Chronicle English Books  2022 for Mains

टैंक-रोधी हथियार 'एटी-4'


स्वीडन की रक्षा उपकरण निर्माता कंपनी 'साब' (Saab) ने 20 जनवरी, 2022 को कहा कि उसने भारतीय सशस्त्र बलों को टैंक-रोधी हथियार 'एटी-4' (AT4) की आपूर्ति के लिए एक अनुबंध किया है।

(Image Source: https://morningexpress.in/)

महत्वपूर्ण तथ्य: भारतीय थल सेना और भारतीय वायुसेना द्वारा एटी-4 का उपयोग किया जाएगा।

  • भारतीय सशस्त्र बल एटी-4 के नए ग्राहक हैं। इस आदेश में AT4CS AST शामिल है, जिसे अंदर की इमारतों, बंकरों और अन्य शहरी परिवेशों जैसे सीमित स्थानों से दागा जा सकता है।
  • इसका वजन लगभग 9 किलोग्राम है और इसकी प्रभावी सीमा 200 मीटर है।
  • एटी-4 सिस्टम को दुनिया भर में युद्ध के लिए प्रामाणिक रूप से सक्षम माना जाता है। ये हल्के, एकल शॉट वाले तथा उपयोग करने और संभालने में आसान है।
  • एकल सैनिक द्वारा संचालित, इस सिंगल-शॉट सिस्टम ने लैंडिंग क्राफ्ट, हेलीकॉप्टर, बख्तरबंद वाहनों और कर्मियों के खिलाफ प्रभावशीलता साबित की है और इसका 84 मिमी कैलिबर वॉरहेड बढ़ी हुई क्षमता प्रदान करता है।
  • भारतीय सेना पहले से ही साब कंपनी द्वारा निर्मित 'कार्ल-गुस्ताफ हथियार प्रणाली' (Carl-Gustaf system) का उपयोग करती है।