसंधान केंद्र को इस साल के अंत में आधिकारिक तौर पर लॉन्च किए जाने की योजना है। मुख्य बिंदु यह शोध केंद्र विश्व में अपनी तरह का पहला केंद्र होगा। इसकी कृत्रिम सतह चंद्रमा की तरह की चट्टानों और धूल से बनाई गई है। इस परियोजना का उद्देश्य, शक्तिशाली चुंबकीय क्षेत्रों का उपयोग करके, एक 60 सेमी के निर्वात कक्ष के भीतर, गुरुत्वाकर्षण को समाप्त करना है। यह शोध केंद्र

रोगाणुरोधी प्रतिरोध: वैश्विक स्तर पर मृत्यु का एक प्रमुख कारण

लैंसेट नामक जर्नल में हाल ही में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार रोगाणुरोधी प्रतिरोध (Antimicrobial Resistance-AMR) वैश्विक स्तर पर होने वाली अधिकांश मृत्युओं का एक प्रमुख कारण है। इसने इस सन्दर्भ में एड्स और मलेरिया को भी पीछे छोड़ दिया है। मुख्य बिंदु वर्ष 2019 में रोगाणुरोधी प्रतिरोध के कारण वैश्विक स्तर पर 1.27 मिलियन (कुल 4.95 मिलियन मौतों में) से अधिक लोगों की मौत हुई। यह मलेरिया और एड्स से मरने वालों की तुलना में अधिक है। इसी अवधि के दौरान, मलेरिया से होने वाली मौतों की संख्या 6,40,000 थी। वहीं एड्स से होने वाली मौतों की संख्या 8,60,000 थी। रोगाणुरोधी प्रतिरोध

न्यूज़ बुलेट

इन फोकस

नाभिकीय ऊर्जा: भविष्य की ऊर्जा सुरक्षा का आधार

कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने हाल ही यह जानकारी दी कि दिल्ली से 150 किलोमीटर दूर हरियाणा के गोरखपुर में एक परमाणु संयंत्र स्थापित किया जाएगा। साथ ही कोविड-19 महामारी के दौरान 9000 मेगावाट क्षमता वाले 12 अतिरिक्त नए नाभिकीय रिएक्टर निर्मित करने की भी स्वीकृति दी गई है। पूर्व में भारत द्वारा कुछ विशेष राज्यों में ही नाभिकीय ऊर्जा संयंत्र स्थापित किये गए थे। परन्तु वर्तमान में सरकार के द्वारा नाभिकीय संयंत्रें को अिखल भारतीय स्तर पर स्थापित करने की कोशिश की जा रही है। अवगत करा दें कि नाभिकीय ऊर्जा को बढ़ावा देने के सरकार

पर्यावरण एवं जैवविविधता

आपदा प्रबंधन

भारत का जलवायु जोखिम एवं भेद्यता एटलस

14 जनवरी, 2022 को भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के वैज्ञानिकों ने ‘भारत के जलवायु जोखिम और भेद्यता एटलस’ (Climate Hazards and Vulnerability Atlas of India) को जारी किया। इस एटलस को चरम जलवायु परिघटनाओं की स्थानीय आबादी पर पड़ने वाले प्रभाव के आधार पर तैयार किया गया है। मुख्य बिंदु वैज्ञानिकों ने यह एटलस अत्यधिक वर्षा, सूखा, शीत लहर, हीटवेव, धूल भरी आंधी, ओलावृष्टि, गरज, चक्रवात, बर्फबारी, बिजली, हवाएं और कोहरा सहित 14 चरम जलवायु परिघटनाओं के आधार पर तैयार किया है। इसमें प्रत्येक जिले की अर्थव्यवस्था पर इन चरम जलवायु परिघटनाओं द्वारा होने वाले जोखिमों को भी शामिल किया गया

वन्य जीव संरक्षण

वन्यजीव अधिनियम में परिवर्तन प्रस्तावित

हाल ही में केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय द्वारा ‘वन्यजीव अधिनियम’ में संशोधन करने की घोषणा की गई तथा लोकसभा में वन्यजीव (संरक्षण) संशोधन विधेयक, 2021 [The Wild Life (Protection) Amendment Bill, 2021] पेश किया गया। यह विधेयक 1972 के वन्यजीव अधिनियम में संशोधन करने का प्रस्ताव करता है। विधेयक के मुख्य बिंदुप्रस्तावित विधेयक वन्यजीव अपराधों के लिए जुर्माने की राशि में वृद्धि करता है। उदाहरण के लिए, जिन अपराधों के लिए अब तक 25,000 रुपये का जुर्माना लगता था, उन पर अब 1 लाख रुपये का जुर्माना लगेगा। विधेयक में लुप्तप्राय वन्यजीव तथा वनस्पति प्रजातियों के अंतरराष्ट्रीय व्यापार को विनियमित करने के लिए

जैव-विविधाता

पश्चिमी घाट में दो पादप प्रजातियों की खोज

हाल ही में शोधकर्ताओं ने केरल के ‘तिरुवनंतपुरम’ और ‘वायनाड’ जिलों में दो नई पादप प्रजातियों की खोज की है। केरल के ये क्षेत्र जैव विविधता संपन्न पश्चिमी घाट क्षेत्रों में स्थित हैं। इन पादप प्रजातियों का नाम ‘फिम्ब्रिस्टिलिस सुनिली’ (Fimbristylis Sunilii) और ‘नेनोटिस प्रभुई’ (Neanotis Prabhuii) रखा गया है। मुख्य बिन्दु तिरुवनंतपुरम में ‘पोनमुडी पहाडि़यों’ के घास के मैदानों में पायी जाने वाली ‘फिम्ब्रिस्टाइलिस सुनिली’ का नामकरण एक प्रख्यात पादप विज्ञानी सी-एन- सुनील के नाम पर किया गया है। इस नई खोजी गई पादप प्रजाति को IUCN रेड डेटा बुक में ‘अपर्याप्त विवरण’ (Data Deficient) श्रेणी में रखा गया है। ‘नेनोटिस प्रभुई’ प्रजाति को

योजना-परियोजना

पर्यावरण मंत्रालय की स्टार रेञटग प्रणाली

हाल ही में केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने पर्यावरणीय प्रभाव आकलन प्रक्रिया (Environmental Impact Assessment Process-EIA) में एक ‘स्टार-रेटिंग प्रणाली’ (Star Rating System) लागू करने का प्रस्ताव रखा है। इस पहल के द्वारा राज्य स्तरीय पर्यावरण समितियों को पारदर्शिता, दक्षता और जवाबदेही के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। स्टार रेटिंग सिस्टम से संबंधित मुख्य बिन्दु इस प्रणाली में राज्य पर्यावरण प्रभाव आकलन प्राधिकरण (State Environment Impact Assessment Authorities – SEIAA) को स्टार रेटिंग प्रदान की जाएगी। पिछले 6 महीनों में प्राधिकरण के प्रदर्शन के आधार पर यह रेटिंग प्रदान की जाएगी। स्टार रेटिंग प्रणाली के तहत सात या अधिक के स्कोर प्राप्त करने वाले

संक्षिप्तिकी

सफ़ेद गैंडों का दक्षिण अफ्रीका से रवांडा स्थानांतरण

हाल ही में बोइंग 747 चार्टर्ड विमान के माध्यम से 30 सफेद गैंडों (White Rhinoceros) को दक्षिण अफ्रीका से रवांडा स्थानांतरित किया गया। अवैध शिकार और इनकी कम आबादी पर बढ़ते खतरे के चलते इनका स्थानांतरण किया गया। यह सफेद गैंडों का अब तक का सबसे बड़ा एकल हस्तांतरण था। सफेद गैंडे के बारे मेंसफेद गैंडे का वैज्ञानिक नाम सेराटोथेरियम सिमम (Ceratotherium simum) है। ये गैंडे की सबसे बड़ी मौजूदा प्रजाति है। सफेद गैंडे को गैंडों की सभी प्रजातियों में सबसे अधिक सामाजिक माना जाता है। 2020 के नवीनतम IUCN आकलन के अनुसार, उत्तरी सफेद गैंडे को फ्गंभीर रूप से लुप्तप्रायय् या संभवतः

ओरंग राष्ट्रीय उद्यान का विस्तार

असम सरकार ने हाल ही में ओरंग राष्ट्रीय उद्यान (Orang National Park) का आकार बढ़ाने का फैसला किया है। इस अतिरिक्त भूमि के जुड़ने से गैंडों और कछुओं की 16 प्रजातियों को लाभ होगा। मुख्य बिंदुअसम सरकार, ओरंग राष्ट्रीय उद्यान में 278.82 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र को जोड़ेगी। जोड़े जाने वाले क्षेत्र में ब्रह्मपुत्र नदी और इसमें स्थित कुछ द्वीप भी शामिल हैं। जोड़े जाने वाले भूमि का खंड ओरंग और काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान के मध्य विभिन्न जीवों के लिए आवागमन मार्ग या गलियारे की तरह कार्य करता है। ऐसा इस राष्ट्रीय उद्यान में जीवों के संरक्षण के उद्देश्य के लिए किया जा

न्यूज़ बुलेट्स

लघु संचिका

चर्चित व्यक्ति/ नियुक्ति

वी अनंत नागेश्वरन: मुख्य आर्थिक सलाहकार

केंद्र सरकार ने 28 जनवरी, 2022 को वी अनंत नागेश्वरन को मुख्य आर्थिक सलाहकार नियुक्त किया है। इस नियुक्ति से पहले डॉ. नागेश्वरन एक लेखक, शिक्षक और सलाहकार के रूप में काम कर चुके हैं। उन्होंने भारत और सिंगापुर में कई बिजनेस स्कूलों और प्रबंधन संस्थानों में अध्यापन कार्य किया है। वह IFMR ग्रेजुएट स्कूल ऑफ बिजनेस के डीन थे और क्रेआ (Krea) विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र के प्रतिष्ठित विजिटिंग प्रोफेसर हैं। वे 2019 से 2021 तक भारत के प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद के अंशकालिक सदस्य भी रहे हैं। उन्होंने भारतीय प्रबंधन संस्थान, अहमदाबाद से प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा और

एस सोमनाथः इसरो के नये चेयरमैन

प्रख्यात रॉकेट वैज्ञानिक एस सोमनाथ को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) का चेयरमैन नियुक्त किया गया है। उन्होंने 14 जनवरी, 2022 को अपना पदभार ग्रहण किया। उन्हें अंतरिक्ष विभाग के सचिव और अंतरिक्ष आयोग के चेयरमैन के रूप में जिम्मेदारी सौंपी गई है। उनका तीन साल का कार्यकाल होगा। वे विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र (वीएसएससी) के निदेशक के रूप में कार्यरत थे। उन्होंने जनवरी 2018 में वीएसएससी के निदेशक के रूप में पदभार ग्रहण किया था। सोमनाथ ने टीकेएम कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, कोल्लम से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बी.टेक और इंडियन इंस्टीटड्ढूट ऑफ साइंस, बैंगलोर से एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में मास्टर्स किया

दिमितार कोवासेवस्की: उत्तर मैसेडोनिया के प्रधानमंत्री

उत्तर मैसेडोनिया में सांसदों ने 16 जनवरी, 2022 को दिमितार कोवासेवस्की को प्रधानमंत्री के रूप में चुना है। कोवासेवस्की ने जोरान जेव की जगह ली, जिन्होंने 31 अक्टूबर को इस्तीफा दे दिया। उत्तर मैसेडोनिया दक्षिण-पूर्व यूरोप का एक देश है। इसने 1991 में यूगोस्लाविया के उत्तराधिकारी राज्यों में से एक के रूप में स्वतंत्रता प्राप्त की। उत्तर मैसेडोनिया एक भू-आबद्ध देश है, जिसकी सीमा उत्तर पश्चिम में कोसोवो, उत्तर में सर्बिया, पूर्व में बुल्गारिया, दक्षिण में ग्रीस और पश्चिम में अल्बानिया से लगती है। स्कोप्जे देश की राजधानी और सबसे बड़ा शहर

शियोमारा कास्त्रों होंडुरस की पहली महिला राष्ट्रपति

वामपंथी ‘लिबर्टी एंड रिफाउंडेशन पार्टी’ की शियोमारा कास्त्रे ने 27 जनवरी, 2022 को होंडुरस की पहली महिला राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली है। 62 वर्षीया कास्त्रों ने अपराध और गरीबी से त्रस्त राष्ट्र को ‘समाजवादी और लोकतांत्रिक राज्य’ में सुधार करने की प्रतिज्ञा की है। होंडुरस, मध्य अमेरिका का एक देश है। होंडुरस की सीमा पश्चिम में ग्वाटेमाला, दक्षिण-पश्चिम में अल सल्वाडोर, दक्षिण-पूर्व में निकारागुआ, दक्षिण में प्रशांत महासागर से फोन्सेका की खाड़ी में और उत्तर में होंडुरस की खाड़ी से लगती है। इसकी राजधानी और सबसे बड़ा शहर तेगुसिगाल्पा (Tegucigalpa) है। चर्चित व्यक्ति फातिमा शेख गूगल ने 9 जनवरी, 2022 को शिक्षक और

निधन

पुरस्कार/सम्मान

तीसरा राष्ट्रीय जल पुरस्कार-2020

केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने 7 जनवरी, 2022 को ‘तीसरे राष्ट्रीय जल पुरस्कार-2020’ (3rd National Water Awards-2020) की घोषणा की। सर्वश्रेष्ठ राज्य श्रेणी में, उत्तर प्रदेश को प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया है, इसके बाद राजस्थान और तमिलनाडु का स्थान है। मंत्रालय द्वारा 2018 में राष्ट्रीय जल पुरस्कारों की शुरुआत की गई थी। इस वर्ष, 11 विभिन्न श्रेणियों में कुल 57 पुरस्कारों की घोषणा की गई। अन्य प्रमुख विजेताओं की सूची- सर्वश्रेष्ठ जिला -उत्तर क्षेत्रःमुजफ्फरनगर (उत्तर प्रदेश) सर्वश्रेष्ठ जिला - दक्षिण क्षेत्रः तिरुवनंतपुरम (केरल) सर्वश्रेष्ठ जिला - पूर्वी क्षेत्रःपूर्वी चंपारण (बिहार) सर्वश्रेष्ठ जिला - पश्चिम क्षेत्रः इंदौर (मध्य प्रदेश) सर्वश्रेष्ठ जिला - पूर्वोत्तर क्षेत्रः

79वें गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स

10 जनवरी, 2022 को 79वें गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स की घोषणा की गई है। ये पुरस्कार ‘हॉलीवुड फॉरेन प्रेस एसोसिएशन’ द्वारा प्रदान किए जाते हैं। सर्वश्रेष्ठ मोशन पिक्चर (ड्रामा): द पावर ऑफ द डॉग सर्वश्रेष्ठ फिल्म (म्यूजिकल या कॉमेडी): वेस्ट साइड स्टोरी सर्वश्रेष्ठ निर्देशक (मोशन पिक्चर): जेन कैंपियन (द पावर ऑफ द डॉग) मोशन पिक्चर (ड्रामा) में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्रीः निकोल किडमैन (बीइंग द रिकार्डो) मोशन पिक्चर (म्यूजिकल या कॉमेडी) में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्रीः राशेल जेग्लर (वेस्ट साइड स्टोरी) सर्वश्रेष्ठ फिल्म (गैर-अंग्रेजी भाषा): ड्राइव माई कार (जापानी फिल्म) सर्वश्रेष्ठ मोशन पिक्चर (एनिमेटेड): एनकांटो

राष्ट्रीय नृत्य शिरोमणि पुरस्कार 2022

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त कुचिपुड़ी नृत्यांगना अपर्णा सतीसन को वैश्विक स्तर पर कुचिपुड़ी के क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए जनवरी 2022 में प्रतिष्ठित ‘राष्ट्रीय नृत्य शिरोमणि पुरस्कार 2022’ से सम्मानित किया गया है। उन्हें 7 दिवसीय अंतरराष्ट्रीय शास्त्रीय और लोक नृत्य महोत्सव ‘13वें कटक महोत्सव’ में सम्मानित किया गया। यह आयोजन उत्कल युवा सांस्कृतिक संघ, ओडिशा द्वारा आयोजित किया जाता है। राष्ट्रीय नृत्य शिरोमणि पुरस्कार भारत और विदेशों के उत्कृष्ट नृत्य कलाकारों और संगीतकारों को भारत के पारंपरिक शास्त्रीय कला रूपों को बढ़ावा देने और संरक्षित करने के लिए दिया जाता है। अपर्णा सतीसन गुरु वैजयंती काशी

स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार 2021-22

शिक्षा राज्य मंत्री सुभाष सरकार ने 12 जनवरी, 2022 को ‘स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार 2021-22’ का शुभारंभ किया। स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार उन विद्यालयों को मान्यता, प्रेरणा और पुरस्कार प्रदान करता है, जिन्होंने जल, स्वच्छता और स्वास्थ्यकारिता (hygiene) के क्षेत्र में अनुकरणीय कार्य किया हो। ‘स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग’ ने स्वच्छता के बारे में आत्म-प्रेरणा और जागरूकता पैदा करने के लिए स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार को पहली बार 2016-17 में शुरू किया था। स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार 2021-22 में ग्रामीण और शहरी, दोनों क्षेत्रों में सभी श्रेणियों के विद्यालय यानी सरकारी, सरकारी सहायता प्राप्त और निजी विद्यालय हिस्सा ले सकते हैं। मानदंडः विद्यालयों

गणतंत्र दिवस पर वीरता पुरस्कार

राष्ट्रपति ने 73वें गणतंत्र दिवस समारोह की पूर्व संध्या पर सशस्त्र बलों के कर्मियों और अन्य को 384 वीरता और अन्य रक्षा अलंकरण पुरस्कारों की स्वीकृति दी है। राजपूताना राइफल्स की चौथी बटालियन के टोक्यो 2020 के स्वर्ण पदक विजेता सूबेदार नीरज चोपड़ा को परम विशिष्ट सेवा पदक (पीवीएसएम) से सम्मानित किया जाएगा, जो आमतौर पर विशिष्ट सेवा के लिए थ्री-स्टार अधिकारियों को दिया जाता है। 6 सैन्य कर्मियों, जिनमें से पांच को, मरणोपरांत शौर्य चक्र के लिए चुना गया है, जो तीसरा सर्वोच्च शांतिकालीन वीरता पुरस्कार है। मरणोपरांत शौर्य चक्र से सम्मानित पांच कर्मियों में 17 मद्रास रेजीमेंट के

चर्चित पुस्तक

अभियान/सम्मेलन/आयोजन

कला उत्सव 2021

डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से 1 से 12 जनवरी, 2022 तक ‘कला उत्सव 2021’ आयोजित किया गया। महत्वपूर्ण तथ्यः कला उत्सव 2021 की प्रतिस्पर्धाओं में कला की कुल नौ विधायें थीं, जिनमें 1- संगीत गायन-शास्त्रीय, 2. संगीत गायन-पारंपरिक लोक गायन, 3. संगीत वाद्य-शास्त्रीय, 4. संगीत वाद्य -पारंपरिक लोक संगीत, 5. नृत्य-शास्त्रीय, 6. नृत्य-लोक, 7. दृश्य कला दो आयामी, 8. दृश्य कला तीन आयामी, 9. स्वदेशी खिलौने और खेल शामिल थे। ‘राष्ट्रीय कला उत्सव’ को प्रधानमंत्री के नेतृत्व में शिक्षा मंत्रालय के अधीनस्थ राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद् तथा स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग ने 2015 में शुरू किया

खेल परिदृश्य

क्रिकेट

आईसीसी पुरस्कार 2021

जनवरी 2022 में आईसीसी पुरस्कार-2021 के विजेताओं की घोषणा की गई। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने भारतीय सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना को ‘आईसीसी महिला क्रिकेटर ऑफ द ईयर 2021 के लिए राचेल हेहो फ्लंट ट्रॉफी’ का विजेता घोषित किया। उन्हें इससे पहले 2018 में भी इस पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। अन्य विजेता आईसीसी पुरुष टेस्ट क्रिकेटर ऑफ द इयरः जो रूट (इंग्लैंड) ICC पुरुष एकदिवसीय क्रिकेटर ऑफ द इयरः बाबर आजम (पाकिस्तान); आईसीसी महिला एकदिवसीय क्रिकेटर ऑफ द इयरः लिजेल ली (दक्षिण अफ्रीका) आईसीसी पुरुष T20I क्रिकेटर ऑफ द इयरः मोहम्मद रिजवान (पाकिस्तान) आईसीसी महिला T20I क्रिकेटर ऑफ द इयरः टैमी ब्यूमोंट (इंग्लैंड) आईसीसी उदीयमान

फुटबॉल

बेस्ट फ़ीफ़ा फ़ुटबॉल अवॉर्ड्स 2021

17 जनवरी, 2022 को बेस्ट फीफा फुटबॉल अवॉर्ड्स 2021 (The Best FIFA Football Awards 2021) समारोह वर्चुअल टीवी शो के माध्यम से ज्यूरिऽ में आयोजित किया गया। बायर्न म्यूनिऽ के पोलैंड के स्ट्राइकर ‘रॉबर्ट लेवांडोव्स्की’ ने 2021 के लिए ‘फीफा सर्वश्रेष्ठ पुरुष खिलाड़ी का पुरस्कार’ जीता, जबकि बार्सिलोना की स्पेनिश मिडफील्डर ‘एलेक्सिया पुटेलास’ ने ‘फीफा सर्वश्रेष्ठ महिला खिलाड़ी का पुरस्कार’ जीता। लेवांडोव्स्की ने लगातार दूसरे वर्ष यह पुरस्कार जीता। 27 वर्षीय पुटेलास ने बार्सिलोना की महिला टीम को स्पेनिश लीग और यूईएफए चैंपियंस लीग में जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई। कनाडा के लिए 308 मैचों में 188 गोल के साथ क्रिस्टीन सिंक्लेयर

बैडमिंटन

योनेक्स-सनराइज इंडिया ओपन बैडमिंटन 2022

16 जनवरी, 2022 को नई दिल्ली में पुरुष एकल में लक्ष्य सेन और पुरुष युगल में सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी ने ‘योनेक्स-सनराइज इंडिया ओपन बैडमिंटन 2022’ का खिताब जीत लिया है। योनेक्स-सनराइज इंडिया ओपन 2022 केडी जाधव इंडोर हॉल, नई दिल्ली में 11 से 16 जनवरी, 2022 तक खेला गया। अन्य परिणाम महिला एकलः विजेता- बुसानन ओंगबामरुंगफान (थाईलैंड); उपविजेता- सुपनिदा कटेथोंग (थाईलैंड)। महिला युगलः विजेता- बेन्यापा एम्सार्ड और नुंतकर्ण एम्सार्ड (दोनों थाईलैंड); उपविजेता- अनास्तासिया अक्चुरिना और ओल्गा मोरोजोवा (दोनों रूस)। मिश्रित युगलः विजेता- ही योंग काई टेरी और टैन वेई हान (दोनों सिंगापुर); उपविजेता- चेन टैंग जी और पेक येन वेई (दोनों

चर्चित खेल व्यक्तित्व

राज्यनामा

गुजरात

छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ रोजगार मिशन

छत्तीसगढ़ सरकार ने अगले पांच वर्षों में राज्य में लगभग 15 लाख रोजगार के अवसर पैदा करने के उद्देश्य से 23 जनवरी, 2022 को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में एक रोजगार मिशन स्थापित करने का निर्णय लिया है। उद्योगों और बाजार की मांग के अनुसार युवाओं को रोजगार के लिए तैयार किया जाएगा तथा उन्हें प्रशिक्षण देकर विभिन्न ट्रेडों में दक्ष बनाया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित ‘ग्रामीण औद्योगिक पार्क’ में बाजार की मांग के अनुसार उत्पादन किया जाएगा। राज्य में रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए राज्य सरकार भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT), भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी

ओडिशा

गंजम जिला बाल विवाह मुक्त घोषित

3 जनवरी, 2022 को ओडिशा के गंजम जिले को ‘बाल विवाह मुक्त’ जिला घोषित किया गया। गंजम बाल विवाह मुक्त होने वाला राज्य में पहला जिला है। जिला प्रशासन दो साल (2020-2021) में 450 बाल विवाह को रोकने और 48,383 विवाहों की वीडियो-रिकॉर्डिंग करने में सक्षम रहा। जिला प्रशासन ने सितंबर 2019 में किशोरों के सशक्तिकरण और बाल विवाह को रोकने के लिए एक अभिनव जागरूकता अभियान कार्यक्रम ‘निर्भया कढ़ी’ (Nirbhaya Kadhi) शुरू किया। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और मान्यता प्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं (आशा) ने किशोरियों को शिक्षित करने के लिए हर महीने बाल विवाह के दुष्परिणामों के बारे में

केरल

देश का पहला ग्राफ़ीन इनोवेशन सेंटर

डिजिटल यूनिवर्सिटी केरल (DUK) द्वारा जल्द ही ‘देश का पहला ग्राफीन इनोवेशन सेंटर’ (Country's first graphene innovation centre) स्थापित किया जाएगा। विश्वविद्यालय ने राज्य में ग्राफीन के लिए इंडिया इनोवेशन सेंटर स्थापित करने के लिए सेंटर फॉर मैटेरियल्स फॉर इलेक्ट्रॉनिक्स टेक्नोलॉजी (सी-मेट), त्रिशूर के साथ समझौता किया है। इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने इस संबंध में 86-41 करोड़ रुपए की इस परियोजना को मंजूरी दी है। यह केंद्र छात्रों, शोधकर्ताओं, स्थापित उद्योगों और नवोदित स्टार्ट-अप को नवीन उत्पादों के साथ परीक्षण और प्रयोग करने का अवसर प्रदान करेगा। टाटा स्टील लिमिटेड केंद्र का औद्योगिक भागीदार होगा। यह पहल ग्राफीन अकादमिक अनुसंधान और औद्योगिक अनुप्रयोगों

आंध्र प्रदेश

मिजोरम

दक्षिण मौबुआंग बना मिजोरम का पहला ओडीएफ़ प्लस गांव

जनवरी 2022 में मिजोरम में आइजोल जिले के ऐबाक प्रखंड के दक्षिण मौबुआंग गांव को आदर्श ओडीएफ प्लस गांव (यानी खुले में शौच से मुक्त ऐसा गांव जहां ठोस और तरल अपशिष्ट प्रबंधन की पूरी व्यवस्था की गई हो) घोषित किया गया है। दक्षिण मौबुआंग ने स्वच्छ भारत मिशन- ग्रामीण चरण II के दिशा-निर्देशों के अनुसार सभी मानदंडों को पूरा किया है। गांव के सभी तीन स्कूलों और दो आंगनवाड़ी केंद्रों में शौचालय की अच्छी व्यवस्था है। स्कूल में लड़के और लड़कियों के लिए अलग-अलग सुविधाएं हैं। 2021 में, गांव को 5 लाख रुपये के राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार से सम्मानित

सामाजिक परिदृश्य

सामाजिक न्याय

हाथ से मैला ढोने की प्रथा को समाप्त करना

दिसंबर 2021 में सरकार ने लोकसभा में एक लिखित प्रश्न के जवाब में संसद को सूचित किया कि वह कानून के तहत निर्धारित परिभाषा के अनुसार ‘हाथ से मैला ढोने’ (Manual scavenging) के उन्मूलन के लक्ष्य को प्राप्त करने में सक्षम है। मैन्युअल स्केवेंजिंग की प्रथा: प्रचलन के कारण शासन स्तर पर उदासीन रवैयाः अनेक स्वतंत्र सर्वेक्षण यह प्रदर्शित करते हैं कि वर्ष 2013 में इस संदर्भ में व्यापक कानून आने के बावजूद राज्य सरकारों ने इस प्रथा को समाप्त करने की दिशा में ठोस कदम नहीं उठाए हैं। आउटसोर्सिंग के कारण उत्पन्न समस्याएं: अनेक बार स्थानीय निकाय सीवर का सफाई कार्य निजी

पदोन्नति में आरक्षण

जनवरी 2022 में अपने एक निर्णय में सर्वोच्च न्यायालय (SC) ने सरकारी नौकरियों में अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के लिये पदोन्नति में आरक्षण देने हेतु प्रतिनिधित्व की अपर्याप्तता का निर्धारण करने के लिये मापदंड तय करने से इनकार कर दिया। न्यायालय का यह फैसला देश भर में दाखिल उन याचिकाओं पर दिया गया है, जिनमें पदोन्नति में आरक्षण देने के तौर-तरीकों पर और स्पष्टता की मांग की गई थी। पृष्ठभूमि पदोन्नति में आरक्षणः 1950 के दशक से केंद्र और राज्य सरकारें अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति समुदायों के पक्ष में पदोन्नति में सीटें आरक्षित करने की नीति का पालन कर रही हैं।

सामाजिक मुद्दे

हेट स्पीचः अर्थ तथा कानूनी प्रावधान

12 जनवरी, 2022 को भारत के सर्वोच्च न्यायालय ने ‘हरिद्वार धर्म संसद’ के आयोजकों और वक्ताओं के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग करने वाली याचिकाओं पर सुनवाई के लिए सहमति प्रदान की। हेट स्पीच क्या है?भारत में वर्तमान समय तक ‘हेट स्पीच’ की कोई विशिष्ट कानूनी परिभाषा नहीं है। vभारत के विधि आयोग ने अपनी 267वीं रिपोर्ट में कहा है कि हेट स्पीच के अंतर्गत सामान्य रूप से नस्ल, जातीयता, लिंग, यौन अभिविन्यास, धार्मिक विश्वास तथा अन्य संदर्भ में व्यक्तिगत अथवा सामूहिक भावनाओं के खिलाफ की गई टिप्पणी शामिल है। vसामान्य तौर पर, हेट स्पीच को भाषण की एक ऐसी सीमा माना

अति संवेदनशील वर्ग

अति संवेदनशील वर्गों पर जलवायु परिवर्तन के प्रभाव

संयुत्तफ़ राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) के कार्यकारी निदेशक इंगर एंडरसन ने हाल ही में ‘थॉमसन रॉयटर्स फाउंडेशन’ द्वारा आयोजित एक सम्मेलन में कहा कि वर्ष 2022 जलवायु परिवर्तन के दृष्टिकोण से ‘आपातकालीन स्थिति’ का सामना कर सकता है। उन्होंने बताया कि जलवायु परिवर्तन के प्रभावों से निपटने के लिए किये गए उपायों के तहत विभिन्न देशों द्वारा जीवाश्म ईंधन सब्सिडी को चरणबद्ध तरीके से समाप्त किए जाने से समाज के कमजोर या अति संवेदनशील वर्गों (Vulnerable Sections of Society) के आर्थिक रूप से प्रभावित होने की संभावना है। अगस्त 2018 में केरल में आई भीषण बाढ़ के प्रभावों को रेखांकित करते हुए

अधिकार संबंधी मुद्दे

इच्छा मृत्यु: जीवन का अधिकार बनाम मृत्यु का अधिकार

जनवरी 2022 में कोलंबिया में एक व्यक्ति को लाइलाज बीमारी से पीडि़त होने के बिना भी इच्छा मृत्यु (Euthanasia) प्राप्त करने का अधिकार प्रदान किया गया। इसके बाद, वैश्विक स्तर पर जीवन के अधिकार बनाम मृत्यु के अधिकार पर तीव्र बहस आरंभ हो गई। इच्छा मृत्यु को मर्सी किलिंग के रूप में भी जाना जाता रहा है। इसके अंतर्गत किसी भी व्यक्ति को दर्द रहित मौत प्रदान करने के लिए चिकित्सकीय परामर्श के अनुसार उसकी चिकित्सा सुविधाओं को हटाना शामिल किया जाता है। इच्छा मृत्यु के संदर्भ में कानूनी प्रावधानभारतीय संविधान का अनुच्छेद 21 जीवन के अधिकार से संबंधित है। ‘महाराष्ट्र

चकमा और हाजोंग समुदायों के समक्ष मानवाधिाकार संबंधी चुनौतियां

जनवरी 2022 में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) ने अपने एक आदेश में गृह मंत्रालय और अरुणाचल प्रदेश सरकार को राज्य से चकमा और हाजोंग समुदाय के लोगों की कथित नस्लीय प्रोफाइलिंग और स्थानांतरण के खिलाफ 6 सप्ताह के अंदर कार्रवाई रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। साथ ही, आयोग ने गृह मंत्रालय और अरुणाचल प्रदेश सरकार दोनों को “यह सुनिश्चित करने हेतु निर्देशित किया है कि चकमा एवं हाजोंग लोगों के मानवाधिकार सभी तरीकों से सुरक्षित हों।” पृष्ठभूमिवर्ष 2015 में सर्वोच्च न्यायालय ने राज्य को चकमा और हाजोंग लोगों को नागरिकता देने का निर्देश दिया था, लेकिन इसे अभी तक पूर्ण रूप

स्वास्थ्य

परियोजना निरामयः राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन

जनवरी 2022 में असम राज्य ने पिरामल स्वास्थ्य संगठन तथा सिस्को संस्था के सहयोग से राज्य में सार्वजनिक स्वास्थ्य देखभाल वितरण को मजबूत करने के लिए ‘निरामय’ (Niramay) नामक परियोजना आरंभ की। इसके अंतर्गत डिजिटल स्वास्थ्य प्रौद्योगिकी के एकीकरण को बढ़ावा दिया जाएगा। यह राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के उद्देश्यों को प्राप्त करने हेतु असम राज्य में सार्वजनिक स्वास्थ्य वितरण को मजबूत करने की दिशा में एक कदम है। यह पहल पिरामल स्वास्थ्य संगठन के स्वदेशी एकीकृत स्वास्थ्य प्रौद्योगिकी मंच ‘अमृत’ (एकीकृत प्रौद्योगिकियों के माध्यम से सुलभ चिकित्सा रिकॉर्ड) पर आधारित है। उद्देश्य और आवश्यकताकोविड-19 महामारी ने एक मजबूत सार्वजनिक स्वास्थ्य वितरण प्रणाली के

शिक्षा

प्रौद्योगिकी हेतु राष्ट्रीय शैक्षिक गठबंधान (NEAT) 3-0

केंद्रीय शिक्षा मंत्री और कौशल विकास मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने 3 जनवरी, 2022 को क्षेत्रीय भाषाओं में ‘प्रौद्योगिकी हेतु राष्ट्रीय शैक्षिक गठबंधन 3-0’ (National Educational Alliance for Technology: NEAT 3.0) का शुभारंभ किया। यह देश के छात्रों को सर्वोत्तम विकसित एड-टेक (शिक्षा प्रौद्योगिकी) समाधान और पाठड्ढक्रम प्रदान करने के लिए एक एकल मंच है। प्रौद्योगिकी हेतु राष्ट्रीय शैक्षिक गठबंधन (NEAT), शिक्षा क्षेत्र में सर्वोत्तम विकसित तकनीकी समाधानों का उपयोग करने के लिए शिक्षार्थियों की सुविधा के लिए एक मंच पर युवाओं की रोजगार क्षमता को बढ़ाने के लिए एक पहल है। पृष्ठभूमिशिक्षा मंत्रालय ने देशभर में सरकार तथा शैक्षिक प्रौद्योगिकी कंपनियों के मध्य

संक्षिप्तिकी

NEET प्रवेश परीक्षा में आरक्षण

जनवरी 2022 में सुप्रीम कोर्ट ने स्नातक तथा परास्नातक मेडिकल पाठड्ढक्रमों के लिए NEET अिखल भारतीय कोटा (AIQ) सीटों में अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) को 27% कोटा प्रदान करने की संवैधानिक वैधता को बरकरार रखा है। पृष्ठभूमि सरकार ने नीट काउंसलिंग से पूर्व ओबीसी/ईडब्ल्यूएस कोटा को लागू किए जाने से संबंधित निर्णय लिया। NEET परास्नातक स्तर के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को सीट मैट्रिक्स के वितरण के संदर्भ में कोई जानकारी प्रदान नहीं की गई थी। काउंसलिंग सत्र शुरू होने के बाद ही काउंसलिंग अथॉरिटी द्वारा ऐसी जानकारी दी जाती है। आरक्षण के पक्ष में तर्क सर्वोच्च न्यायालय ने माना है कि

न्यूज़ बुलेट्स

स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार (SVP) 2021-22

12 जनवरी, 2022 को केंद्रीय राज्य शिक्षा मंत्री ने वर्ष 2021-22 के लिए स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार की शुरुआत की। स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार ऐसे स्कूलों को पुरस्कृत करके मान्यता देने एवं प्रेरित करने में मदद करता है जो जल तथा स्वच्छता संबंधी मामलों में अनुकरणीय कार्य प्रदर्शित करते हैं। स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार वर्ष 2016-17 में स्वच्छता पर आत्म-प्रेरणा और जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से स्थापित किया गया था। इसकी स्थापना स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग द्वारा की गई थी। वर्ष 2021-22 के लिए इस पुरस्कार प्रतियोगिता में ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में सरकारी, सरकारी सहायता प्राप्त तथा निजी स्कूलों

जिला सुशासन सूचकांक

26 जनवरी, 2022 को देश के गृहमंत्री ने जिला सुशासन सूचकांक (District Good Governance Index) जारी किया। यह सूचकांक जम्मू एवं कश्मीर राज्य के लिए जारी किया गया है। इसे प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग द्वारा तैयार किया गया था।सूचकांक में शीर्ष पांच जिलों में जम्मू, डोडा, सांबा, पुलवामा और श्रीनगर हैं। यह सूचकांक 58 संकेतकों और 116 डेटा बिंदुओं का उपयोग करके तैयार किया गया है। इसमें कृषि, वाणिज्य, नागरिक सुरक्षा सार्वजनिक स्वास्थ्य पर्यावरण जैसे सूचक शामिल हैं। इस रैंकिंग से जनपदों के मध्य स्वस्थ प्रतिस्पर्धा में वृद्धि होगी। यह सूचकांक उपयोगी जानकारी प्रदान करता है और जिला

विरासत एवं संस्कृति

व्यक्तित्व

तमिल कवि एवं दार्शनिकः संत तिरुवल्लुवर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 जनवरी, 2022 को ‘तिरुवल्लुवर दिवस’ (Thiruvalluvar Day) के अवसर पर प्रसिद्ध तमिल कवि और दार्शनिक-संत तिरुवल्लुवर (Thiruvalluvar) को श्रद्धांजलि दी। vतमिल कवि और दार्शनिक तिरुवल्लुवर की जयंती के उपलक्ष्य में ही ‘तिरुवल्लुवर दिवस’ मनाया जाता है। तिरुवल्लुवर कौन थे?तिरुवल्लुवर तमिल संस्कृति में एक सम्मानित व्यक्ति हैं। तिरुवल्लुवर को तमिलों द्वारा एक प्राचीन संत, कवि और दार्शनिक के रूप में सम्मानित किया जाता है, भले ही उनका धर्म कुछ भी हो। संगम काल के तमिल कवि मामुलानार (Mamulanar) ने उल्लेख किया है कि तिरुवल्लुवर सबसे महान तमिल विद्वान थे। प्रसिद्ध तमिल कवि और दार्शनिक-संत तिरुवल्लुवर के बारे में ऐसा माना

स्वामी विवेकानंद: जीवन परिचय एवं योगदान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 जनवरी, 2022 को स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda) की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। स्वामी विवेकानंद ने योग और वेदांत के दर्शन को पश्चिम तक ले जाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। विशेष रूप से उन्हें 1893 में शिकागो में आयोजित विश्व धर्म संसद में अपने भाषण के लिए जाना जाता है। उनके जन्मदिन को राष्ट्रीय युवा दिवस (National Youth Day) के रूप में मनाया जाता है। जीवन परिचय19वीं शताब्दी के उत्तरार्ध के प्रसिद्ध हिंदू आध्यात्मिक नेता स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी, 1863 को कोलकाता में हुआ था। उनका मूल नाम नरेंद्र नाथ दत्त था। वर्ष 1893

उत्सव एवं पर्व

मंदिर एवं स्मारक

विरासत स्थल एवं स्मारक

यूनेस्को वेबसाइट में भारतीय धारोहर स्थलों के विवरण हिंदी में

यूनेस्को का विश्व विरासत केंद्र (World Heritage Center) अपनी वेबसाइट पर भारत के धरोहर स्थलों के हिंदी विवरण को प्रकाशित करने के लिए सहमत हो गया है। यानी अब यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज सेंटर की वेबसाइट पर भारत के विश्व धरोहर स्थलों के विवरण हिंदी में भी दर्शाए जाएंगे। यूनेस्को में भारत के स्थायी प्रतिनिधिमंडल ने 10 जनवरी, 2022 को विश्व हिंदी दिवस के अवसर पर यह घोषणा की। विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी, 1975 को नागपुर में आयोजित प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन को चिन्हित करने के लिए प्रत्येक वर्ष 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस (World Hindi Day) के रूप में मनाया जाता

संक्षिप्तिकी

कला कुंभ नामक पहल का आयोजन

नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट (NGMA) की ‘कला कुंभ’ (Kala Kumbh) नामक अनूठी पहल के तहत बनाई गई आजादी के गुमनाम नायकों की विशाल स्क्रोल पेंटिंग्स (Scroll Paintings) को 73वें गणतंत्र दिवस की परेड में प्रदर्शित करने के लिए राजपथ पर लगाया गया। राजपथ के दोनों ओर सुशोभित इन शानदार स्क्रॉल पेंटिंग्स में विस्मयकारी दृश्य प्रस्तुत किये गए। विभिन्न क्षेत्रों के स्थानीय कलाकारों द्वारा चित्रित इन शानदार स्क्रॉल्स के माध्यम से स्वतंत्रता संग्राम के गुमनाम नायकों की वीरता की कहानियों को चित्रित किया गया। कला कुम्भ, भारत के स्वतंत्रता आंदोलन के गुमनाम नायकों की वीरता की कहानियों का प्रतिनिधित्व करने वाली

तमिलनाडु की स्वतंत्रता सेनानी रानी वेलु नचियार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 3 जनवरी, 2021 को तमिलनाडु की स्वतंत्रता सेनानी रानी वेलू नचियार (Rani Velu Nachiyar) की 292वीं जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी। रानी वेलु नचियाररानी वेलु नचियार (3 जनवरी, 1730 – 25 दिसंबर, 1796) तमिलनाडु के शिवगंगई जिले की 18वीं सदी की रानी थीं, जिन्हें ब्रिटिश औपनिवेशिक सत्ता के खिलाफ लड़ाई लड़ने वाली पहली रानी के रूप में जाना जाता है। उन्हें तमिल लोग ‘वीरमंगई’ (Veeramangai) के नाम से जानते हैं। वह रामनाथपुरम की राजकुमारी थी। वह रामनाद साम्राज्य के राजा चेल्लामुथु विजयरागुनाथ सेतुपति और रानी सकंधिमुथल की इकलौती संतान थीं। रानी वेलु नचियार को युद्ध में हथियारों के उपयोग, वलारी,

न्यूज बुलेट्स