भारत के लिए सतत विकास लक्ष्य निवेशक मानचित्र


संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) और 'इन्वेस्ट इंडिया' ने 26 नवंबर, 2020 को 'भारत के लिए सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) निवेशक मानचित्र' (SDGs Investor Map for India) का शुभारंभ किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: इसने 6 महत्वपूर्ण एसडीजी सक्षम क्षेत्रों में 18 निवेश अवसर क्षेत्र (IOAs) निर्धारित किए, जो देश को सतत विकास के पथ पर आगे बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।

  • मानचित्र में पहचाने जाने वाले 6 फोकस क्षेत्रों में शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा, कृषि और संबद्ध गतिविधियाँ, वित्तीय सेवाएँ, नवीकरणीय ऊर्जा तथा वैकल्पिक और सतत पर्यावरण शामिल हैं।
  • निवेश अवसर वाले 18 क्षेत्रों में से 10 पहले से ही निवेश योग्य परिपक्व क्षेत्र हैं। जिनकी प्राइवेट इक्विटी और उद्यम पूंजी गतिविधि मजबूत रही है। शेष 8 निवेश अवसर क्षेत्रों में शुरुआती स्तर के निवेशकों के खिंचाव को देखा गया है।
  • मानचित्र में चिन्ह्ति आठ सफेद स्थान दिखाए गए हैं। इन स्थानों पर निवेशक की दिलचस्पी रही है और इनमें 5-6 वर्षों के अंदर निवेश अवसर वाले क्षेत्र बन जाने की क्षमता है।
  • 'इन्वेस्ट इंडिया' वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के तहत राष्ट्रीय निवेश प्रोत्साहन एजेंसी है। इसका गठन 2009 में किया गया था।