पीआईबी न्यूज आर्थिक

झेलम और तवी बाढ़ बहाली परियोजना


केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 22 नवंबर, 2021 को श्रीनगर में 'झेलम और तवी बाढ़ बहाली परियोजनाओं' (Jhelum & Tawi flood recovery projects) के अंतर्गत उप-परियोजनाओं सहित लगभग 165 करोड़ रुपये की लागत के विकास कार्यों का उद्घाटन किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: इसमें स्वास्थ्य, शिक्षा, शहरी बुनियादी ढांचे और आपदा प्रबंधन से संबंधित लगभग 130.49 करोड़ रुपये की राशि के कार्यों का उद्घाटन किया गया।

  • झेलम और तवी बाढ़ बहाली परियोजना के अंतर्गत कश्मीर के बडगाम में 34.88 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले केंद्र - शासित प्रदेश स्तर के ‘आपातकालीन संचालन केंद्र’ और एससीएडाए नियंत्रण भवन की आधारशिला भी रखी गई।

परियोजना के बारे में: 'झेलम और तवी बाढ़ बहाली परियोजना को विश्व बैंक से 250 मिलियन अमेरिकी डॉलर के ऋण द्वारा सहायता प्रदान की गई है।

  • यह परियोजना सितंबर 2014 की विनाशकारी बाढ़ के बाद जम्मू और कश्मीर में शुरू की गई थी, जिसने अनंतनाग, श्रीनगर और आसपास के जिलों के निचले इलाकों को बुरी तरह प्रभावित किया था।
  • परियोजना का उद्देश्य बाढ़ से बाधित आवश्यक सेवाओं को बहाल करना और जल्दी उबरने के लिए डिजाइन मानक और प्रथाओं में सुधार करना है।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

एसडीजी शहरी सूचकांक 2021-22


भारत-जर्मनी साझेदारी के तहत नीति आयोग ने 23 नवंबर, 2021 को 'एसडीजी शहरी सूचकांक और डैशबोर्ड 2021-22' (SDGs Urban Index and Dashboard 2021-22) जारी किया।

(Image Source: https://sdgindiaindex.niti.gov.in/)

महत्वपूर्ण तथ्य: एसडीजी शहरी सूचकांक और डैशबोर्ड में एसडीजी ढांचे के सभी 46 लक्ष्यों में 77 एसडीजी सूचकों के आधार पर 56 शहरी क्षेत्रों की रैंक पेश की गई है।

  • प्रत्येक एसडीजी के लिए, शहरी क्षेत्रों को 0-100 के पैमाने पर रैंक किया गया है। 100 के स्कोर का अर्थ है शहरी क्षेत्र ने 2030 के लिए निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त कर लिया है; 0 के स्कोर का अर्थ है कि यह चयनित शहरी क्षेत्रों में लक्ष्यों को प्राप्त करने के मामले में सबसे पीछे है।
  • शहरी क्षेत्रों को उनके समग्र स्कोर के आधार पर वर्गीकृत किया गया है-
    • आकांक्षी (एस्पिरेंट): 0–49
    • अच्छा प्रदर्शन करने वाला (परफॉर्मर): 50–64
    • बहुत अच्छा प्रदर्शन करने वाला (फ्रंट रनर): 65–99
    • लक्ष्य को प्राप्त कर लेने वाला (अचीवर): 100
  • सूचकांक में शिमला प्रथम स्थान पर, इसके बाद कोयंबटूर दूसरे और चंडीगढ़ तीसरे स्थान पर है। सूचकांक में सबसे निचले 56वें स्थान पर धनबाद है, इसके अलावा मेरठ 55वें, तथा ईटानगर 54वें स्थान पर है।
  • सूचकांक में शामिल 56 शहरी क्षेत्रों में से 44 दस लाख से अधिक की आबादी वाले हैं। इनमें दस लाख से कम आबादी वाले 12 शहर विभिन्न राज्यों की राजधानियां हैं।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत 3.61 लाख घरों के निर्माण को मंजूरी


केंद्र ने 23 नवंबर, 2021 को प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत 17 राज्यों और केंद्र - शासित प्रदेशों में 3.61 लाख घरों के निर्माण को मंजूरी दी है। इसके साथ ही मिशन के तहत स्वीकृत घरों की कुल संख्या अब 1.14 करोड़ हो गई है।

महत्वपूर्ण तथ्य: 1.14 करोड़ स्वीकृत घरों में से, 89 लाख से अधिक निर्माण के लिए आधार बनाया गया है और 52.5 लाख घरों के निर्माण कार्य को पूरा कर लाभार्थियों को वितरित किए गए हैं।

  • मिशन के तहत कुल निवेश 7.52 लाख करोड़ है और जिसमें 1.85 लाख करोड़ की केंद्रीय सहायता के रूप में हैं।

ई-वित्त मॉड्यूल: केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा द्वारा एक 'ई-वित्त मॉड्यूल' भी लॉन्च किया गया।

  • ई-वित्त मॉड्यूल का उद्देश्य प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण मोड के माध्यम से धन के वितरण के लिए सभी हितधारकों को अद्वितीय मंच प्रदान करना और लाभार्थियों का प्रमाणीकरण करना है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

रानी गाइदिन्ल्यू आदिवासी स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालय


केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 22 नवंबर, 2021 को मणिपुर के तामेंगलोंग जिले में 'रानी गाइदिन्ल्यू आदिवासी स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालय' (Rani Gaidinliu Tribal Freedom Fighters Museum) की आधारशिला रखी।

(Image Source: https://www.amritmahotsav.nic.in/)

महत्वपूर्ण तथ्य: एक आध्यात्मिक और राजनीतिक नेता, रोंगमेई जनजाति की रानी गाइदिन्ल्यू का जन्म 26 जनवरी, 1915 को लुआंगकाओ गाँव में हुआ था, जो अब मणिपुर के तामेंगलोंग जिले के ताओसेम उप-मंडल में है।

  • 13 साल की उम्र में, वह स्वतंत्रता सेनानी और धार्मिक नेता, हाइपौ जादोनांग के साथ जुड़ गईं, और उनके सामाजिक, धार्मिक और राजनीतिक आंदोलन में उनकी लेफ्टिनेंट बन गईं।
  • जादोनांग, जो एक रोंगमेई भी थे, ने पैतृक नागा धर्म के आधार पर 'हेराका आंदोलन' शुरू किया और एक स्वतंत्र नागा साम्राज्य की कल्पना की।
  • जादोनांग की फांसी के बाद, उन्होंने आंदोलन का नेतृत्व संभाला, जो धीरे-धीरे धार्मिक से राजनीतिक हो गया। रानी ने अंग्रेजों के खिलाफ एक गंभीर विद्रोह शुरू किया और अंततः उन्हें उम्रकैद की सजा सुनाई गई। उन्हें 1947 में रिहा किया गया था।
  • अंग्रेजों के खिलाफ संघर्ष में उनकी भूमिका को स्वीकार करते हुए, जवाहरलाल नेहरू ने उन्हें "पहाड़ियों की बेटी" कहा और उन्हें "रानी" या क्वीन की उपाधि दी। 17 फरवरी, 1993 को उनके पैतृक गांव लुआंगकाओ में उनका निधन हो गया।
  • उन्हें 1982 में पद्म भूषण, 1983 में विवेकानंद सेवा सम्मान और 1991 में स्त्री शक्ति पुरस्कार सहित कई सम्मानों से सम्मानित किया गया था। उन्हें मरणोपरांत 1996 में भगवान बिरसा मुंडा पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।
  • भारतीय तटरक्षक बल ने 2016 में एक तेज गश्ती पोत "आईसीजीएस रानी गाइदिन्ल्यू" को कमीशन किया।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित स्थल

जाफना सांस्कृतिक केंद्र


निर्माण के लगभग दो साल बाद, श्रीलंका के उत्तरी प्रांत में भारत-वित्त पोषित 'जाफना सांस्कृतिक केंद्र' उद्घाटन की प्रतीक्षा कर रहा है। इस बात पर अनिश्चितता है कि इस केंद्र को कौन संचालित करेगा।

  • 11 मिलियन डॉलर के भारतीय अनुदान के साथ निर्मित, केंद्र की परिकल्पना "जाफना की सांस्कृतिक विरासत को बढ़ावा देने, संरक्षित करने और प्रोत्साहित करने" के लिए एक सार्वजनिक स्थान के रूप में और श्रीलंका में "सांस्कृतिक गतिविधियों के केंद्र" के रूप में की गई थी।
  • पांच साल के लिए इस केंद्र की प्रशासनिक खर्चों को वहन करने के लिए, श्रीलंका को भारत की पेशकश के बावजूद, इस केंद्र की उदघाटन प्रक्रिया हेतु बहुत कम प्रगति हुई है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप निधन

दक्षिण कोरिया के पूर्व सैन्य तानाशाह चुन डू-ह्वान का निधन


दक्षिण कोरिया के पूर्व राष्ट्रपति चुन डू-ह्वान का 23 नवंबर, 2021 को निधन हो गया। वे 90 वर्ष के थे।

(Image Source: https://www.globalsecurity.org/)

  • 1979 के सैन्य तख्तापलट के बाद देश में बड़े पैमाने पर लोकतंत्र समर्थकों ने विरोध किया था।
  • पूर्व सैन्य कमांडर, चुन के नेतृत्व में 1980 में ग्वांगजू में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों का नरसंहार किया गया था, जिसके लिए उन्हें बाद में दोषी ठहराया गया और मौत की सजा सुनाई गई थी।
  • राष्ट्रपति के रूप में चुन का आठ साल का शासन क्रूरता और राजनीतिक दमन वाला था।
  • एक सीधी चुनावी व्यवस्था की मांग को लेकर 1987 में हुये देशव्यापी छात्र-नेतृत्व वाले लोकतांत्रिक आंदोलन के बाद चुन ने पद से इस्तीफा दे दिया था।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

वर्ल्ड प्रीमेच्योरिटी डे (17 नवंबर)


2021 का विषय: 'जीरो सेपरेशन एक्ट नाउ! कीप पैरेंट्स एंड बेबीज बॉर्न टू सून टूगैदर' (Zero Separation Act now! Keep parents and babies born too soon together)

महत्वपूर्ण तथ्य: यह दिवस समय से पूर्व जन्म और इस मुद्दे से संबंधित चुनौतियों और बोझ के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है।

  • समय पूर्व जन्म तब होता है, जब गर्भावस्था के 37वें सप्ताह से पहले बच्चे का जन्म होता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार, दुनिया भर में हर साल लगभग 15 मिलियन समय -पूर्व जन्म (preterm births) होते हैं।
म्यूनिख, जर्मनी में स्थित 'यूरोपियन फाउंडेशन फॉर द केयर ऑफ न्यूबॉर्न इनफैन्ट' (EFCNI) और इसके सहयोगी यूरोपीय मूल संगठनों ने 2008 में ‘वर्ल्ड प्रीमेच्योरिटी डे’ (World Prematurity Day) की शुरुआत की।

राज्य समाचार ओडिशा

श्री मंदिर परिक्रमा परियोजना


24 नवंबर, 2021 को ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की उपस्थिति में महत्वाकांक्षी 'श्री मंदिर परिक्रमा परियोजना' (Shree Mandira Parikrama Project) की आधारशिला रखी गई।

(Image Source: https://twitter.com/SJTA_Puri/)

  • इस परियोजना के तहत 12वीं शताब्दी के श्री जगन्नाथ मंदिर, पुरी से 75 मीटर के दायरे में आने वाले क्षेत्रों को विकसित किया जाएगा।
  • लगभग 800 करोड़ रुपए के अनुमानित निवेश से विकसित होने वाली इस परियोजना से मेघनाद पचेरी (श्री जगन्नाथ मंदिर की बाहरी दीवार) के चारों ओर अबाधित 75 मीटर का गलियारा बनाया जाएगा।
  • यह परियोजना ओडिशा सरकार की 3,200 करोड़ रुपये की 'बुनियादी सुविधाओं और धरोहर एवं वास्तुकला की विकास योजना' का हिस्सा है, जिसे पुरी को 'विश्व स्तरीय विरासत शहर' के रूप में विकसित करने के लिए शुरू किया गया था।

राज्य समाचार दिल्ली

दिल्ली में लिंगानुपात बढ़कर हुआ 933


दिल्ली में लिंगानुपात 2020 में बढ़कर 933 हो गया है। यानी एक हजार पुरूषों पर महिलाओं की संख्या 933 हो गई है।

(Image Source: https://twitter.com/ddnewslive/)

  • दिल्ली सरकार के अर्थशास्त्र और सांख्यिकी निदेशालय की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार 2019 में यह संख्या 920 थी।
  • लिंगानुपात दर में वृद्धि सामाजिक जागरूकता को दर्शाती है।
  • दिल्ली में शिशु मृत्यु दर भी 2019 की तुलना में कम हुई है। 2019 में प्रति हजार शिशु मृत्यु दर 24.19 थी और यह 2020 में 20.37 हो गई है।
  • दिल्ली में मातृ मृत्यु दर में भी मामूली कमी आई है। 2019 में यह 0.55 प्रति हजार जन्म था, जो 2020 में 0.54 प्रति हजार जन्म हो गया है।

राज्य समाचार असम

विश्व बाल दिवस पर नीले रंग से रोशन हुई असम पुलिस


बाल अधिकारों की रक्षा के लिए अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हुए, विश्व बाल दिवस 2021 के अवसर पर असम पुलिस मुख्यालय और गुवाहाटी पुलिस आयुक्त कार्यालय 'नीले रंग' से रोशन हुए। हर साल 20 नवंबर को 'विश्व बाल दिवस' के रूप में मनाया जाता है।

(Image Source: (Image Source: https://en.wikipedia.org/)

  • इसके अलावा 4 पुलिस स्टेशन, अजरा, बशिष्ठ, पान बाजार और जलुकबाड़ी (नया) विश्व बाल दिवस पर नीले रंग से रोशन हुए।
  • 'गो ब्लू' अभियान (Go Blue campaign) संयुक्त राष्ट्र एजेंसी ‘यूनिसेफ’ द्वारा शुरू किया गया था, जो विश्व स्तर पर बाल अधिकारों से संबंधित है। दुनिया भर में बाल अधिकारों के संरक्षण के साथ एकजुटता व्यक्त करते हुए, दुनिया भर के प्रतिष्ठित स्थलों को नीले रंग से रोशन किया गया।
  • 2019 में लॉन्च किया गया 'असम पुलिस शिशु मित्र कार्यक्रम', भारत में सबसे बड़े बाल-सुलभ पुलिसिंग कार्यक्रमों (Child-friendly Policing programmes) में से एक है। यह कार्यक्रम असम पुलिस, यूनिसेफ और उत्साह बाल अधिकार संगठन द्वारा संयुक्त रूप से चलाया जाता है।