पीआईबी न्यूज आर्थिक

‘राष्ट्रीय उच्च दक्षता सौर फोटो वॉल्टिक मॉड्यूल कार्यक्रम’ पीएलआई योजना


केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने 7 अप्रैल, 2021 को नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के उच्च कुशलता वाले सोलर पीवी (फोटो वॉल्टिक) मॉड्यूल में गीगावाट पैमाने की निर्माण क्षमता हासिल करने के लिए उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना (पीएलआई) ‘राष्ट्रीय उच्च दक्षता सौर पीवी (फोटो वॉल्टिक) मॉड्यूल कार्यक्रम’ (National Programme on High Efficiency Solar PV Modules) के प्रस्ताव को मंजूरी दी।

महत्वपूर्ण तथ्य: इस परियोजना पर 4,500 करोड़ रुपये की लागत आएगी। मॉड्यूल से बिजली जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्र में आयात पर निर्भरता कम होगी।

  • सोलर पीवी विनिर्माण संयंत्र की शुरुआत के पांच साल के लिए उत्पादन से जुड़ा प्रोत्साहन प्रदान किया जाएगी और यह उच्च दक्षता वाले सोलर पीवी मॉड्यूल की बिक्री पर निर्भर करेगा।

योजना से होने वाले अनुमानित लाभ: समेकित सोलर पीवी विनिर्माण संयंत्रों की क्षमता में 10,000 मेगावाट की वृद्धि होगी; सोलर पीवी विनिर्माण परियोजनाओं में 17,200 करोड़ रुपये का प्रत्यक्ष निवेश होगा तथा लगभग 30,000 लोगों को प्रत्यक्ष रोजगार और 1,20,000 लोगों को अप्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

क्षमता विकास आयोग का गठन


केंद्र सरकार ने 31 मार्च, 2021 को सभी स्तरों पर सिविल सेवकों को प्रशिक्षित करने के लिए ‘राष्ट्रीय सिविल सेवा क्षमता विकास कार्यक्रम’ (National Programme for Civil Services Capacity Building NPCSCB) के तहत एक ‘क्षमता विकास आयोग’ (Capacity Building Commission) का गठन किया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: राष्ट्रीय सिविल सेवा क्षमता विकास कार्यक्रम को 'मिशन कर्मयोगी' भी कहा जाता है, जिसे केंद्रीय मंत्रिमंडल ने सितंबर 2020 में मंजूरी दी थी।

  • 'क्षमता विकास आयोग' योजनाओं के कार्यान्वयन की निगरानी, मूल्यांकन और साझा संसाधन तैयार करने के लिए सभी सरकारी कार्यालयों, प्रशिक्षण संस्थानों के साथ समन्वय और पर्यवेक्षण करेगा।
  • आयोग में एक अध्यक्ष और दो सदस्य शामिल होंगे। भारतीय गुणवत्ता परिषद (QCI) के पूर्व प्रमुख आदिल जैनुलभाई को इस आयोग का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है, जबकि रामास्वामी बालासुब्रमण्यम को सदस्य (मानव संसाधन) और प्रवीण परदेशी को सदस्य (प्रशासन) के रूप में नियुक्त किया गया है।
  • विश्व बैंक के निजी क्षेत्र के एक पूर्व वरिष्ठ विशेषज्ञ हेमांग जानी को आयोग का सचिव बनाया गया है।

सामयिक खबरें विज्ञान-पर्यावरण

जेनोबोट्स


अमेरिका के टफ्ट्स और वरमोंट विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने मेंढ़कों की स्टेम कोशिकाओं से रोबोट विकसित किए हैं। इन रोबोट को जेनोबोट्स (Xenobots) नाम दिया गया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: ये रोबोट क्षति के बाद स्वयं को ठीक करने में सक्षम हैं, मेमोरी रिकॉर्ड कर सकते हैं और समूहों में एक साथ काम कर सकते हैं।

  • ये सजीव रोबोट अपने परिवेश के बारे में जानकारी दे सकते हैं और अपनी सतह पर उपस्थित सूक्ष्म बाल बराबर कणों 'सिलिया' (cilia) का उपयोग करके चल सकते हैं।
  • शोधकर्ताओं के अनुसार मुलायम शरीर वाली जीवित मशीनों का जैव- चिकित्सा और पर्यावरण में कई अनुप्रयोग हो सकते हैं।
  • जेनोबोट्स का निर्माण पारंपरिक रोबोट की तरह ही किया जाता है। केवल इसमें आकृति के निर्माण और अनुमानित व्यवहार तैयार करने के लिए कृत्रिम घटकों के बजाय कोशिकाओं और ऊतकों का उपयोग किया जाता है।

सामयिक खबरें विज्ञान-पर्यावरण

लिथियम आयन बैटरी की दक्षता बढ़ाने की तकनीक


अप्रैल 2021 में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान-गुवाहाटी के शोधकर्ताओं की एक टीम ने इलेक्ट्रिक वाहनों (EVs) में इस्तेमाल होने वाले 'पुनः चार्ज करने योग्य लिथियम आयन बैटरी' (rechargeable lithium-ion batteries) की दक्षता बढ़ाने की तकनीक विकसित की है।

महत्वपूर्ण तथ्य: उन्नत तकनीक एक बैटरी के सबसे महत्वपूर्ण आंतरिक पहलुओं में से एक, आवेश की स्थिति (State Of Charge- SOC) का सटीक अनुमान लगा सकती है। यदि SOC 100% है, तो यह बैटरी (सेल) के पूरी तरह से चार्ज होने को इंगित करता है। इससे बैटरी की शेष क्षमता की जानकारी मिलती है।

  • शेष क्षमता की जानकारी बैटरी की दक्षता उपयोग को अनुकूलित करने में मदद करता है, इसकी ओवरचार्जिंग और अंडरचार्जिंग को रोकता है, इसके जीवनकाल को बढ़ाता है, लागत कम करता है, और बैटरी की सुरक्षा सुनिश्चित करता है।
  • यह शोध वैज्ञानिक पत्रिका 'आईईईई ट्रांजेक्शंस ऑन सर्किट एंड सिस्टम I: रेगुलर पेपर्स' (IEEE Transactions on Circuit and System I: Regular Papers) में प्रकाशित हुआ है।
  • लिथियम आयन बैटरी कम कार्बन उत्सर्जन, उच्च ऊर्जा घनत्व, कम डिस्चार्ज दर और कम रखरखाव लागत के कारण सेलफोन और लैपटॉप में प्रयोग की जाती है। ये व्यापक रूप से इलेक्ट्रिक वाहनों, एकीकृत स्मार्ट ग्रिड और नवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों के माइक्रोग्रिड में उपयोग की जा रही हैं।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप चर्चित व्यक्ति

आरबीआई के डिप्टी गवर्नर बीपी कानूनगो हुए सेवानिवृत्त


भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के वरिष्ठतम डिप्टी गवर्नर बीपी कानूनगो 2 अप्रैल, 2021 को अपना एक साल का विस्तारित कार्यकाल पूरा करने के बाद सेवानिवृत्त हो गए।

  • सरकार ने उन्हें मार्च 2017 में तीन साल के कार्यकाल के लिए डिप्टी गवर्नर नियुक्त किया था, लेकिन 2020 में उनका कार्यकाल एक साल और बढ़ा दिया था।
  • डिप्टी गवर्नर के रूप में, कानूनगो ने मुद्रा प्रबंधन, बाहरी निवेश और संचालन, सरकार और बैंक खाते, सूचना प्रौद्योगिकी, भुगतान और निपटान प्रणाली, विदेशी मुद्रा, आंतरिक ऋण प्रबंधन और कानूनी विभागों का नेतृत्व किया था।
  • कार्यकारी निदेशक के रूप में पदोन्नत होने से पहले, उन्होंने मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के लिए बैंकिंग लोकपाल का पद संभालने के अलावा, जयपुर और कोलकाता में रिजर्व बैंक के क्षेत्रीय कार्यालयों के प्रमुख के रूप में भी कार्य किया था।
  • RBI के अन्य डिप्टी गवर्नर राजेश्वर राव, महेश कुमार जैन और माइकल पात्रा हैं

सामयिक खबरें सार-संक्षेप विविध

फोर्ब्स की 35वीं वार्षिक दुनिया के अरबपतियों की सूची 2021


7 अप्रैल, 2021 को फोर्ब्स पत्रिका द्वारा जारी ‘35वीं वार्षिक दुनिया के अरबपतियों की सूची 2021’ (Forbes’ 35th Annual World’s Billionaires List) के अनुसार, अमेरिका और चीन के बाद भारत में दुनिया के तीसरे सबसे अधिक संख्या में अरबपति हैं।

  • फोर्ब्स की 35वीं वार्षिक सूची में अरबपतियों की संख्या अभूतपूर्व रूप से 2,755 तक पहुंच गई, जो एक साल पहले की तुलना में 660 अधिक है तथा इनकी कुल मिलाकर 13.1 ट्रिलियन डॉलर की संपत्ति है।
  • अमेरिका में दुनिया के सबसे अधिक 724 अरबपति हैं, इसके बाद चीन में 698, भारत में 140, जर्मनी में 136 तथा रूस में 117 अरबपति हैं।
  • फोर्ब्स की दुनिया के अरबपतियों की 35वीं वार्षिक सूची में अमेजॉन के सीईओ और संस्थापक जेफ बेजोस लगातार चौथे साल शीर्ष पर हैं। उनकी कुल संपत्ति 177 बिलियन डॉलर है।
  • 151 बिलियन डॉलर की कुल संपत्ति के साथ दूसरे स्थान पर स्पेसएक्स के संस्थापक एलन मस्क हैं, जिनकी संपत्ति में डॉलर की मद में सबसे अधिक बढ़ोतरी हुई।
  • फ्रेंच अरबपति बर्नार्ड अरनॉल्ट 150 बिलियन डॉलर की संपत्ति के साथ तीसरे, बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के बिल गेट्स 124 बिलियन डॉलर की संपत्ति के साथ चौथे तथा फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग 97 बिलियन डॉलर की संपत्ति के साथ पांचवें स्थान पर हैं।
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी 84.5 बिलियन डॉलर की संपत्ति के साथ भारतीय अरबपतियों में शीर्ष पर हैं। वह विश्व में 10वें स्थान पर है और वे एक बार फिर एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं। उन्होंने चीन के जैक मा को पीछे छोड़ दिया है, जो एक साल पहले एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए थे।

शीर्ष भारतीय अरबपति:

रैंक

वैश्विक स्तर पर रैंकिंग

नाम

कुल संपत्ति (बिलियन डॉलर में)

1

10

मुकेश अंबानी

84.5

2

24

गौतम अदानी और परिवार

50.5

3

71

शिव नादर

23.5

4

117

राधाकिशन दमानी

16.5

5

121

उदय कोटक

15.9

6

133

लक्ष्मी मित्तल

14.9

7

168

कुमार बिड़ला

12.8

8

169

साइरस पूनावाला

12.7

9

203

दिलीप संघवी

10.9

10

213

सुनील मित्तल और परिवार

10.5

सामयिक खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

एचडीएफसी बैंक का 'स्मार्टअप उन्नति’ कार्यक्रम


8 मार्च, 2021 को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर एचडीएफसी बैंक ने बैंक में महिला अधिकारियों द्वारा महिला उद्यमियों को सलाह देने (मेंटरशिप) के लिए एक समर्पित कार्यक्रम ‘स्मार्टअप उन्नति’ कार्यक्रम (SmartUp Unnati) शुरू करने की घोषणा की।

  • कार्यक्रम के तहत, अगले एक वर्ष में, HDFC बैंक की वरिष्ठ महिला अधिकारी महिला उद्यमियों को उनके लक्ष्य को प्राप्त करने में सलाह (मेंटरशिप) देंगी। यह कार्यक्रम केवल मौजूदा महिला ग्राहकों के लिए उपलब्ध है और यह शुरू में बैंक के स्मार्टअप प्रोग्राम से जुड़ी 3,000 से अधिक महिला उद्यमियों को लक्षित करेगा।

सामयिक खबरें संस्थान-संगठन

भारतीय भूमि पत्तन प्राधिकरण


भारतीय भूमि पत्तन प्राधिकरण (Land Ports Authority of India- LPAI) ने 1 मार्च, 2021 को अपना 9वां स्थापना दिवस मनाया।

  • भारतीय भूमि पत्तन प्राधिकरण (LPAI) गृह मंत्रालय के अधीन एक सांविधिक निकाय है, जो भारतीय भूमि पत्तन प्राधिकरण, 2010 के माध्यम से स्थापित किया गया है। अधिनियम के प्रावधान 1 मार्च 2012 को लागू हुए।
  • यह सीमा अवसंरचना तैयार करने, अपग्रेड करने, रखरखाव और प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है। यह भारत की सीमाओं पर कई एकीकृत चेक पोस्ट (ICPs) का प्रबंधन करता है।
  • अधिनियम की धारा- 11 LPAI को भारत की अंतरराष्ट्रीय सीमाओं के साथ निर्दिष्ट बिंदुओं पर यात्रियों और वस्तुओं की सीमा पार आवाजाही के लिए सुविधाओं को विकसित करने और प्रबंधन करने की शक्तियां प्रदान करती है।
  • LPAI का मुख्यालय नई दिल्ली में है। इसके चैयरमैन आदित्य मिश्रा हैं।