अरुणाचल प्रदेश ने दर्ज किया सर्वश्रेष्ठ लिंगानुपात


नवंबर 2020 में भारत के महापंजीयक (Registrar-General of India) द्वारा जारी 'नागरिक पंजीकरण प्रणाली पर आधारित भारत के महत्वपूर्ण आंकड़े' रिपोर्ट 2018 के अनुसार अरुणाचल प्रदेश ने देश में सर्वश्रेष्ठ लिंगानुपात दर्ज किया, जबकि मणिपुर ने सबसे खराब लिंगानुपात दर्ज किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: जन्म के समय लिंगानुपात (Sex ratio at birth) प्रति हजार पुरुषों पर पैदा होने वाली महिलाओं की संख्या है।

  • सर्वश्रेष्ठ लिंगानुपात अरुणाचल प्रदेश (1,084) ने दर्ज किया, उसके बाद नागालैंड (965) मिजोरम (964), केरल (963) और कर्नाटक (957) हैं।
  • सबसे खराब लिंगानुपात मणिपुर (757), लक्षद्वीप (839) और दमन और दीव (877), पंजाब (896) और गुजरात (896) ने दर्ज किया गया।
  • दिल्ली में लिंगानुपात 929, हरियाणा में 914 और जम्मू और कश्मीर में 952 दर्ज किया गया।
  • यह अनुपात 30 राज्यों और केंद्र-शासित प्रदेशों द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के आधार पर निर्धारित किया गया था। छ: राज्यों बिहार, झारखंड, महाराष्ट्र, सिक्किम, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल से अपेक्षित जानकारी उपलब्ध नहीं हो पाई।
  • 2018 में पंजीकृत जन्मों की संख्या बढ़कर 2.33 करोड़ हो गई, जो इससे पिछले वर्ष 2.21 करोड़ थी।
  • जन्म या मृत्यु के पंजीकरण के लिए निर्धारित समय सीमा 21 दिन है।