हरित जलवायु कोष द्वारा बांग्लादेश को अनुदान


नवंबर 2020 में हरित जलवायु कोष (Green Climate Fund- GCF) ने पेरिस समझौते के तहत ग्रीन हाउस गैस (जीएचजी) उत्सर्जन में कमी के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए बांग्लादेश को 256.5 मिलियन डॉलर के अनुदान और ऋण की मंजूरी दी है।

महत्वपूर्ण तथ्य: वित्तपोषण बांग्लादेश के टेक्सटाइल और रेडी मेड गारमेंट्स (आरएमजी) सेक्टर के लिए एक एकीकृत पैकेज के रूप में प्रदान किया गया है, जो कार्बन उत्सर्जन में सबसे बड़ा औद्योगिक योगदानकर्ता है। संयुक्त रूप से ये दो सेक्टर 27% से अधिक औद्योगिक कार्बन उत्सर्जन में योगदान करते हैं।

  • 2030 तक, बांग्लादेश ने सामान्य परिदृश्य की तुलना में अपने जीएचजी उत्सर्जन को 15% तक कम करने की प्रतिबद्धता की है।
  • जीसीएफ के अनुसार यह वित्तपोषण क्षमता, जागरूकता बढ़ाने, नीति विकास और ऋण वितरण में सहायता और बांग्लादेश में कपड़ा और आरएमजी क्षेत्रों के लिए कार्यक्रम मानकों के मूल्यांकन की सुविधा प्रदान करेगा।
  • यह अनुदान विकासशील देशों में कम उत्सर्जन, जलवायु-लचीले विकास के वित्तपोषण के लिए जीसीएफ द्वारा 14 नवंबर, 2020 को मंजूर 1 बिलियन डॉलर के वित्तपोषण का हिस्सा है। यह वित्तपोषण बांग्लादेश सहित कई देशों में 16 परियोजनाओं के लिए है।
  • जीसीएफ की स्थापना 2010 में जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क कन्वेंशन (यूएनएफसीसीसी) के तहत की गई थी। यह विकासशील देशों को अपने कार्बन उत्सर्जन को कम करने में मदद करने के लिए दुनिया का सबसे बड़ा समर्पित कोष है।