Chronicle English Books  2022 for Mains

सामयिक

पीआईबी न्यूज :

युद्धपोत 'सूरत' और 'उदयगिरी'

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 17 मई, 2022 को मझगांव डॉक्स लिमिटेड (एमडीएल), मुंबई में भारतीय नौसेना के दो अग्रिम मोर्चे के युद्धपोतों - 'सूरत' और 'उदयगिरी' का शुभारंभ (जलावतरण) किया।

  • महत्वपूर्ण तथ्य: नौसेना डिजाइन निदेशालय (डीएनडी) द्वारा इन दोनों युद्धपोतों को इन-हाउस डिजाइन किया गया है।

इसरो तकनीकी प्रशिक्षण कार्यक्रम हेतु समझौता

कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय (MSDE) ने 27 अप्रैल, 2022 को 'इसरो तकनीकी प्रशिक्षण कार्यक्रम' (ISRO Technical Training Programme) शुरू करने के लिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के साथ एक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किए हैं।

  • महत्वपूर्ण तथ्य: कार्यक्रम के तहत, अगले पांच वर्षों के दौरान 4000 से अधिक इसरो तकनीकी कर्मचारियों को प्रशिक्षित किया जाएगा।

राष्ट्रीय राजमार्ग अवसंरचना

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) ने 5-6 मई, 2022 को उत्तर प्रदेश पूर्व और पश्चिम, उत्तराखंड और बिहार के अन्य क्षेत्रीय हितधारकों के साथ लखनऊ में दो दिवसीय क्षेत्रीय सम्मेलन आयोजित किया।

  • महत्वपूर्ण तथ्य: इस अवसर पर NHAI ने दो महत्वपूर्ण समझौता ज्ञापनों (MoU) पर हस्ताक्षर किए, जो राष्ट्रीय राजमार्ग अवसंरचना को बेहतर बनाने में योगदान देंगे।

नेशनल ओपन एक्सेस रजिस्ट्री

नेशनल ओपन एक्सेस रजिस्ट्री (NOAR) 1 मई, 2022 से सफलतापूर्वक काम करना शुरू कर दिया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: नेशनल ओपन एक्सेस रजिस्ट्री एक केंद्रीकृत ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है, जिसके माध्यम से भारत में अंतर-राज्यीय पारेषण प्रणाली के लिए अल्पकालिक खुली पहुंच की व्यवस्था का प्रबंधन किया जा रहा है।


दुनिया की सबसे बड़ी फिल्म संरक्षण परियोजना

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने 4 मई, 2022 को 'राष्ट्रीय फिल्म विरासत मिशन' (National Film Heritage Mission: NFHM) के तहत 'दुनिया की सबसे बड़ी फिल्म संरक्षण परियोजना' (World’s largest film restoration project) की घोषणा की। मंत्रालय ने इसके लिए 363 करो़ड़ रुपये का बजट प्रदान किया है।

  • महत्वपूर्ण तथ्य: 'भारतीय राष्ट्रीय फिल्म अभिलेखागार' में यह संरक्षण परियोजना अब जोर-शोर से शुरू की जाएगी।

इंडो-जर्मन ग्रीन हाइड्रोजन टास्क फोर्स

केंद्रीय ऊर्जा और नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह और जर्मनी के आर्थिक मामलों और जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ. रॉबर्ट हेबेक ने 2 मई, 2022 को 'इंडो-जर्मन ग्रीन हाइड्रोजन टास्क फोर्स' (Indo - German Green Hydrogen Task Force) पर आशय की संयुक्त घोषणा पर हस्ताक्षर किए।

  • महत्वपूर्ण तथ्य: समझौते के तहत दोनों देश परियोजनाओं, विनियमों और मानकों, व्यापार और संयुक्त अनुसंधान एवं विकास (आर एंड डी) परियोजनाओं के लिए सक्षम ढांचे के निर्माण के माध्यम से ग्रीन हाइड्रोजन के उत्पादन, उपयोग, भंडारण और वितरण में आपसी सहयोग को मजबूत करने के लिए एक ‘इंडो-जर्मन ग्रीन हाइड्रोजन टास्क फोर्स’ का गठन करेंगे।

पहला खादी उत्कृष्टता केंद्र

केंद्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री नारायण राणे ने 11 मई, 2022 को नई दिल्ली में 'पहले खादी उत्कृष्टता केंद्र' (first Centre of Excellence for Khadi) का उद्घाटन किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: यह खादी उत्कृष्टता केंद्र दिल्ली में राष्ट्रीय फैशन प्रौद्योगिकी संस्थान में स्थापित किया गया है।


कोयला गैसीकरण

6 मई, 2022 को 'कोयला गैसीकरण' पर आयोजित निवेशक सम्मेलन के दौरान कोयला मंत्रालय ने कोयला गैसीकरण (coal gasification) को प्रोत्साहन देने के लिए राजस्व साझाकरण में 50% रियायत को स्वीकृति दी है।

  • महत्वपूर्ण तथ्य: कोल इंडिया और फिक्की द्वारा 6 मई को मुंबई में 'कोयला गैसीकरण - आगे की राह' विषय पर निवेशक सम्मेलन का आयोजन किया गया।

ग्लूटेन-मुक्त मिलेट उत्पाद

कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (APEDA) ने 26 से 30 अप्रैल, 2022 तक प्रगति मैदान, नई दिल्ली में आयोजित 36वें आहार (36th edition of AAHAR) मेले में सभी आयु वर्ग के लिए 5 रुपये से 15 रुपये तक की किफायती दरों पर विभिन्न प्रकार के ग्लूटेन-मुक्त मिलेट (मोटे अनाज) उत्पाद (Gluten-free Millet products) लॉन्च किए।

  • महत्वपूर्ण तथ्य: APEDA द्वारा लॉन्च किए गए मोटे अनाज से बने सभी उत्पाद ग्लूटेन मुक्त, शत प्रतिशत प्राकृतिक और पेटेंटयुक्त हैं।

'आजादी से अंत्योदय तक' अभियान

केंद्रीय ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री गिरिराज सिंह ने 28 अप्रैल, 2022 को 28 राज्यों / केंद्र-शासित प्रदेशों के 75 जिलों को 9 केंद्रीय मंत्रालयों की लाभार्थी योजनाओं के साथ संतृप्त करने के मिशन के साथ 90-दिवसीय अभियान 'आजादी से अंत्योदय तक' का शुभारंभ किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: साल भर चलने वाले आजादी के अमृत महोत्सव की भावना का जश्न मनाते हुए, पहचाने गए जिलों को 99 स्वतंत्रता सेनानियों के जन्म स्थान के साथ जोड़ा गया है, जिन्होंने स्वतंत्रता के लिए अपने संघर्ष के दौरान राष्ट्र के लिए अंतिम बलिदान दिया था।


Showing 1-10 of 941 items.