सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज

( 19 November, 2020, , www.pib.gov.in )


19 नवंबर, 2020 को विश्व शौचालय दिवस के अवसर पर आवासन और शहरी कार्य राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने 243 शहरों में ‘सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज’ (Safaimitra Suraksha Challenge) शुरू किया।

उद्देश्य: सीवरों और सेप्टिक टैंकों की खतरनाक सफाई को रोकना और उनकी मशीन से सफाई को बढ़ावा देना।

  • 243 शहरों के प्रतिनिधियों की ओर से 20 अप्रैल, 2021 तक सभी सीवर और सेप्टिक टैंक की सफाई हेतु मशीनों के प्रयोग और खतरनाक सफाई से किसी भी व्यक्ति की मौत को रोकने की दिशा में काम करने के लिए प्रतिबद्धता की गई।
  • प्रतिभागी शहरों का वास्तविक जमीनी स्तर पर मूल्यांकन मई 2021 में एक स्वतंत्र एजेंसी द्वारा किया जाएगा और उसके परिणाम 15 अगस्त, 2021 को घोषित किए जाएंगे।
  • शहरों को तीन उप-श्रेणियों में सम्मानित किया जाएगा- 10 लाख से अधिक की आबादी के साथ, 3 से 10 लाख की आबादी और 3 लाख तक की आबादी वाले शहर। सभी श्रेणियों के विजेता शहरों को मिलने वाली कुल पुरस्कार राशि 52 करोड़ रुपये होगी।
  • मैनुअल स्कैवेंजर्स के रूप में रोजगार का निषेध और उनके पुनर्वास अधिनियम (2013) और उच्चतम न्यायालय के विभिन्न निर्णय द्वारा स्पष्ट रूप से खतरनाक एवं हानिकारक सफाई गतिविधियां प्रतिबंधित हैं यानी कि कोई भी व्यक्ति बिना सुरक्षात्मक उपकरण के किसी सेप्टिक टैंक या सीवर में प्रवेश नहीं कर सकता है।