सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

नेब्रा स्काई डिस्क


लंदन में ब्रिटिश संग्रहालय ‘नेब्रा स्काई डिस्क’ (Nebra Sky Disc) नामक एक प्राचीन ऑब्जेक्ट को प्रदर्शित करेगा, जिसे पृथ्वी पर उपलब्ध सितारों (stars) का सबसे पुराना नक्शा माना जाता है।

(Image Source: @https://www.bbc.com/)

महत्वपूर्ण तथ्य: नेब्रा स्काई डिस्क को लगभग 3600 साल पुराना माना जाता है।

  • नेब्रा डिस्क का व्यास लगभग 30 सेमी. है। इसमें नीले-हरे रंग का आधार है। सूर्य, चंद्रमा और सितारों को सुनहरे रंग से प्रदर्शित किया गया है
  • लगभग 3,600 साल पहले, जर्मनी में नेब्रा के पास डिस्क को दो तलवारों, कुल्हाड़ियों, दो सर्पिल आर्म-रिंग्स और एक कांस्य छेनी के साथ दफनाया गया था।
  • डिस्क का सटीक उद्देश्य निर्धारित नहीं किया जा सकता है, लेकिन इसके अस्तित्व के बारे में अनुमानों ने इसकी एक खगोलीय घड़ी, एक कलाकृति और एक धार्मिक प्रतीक के रूप में कल्पना की है।
  • कांस्य डिस्क की खोज 1999 में, जर्मनी के एक शहर नेब्रा में की गई थी।
  • इस डिस्क का स्वामित्व जर्मनी के स्टेट म्यूजियम ऑफ प्री-हिस्ट्री, हाले के पास है और इसे ब्रिटिश संग्रहालय को उधार दिया जा रहा है, ब्रिटिश संग्रहालय इसे फरवरी 2022 में खुलने वाले स्टोनहेंज पर एक प्रदर्शनी के दौरान प्रदर्शित करेगा।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

वैश्विक खाद्य सुरक्षा सूचकांक 2021


19 अक्टूबर, 2021 को इकोनॉमिस्ट इम्पैक्ट (Economist Impact) द्वारा ‘वैश्विक खाद्य सुरक्षा सूचकांक 2021’ जारी किया गया।

महत्वपूर्ण तथ्य: वैश्विक खाद्य सुरक्षा सूचकांक को लंदन स्थित इकोनॉमिस्ट इम्पैक्ट द्वारा डिजाइन और निर्मित किया गया है और यह ‘कोर्टेवा एग्रीसाइंस’ (Corteva Agriscience) द्वारा प्रायोजित है।

  • सूचकांक 113 देशों में खाद्य सुरक्षा के अंतर्निहित कारकों को मापता है, जो कि सामर्थ्य (affordability), 'उपलब्धता', 'गुणवत्ता और सुरक्षा', तथा 'प्राकृतिक संसाधनों और लचीलापन' जैसे कारकों पर आधारित है।
  • सूचकांक में आयरलैंड पहले, ऑस्ट्रिया दूसरे, यूनाइटेड किंगडम तीसरे, फिनलैंड चौथे, स्विटजरलैंड पांचवें, नीदरलैंड छठे, कनाडा सातवें, जापान आठवें तथा फ्रांस और अमेरिका संयुक्त रूप से नौवें स्थान पर हैं।
  • सूचकांक में बुरुंडी 113वें, यमन 112वें, मोजाम्बिक 111वें और सूडान 110वें स्थान पर हैं।

भारत की स्थिति: भारत 57.2 अंकों के समग्र स्कोर के साथ 71वें स्थान पर रहा।

  • भारत ने पाकिस्तान (75वें स्थान), श्रीलंका (77वें स्थान), नेपाल (79वें स्थान) और बांग्लादेश (84वें स्थान) से बेहतर प्रदर्शन किया, लेकिन चीन (34वें स्थान) से काफी पीछे रहा।
  • 'खाद्य सामर्थ्य' (food affordability) श्रेणी में श्रीलंका (62.9 अंकों के साथ) और पाकिस्तान (52.6 अंक के साथ) ने भारत (50.2 अंक) से बेहतर स्कोर किया है।
  • खाद्य उपलब्धता, गुणवत्ता और सुरक्षा के साथ-साथ खाद्य उत्पादन के लिए प्राकृतिक संसाधनों की रक्षा के मामले में, भारत ने पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश और श्रीलंका से बेहतर स्कोर किया।

सामयिक खबरें आर्थिकी

स्पिन योजना


खादी और ग्रामोद्योग आयोग (KVIC) ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन, 'सेवा दिवस' के मौके पर 17 सितंबर, 2021 को स्पिन (स्ट्रेंथनिंग द पोटेंशियल ऑफ इंडिया) (Strengthening the Potential of India: SPIN) नामक एक विशिष्ट योजना शुरू की।

प्रमुख उद्देश्य: "हर हाथ में काम" की प्रधानमंत्री की प्रतिबद्धता के अनुरूप स्थानीय स्वरोजगार के सृजन के जरिए सतत विकास करना।

महत्वपूर्ण तथ्य: केंद्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम राज्य मंत्री भानु प्रताप सिंह वर्मा ने वाराणसी में स्पिन योजना का शुभारंभ किया।

  • यह एक बिना सब्सिडी वाला कार्यक्रम है, जो पंजीकृत कुम्हारों को प्रधानमंत्री शिशु मुद्रा योजना के तहत बैंकों से सीधे ऋण प्राप्त करने में सक्षम बनाता है।
  • स्पिन योजना के तहत, KVIC आरबीएल बैंक के माध्यम से कुम्हारों को वित्तीय सहायता के लिए एक सुविधादाता के रूप में कार्य कर रहा है और इस योजना को चुनने वाले कारीगरों को प्रशिक्षण भी प्रदान कर रहा है।
  • योजना के तहत उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान और झारखंड के 780 कुम्हारों ने अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए बैंक से वित्तीय सहायता के लिए पंजीकरण कराया है। योजना के प्रतिभागियों के लिए 780 इलेक्ट्रिक पॉटर व्हील (बिजली से चलने वाले चाक) भी मंजूर किए गए हैं।
  • वाराणसी के भट्टी गांव में "काशी पॉटरी क्लस्टर" का भी उद्घाटन किया गया। स्फूर्ति योजना के तहत KVIC द्वारा स्थापित वाराणसी जिले में यह पहला पॉटरी कलस्टर है।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

आयुष वन


केंद्रीय आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने 19 अक्टूबर, 2021 को गुजरात के कच्छ जिले के गांधीधाम शहर में दीनदयाल पोर्ट ट्रस्ट - रोटरी वन में आयोजित एक कार्यक्रम में 'आयुष वन' (Ayush Van) का उद्घाटन किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: 'आयुष वन' आयुर्वेदिक पौधों के लिए समर्पित वन है।

  • 'आयुष वन' दीनदयाल पोर्ट ट्रस्ट द्वारा हरित पट्टी क्षेत्र में आवंटित 30 एकड़ भूमि में स्थापित किया गया है, जहां शहरी क्षेत्र में हरियाली में सुधार और कच्छ क्षेत्र में वृक्षों के आवरण का घनत्व बढ़ाने के लिए वृक्षारोपण किया जा रहा है।

आयुष वन भारत की पारंपरिक चिकित्सा पद्धतियों की क्षमता को साकार करने में आयुष मंत्रालय की मदद कर सकता है।

सामयिक खबरें पर्यावरण

कॉर्बेट नेशनल पार्क


केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कॉर्बेट नेशनल पार्क का नाम बदलकर रामगंगा नेशनल पार्क करने का प्रस्ताव रखा है।

महत्वपूर्ण तथ्य: हिमालय की तलहटी में स्थित कॉर्बेट नेशनल पार्क (कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान) 520.86 वर्ग किमी. के क्षेत्र में फैला हुआ है। यह नैनीताल जिले के रामनगर के पास स्थित है।

  • यह कॉर्बेट टाइगर रिजर्व का हिस्सा है। टाइगर रिजर्व का कुल क्षेत्रफल 1288.31 वर्ग किमी. है, जो उत्तराखंड के तीन जिलों पौड़ी गढ़वाल, नैनीताल और अल्मोड़ा में फैला हुआ है।
  • 1936 में भारत और एशिया के पहले राष्ट्रीय उद्यान के रूप में स्थापित इस उद्यान को संयुक्त प्रांत के गवर्नर सर मैलकम हैली के नाम पर ‘हेली नेशनल पार्क’ के नाम से जाता था।
  • बाद मे इसका नाम बदलकर उद्यान से बहकर जाने वाली नदी रामगंगा के नाम पर 'रामगंगा राष्ट्रीय उद्यान' कर दिया गया था। 1957 में इसका नाम महान प्रकृतिवादी, प्रख्यात संरक्षणवादी दिवंगत जिम कॉर्बेट की स्मृति में ‘कॉर्बेट नेशनल पार्क’ कर दिया गया था।
  • जिम कॉर्बेट को आदमखोरों बाघों के शिकारी, एक प्रकृतिवादी और लेखक के रूप में जाना जाता है, उन्होंने इस उद्यान की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।
  • 301 वर्ग किमी. में फैले सोननादी वन्यजीव अभयारण्य के साथ यह राष्ट्रीय उद्यान मिलकर कॉर्बेट टाइगर रिजर्व का महत्वपूर्ण बाघ पर्यावास स्थल बनाता है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप पुरस्कार/सम्मान

अर्थशॉट पुरस्कार 2021


  • 17 अक्टूबर, 2021 को लंदन में एक भव्य समारोह में अर्थशॉट पुरस्कार 2021 (Earthshot Prize 2021) की घोषणा की गई।

(Image Source: https://earthshotprize.org/)

  • इस पुरस्कार के तहत जलवायु संकट से लड़ने के लिए समाधान विकसित करने के लिए 2021 और 2030 के बीच पांच फाइनलिस्ट को पांच संयुक्त राष्ट्र सतत विकास लक्ष्यों- प्रकृति की बहाली और संरक्षण, वायु स्वच्छता, महासागरों की पुनर्बहाली, अपशिष्ट मुक्त जीवन और जलवायु कार्रवाई में योगदान के लिए सम्मानित किया जाएगा।
  • अर्थशॉट पुरस्कार को 2020 में प्रिंस विलियम और रॉयल फाउंडेशन द्वारा स्थापित किया गया था। इस पुरस्कार को 'इको ऑस्कर' की भी संज्ञा दी जाती है। इसमेंपुरस्कार राशि 10 लाख ब्रिटिश पाउंड है।
    1. 'वायु स्वच्छता' (clean our air) श्रेणी: दिल्ली के उद्यमी विद्युत मोहन के नेतृत्व वाली कृषि अपशिष्ट पुनर्चक्रण परियोजना 'तकाचर' (Takachar) को फसल अवशेषों को विक्रय योग्य जैव-उत्पादों में बदलने के लिए सस्ते प्रौद्योगिकी नवाचार के लिए यह पुरस्कार दिया गया है।
      • ‘तकाचर' ने एक सस्ती, छोटे पैमाने की, पोर्टेबल तकनीक विकसित की है, जो दूरदराज के खेतों में ट्रैक्टरों से जुड़ जाती है। यह तकनीक धुएं के उत्सर्जन को 98% तक कम करती है।
    2. प्रकृति की रक्षा और पुनर्बहाली (Protect and Restore Nature) श्रेणी: कोस्टा रिका गणराज्य।
    3. महासागरों की पुनर्बहाली (Revive our Oceans) श्रेणी: कोरल वीटा, बहामास (दुनिया की समाप्त होती हुई प्रवाल भित्तियों को पुनर्स्थापित करने की परियोजना)।
    4. अपशिष्ट मुक्त विश्व का निर्माण (Build a Waste-Free World): 'द सिटी ऑफ मिलान फूड वेस्ट हब्स', इटली (अप्रयुक्त भोजन एकत्र करने और इसे जरूरतमंदों को देने की पहल)।
    5. जलवायु कार्रवाई (Fix our Climate): थाईलैंड, जर्मनी और इटली की हाइड्रोजन बनाने के लिए अक्षय ऊर्जा परियोजना 'एईएम इलेक्ट्रोलाइजर' (AEM Electrolyser)।

राज्य समाचार पंजाब

'मेरा घर मेरे नाम' योजना


पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने 17 अक्टूबर, 2021 को 'मेरा घर मेरे नाम' योजना की शुरुआत की।

(Image Source: @CHARANJITCHANNI twitter)

  • यह गांवों और शहरों के 'लाल लकीर' के भीतर घरों में रहने वाले लोगों को मालिकाना हक (स्वामित्व अधिकार) देने की योजना है।
  • 'लाल लकीर' उस भूमि को संदर्भित करता है, जो गाँव की बस्ती का हिस्सा है और जिसका उपयोग केवल गैर-कृषि उद्देश्यों के लिए किया जाता है।
  • पहले यह योजना केवल गाँवों के निवासियों के लिए शुरू की गई थी लेकिन अब इसे 'लाल लकीर' के भीतर शहरों के पात्र निवासियों तक विस्तारित किया जा रहा है।
  • योजना के कार्यान्वयन के लिए राजस्व विभाग को डिजिटल मैपिंग के लिए ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में ऐसी आवासीय संपत्तियों का ड्रोन सर्वेक्षण करने की जिम्मेदारी दी गई है।
  • उचित पहचान या सत्यापन के बाद सभी पात्र निवासियों को समयबद्ध तरीके से स्वामित्व अधिकार देने के लिए संपत्ति कार्ड (सनद) दिए जाएंगे।
  • एक अन्य योजना 'बसेरा' 'लाल लकीर' के बाहर झुग्गी-झोपड़ी क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को स्वामित्व अधिकार देकर राहत प्रदान कर रही है।

राज्य समाचार दिल्ली

देश के मेंटर कार्यक्रम


दिल्ली सरकार ने 11 अक्टूबर, 2021 को अपने स्कूलों में कक्षा 9 से कक्षा 12वीं तक के बच्चों की मेंटरशिप (मार्गदर्शन) के लिए 'देश के मेंटर' कार्यक्रम (Desh Ke Mentor programme) शुरू किया है।

(Image Source: @DeshKeMentor twitter)

उद्देश्य: छात्रों को करियर विकल्प के बारे में जागरूक करना; छात्रों को उनके प्रारंभिक कैरियर नियोजन चरणों में मार्गदर्शन और सहयोग करना; छात्रों में व्यक्तिगत और व्यावसायिक चुनौतियों से निपटने की योग्यता विकसित करना तथा राष्ट्र निर्माण के लिए युवा समुदाय में परोपकारी दृष्टिकोण को बढ़ाना।

  • 'देश के मेंटर' कार्यक्रम के तहत, छात्रों को देश भर के स्वयंसेवकों द्वारा रोजाना 10-15 मिनट के लिए करियर विकल्पों से लेकर किशोर-संबंधी चिंताओं तक के मुद्दों पर सलाह दी जाएगी।
  • मेंटरशिप कार्यक्रम दो से छ: माह का होगा, जिसमें पहले दो महीने अनिवार्य मॉड्यूल के रूप में और शेष चार वैकल्पिक के रूप में होंगे।
  • विभिन्न पेशेवर और शैक्षणिक पृष्ठभूमि के सलाहकार दो से पांच छात्रों का मार्गदर्शन करेंगे। वे अपने ज्ञान, कौशल और विशेषज्ञता को साझा करके छात्रों को उनके समग्र व्यक्तित्व विकास में मदद करेंगे।
  • अभिनेता सोनू सूद इस कार्यक्रम के ब्रांड एंबेसडर होंगे।

खेल समाचार चर्चित खेल व्यक्तित्व

श्रीलंका के पहले टेस्ट कप्तान बंडुला वर्णपुरा का निधन


श्रीलंका के पहले टेस्ट क्रिकेट के कप्तान बंडुला वर्णपुरा का 18 अक्टूबर, 2021 को निधन हो गया। वे 68 वर्ष के थे।

(Image Source: @OfficialSLC twitter)

  • उन्होंने न केवल फरवरी 1982 में इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में श्रीलंकाई टीम का नेतृत्व किया, उन्होंने पहली गेंद का भी सामना किया और श्रीलंका के लिए पहला रन भी बनाया।
  • उन्होंने एक ही मैच में ओपनिंग बल्लेबाजी और ओपनिंग गेंदबाजी (दूसरी पारी) का दुर्लभ रिकॉर्ड भी बनाया।
  • वर्णपुरा ने 1975 से 1982 के बीच चार टेस्ट और 12 एकदिवसीय मैचों में श्रीलंका का प्रतिनिधित्व किया था।