असमानता घटाने की प्रतिबद्धता सूचकांक 2020


धर्मार्थ संगठनों के अंतरराष्ट्रीय संघ ‘ऑक्सफेम इंटरनेशनल’ द्वारा 'डेवलपमेंट फाइनेंस इंटरनेशनल' के साथ साझेदारी में 8 अक्टूबर, 2020 को 'असमानता घटाने की प्रतिबद्धता सूचकांक 2020' [Commitment to Reducing Inequality (CRI) Index 2020] जारी किया गया।

महत्वपूर्ण तथ्य: सूचकांक में शामिल 158 देशों में से महामारी से पहले केवल 26 देश ही स्वास्थ्य पर अपने बजट का अनुशंसित 15 प्रतिशत खर्च कर रहे थे।

  • 103 देशों में कम से कम तीन श्रमिकों में बुनियादी श्रम अधिकारों और सुरक्षा का अभाव था, जैसे बीमारी वेतन आदि।
  • सूचकांक में नॉर्वे शीर्ष स्थान पर है। इसके बाद डेनमार्क दूसरे, जर्मनी तीसरे, बेल्जियम चौथे और फिनलैंड पांचवें स्थान पर है।
  • सूचकांक में अंतिम स्थान पर दक्षिण सूडान (158वें), नाइजीरिया (157वें) तथा बहरीन (156वें) रहे।

भारत की स्थिति: सूचकांक में भारत को 158 देशों में से 129वें स्थान पर रखा गया है। भारत ने स्वास्थ्य पर अपने बजट का सिर्फ 4 प्रतिशत ही खर्च किया, जो दुनिया में चौथा सबसे कम बजट था।

  • सूचकांक के अनुसार भारत की केवल आधी आबादी के पास ही सबसे आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं तक पहुंच है।