‘भारत गौरव ट्रेनों’ की शुरुआत


पर्यटन व्यवसाय को बढ़ावा देने और आकर्षित करने के लिए, भारतीय रेलवे ने 23 नवंबर, 2021 को ‘भारत गौरव ट्रेनों’ की शुरुआत करने की घोषणा की।

महत्वपूर्ण तथ्य: ये ट्रेन निजी कंपनियों द्वारा द्वारा संचालित की जाएंगी और विषय-आधारित पर्यटक सर्किट (theme-based circuits) पर चलेंगी।

  • इस नीति के माध्यम से, जो ऑपरेटरों को अपने रेक और बुनियादी ढांचे के "उपयोग का अधिकार" प्रदान करती है, रेलवे ने संचालन के एक हिस्से को उदार और सरल बनाया है, जो अन्यथा ज्यादातर भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (IRCTC) द्वारा किया जाता था।
  • कोई भी संस्था इन ट्रेनों का संचालन कर सकती है, जिसमें राज्य सरकारें भी शामिल हैं। यह नीति टूर ऑपरेटरों पर लक्षित है।

भारत गौरव नीति क्या है? भारत गौरव नीति के अनुसार, कोई भी ऑपरेटर या सेवा प्रदाता, या वस्तुतः कोई भी, विशेष पर्यटन पैकेज के रूप में विषय-आधारित सर्किट पर रेल संचालन के लिए भारतीय रेलवे से ट्रेनों को पट्टे पर ले सकता है।

  • इस व्यवस्था की अवधि न्यूनतम दो वर्ष और अधिकतम कोच का ‘कोडल जीवन’ (codal life) है।
  • ऑपरेटर को मार्ग, पड़ाव, प्रदान की जाने वाली सेवाओं औरसबसे महत्वपूर्ण शुल्क तय करने की स्वतंत्रता है।