महिला उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए कार्यक्रम

कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय उद्यमिता शिक्षा, प्रशिक्षण, पक्ष-पोषण और उद्यमिता नेटवर्क के लिए आसान पहुँच के माध्यम से समर्थ इकोसिस्टम सृजित करने के लिए एक प्रधानमंत्री युवा योजना (PM YUVA) लागू कर रहा है।

  • देश में महिला उद्यमशीलता को प्रोत्साहित करने के लिए कौशल विकास मंत्रालय डॉयचे गेसल्सचफ्ट फेर इंटरनेशनल जुसमेनर्बिट (Deutsche Gesellschaftfür Internationale Zusammenarbeit),जर्मनी के सहयोग से ‘महिला उद्यमियों का आर्थिक सशक्तिकरण और महिलाओं द्वारा स्टार्ट-अप्स’ नामक प्रायोगिक परियोजना का कार्यान्वयन कर रहा है।
  • ग्रामीण विकास मंत्रालय ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थानों (RSETI) के माध्यम से कौशल विकास कार्यक्रम को कार्यान्वित कर रहा है, जो प्रशिक्षु को बैंक क्रेडिट लेने और अपने स्वयं के सूक्ष्म उद्यम शुरू करने में सक्षम बनाता है।
  • ग्रामीण विकास मंत्रालय दीन दयाल अंत्योदय योजना- राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (डीएवाई-एनआरएलएम) का भी कार्यान्वयन कर रहा है, जिसका उद्देश्य प्रत्येक ग्रामीण गरीब परिवार के लिए बहु आजीविका उन्नयन के माध्यम से ग्रामीण गरीबी को दूर करना है।
  • डीएवाई-एनआरएलएम के तहत कवर किए गए स्टार्ट-अप ग्रामीण उद्यमशीलता कार्यक्रम (एसवीईपी) के तहत पूरे भारत में कुल 194,144 उद्यम स्थापित (31 जनवरी, 2021 तक) किए गए हैं।

Source : सिविल सर्विसेज क्रॉनिकल ऑनलाइन, मार्च, 2021