संसद प्रश्न और उत्तर

राष्ट्रीय जलभृत मानचित्रण और प्रबंधन कार्यक्रम

केंद्रीय भूजल बोर्ड (CGWB) राष्ट्रीय जलभृत मानचित्रण और प्रबंधन कार्यक्रम (National Aquifer Mapping and Management program- NAQUIM) लागू कर रहा है, जिसमें भूजल संसाधन के स्थायी प्रबंधन की सुविधा के लिए जलभृत मानचित्रण, जलभृत प्रबंधन योजना की विशेषताओं और विकास की परिकल्पना की गई है। 'जलभृत' धरातल की सतह के नीचे चट्टानों का एक ऐसा संस्तर है, जहाँ भूजल एकत्रित होता है।


राष्ट्रीय जलीय पारिस्थितिकी संरक्षण योजना

पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय देश में आर्द्रभूमि के संरक्षण और प्रबंधन के लिए एक केंद्र प्रायोजित योजना 'राष्ट्रीय जलीय पारिस्थितिकी संरक्षण योजना' (National Plan for Conservation of Aquatic Eco-systems- NPCA) कार्यान्वित कर रहा है।


वरिष्ठ नागरिकों की राष्ट्रीय परिषद

वरिष्ठ नागरिकों के लिए बनाई गई योजनाओं और कार्यक्रमों के कार्यान्वयन की समीक्षा और आकलन करने के लिए 'वरिष्ठ नागरिकों की राष्ट्रीय परिषद' (National Council of Senior Citizens) को मजबूत किया गया है।


महिला उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए कार्यक्रम

कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय उद्यमिता शिक्षा, प्रशिक्षण, पक्ष-पोषण और उद्यमिता नेटवर्क के लिए आसान पहुँच के माध्यम से समर्थ इकोसिस्टम सृजित करने के लिए एक प्रधानमंत्री युवा योजना (PM YUVA) लागू कर रहा है।


सुरक्षित शहर परियोजना

सरकार द्वारा महिलाओं की सुरक्षा के लिए कई पहलों के तहत 8 शहरों अहमदाबाद, बेंगलुरू, चेन्नई, दिल्ली, हैदराबाद, कोलकाता, लखनऊ और मुंबई में गृह मंत्रालय द्वारा निर्भया फंड योजना के तहत सुरक्षित शहर परियोजनाओं (Safe City Projects) को मंजूरी दी गई है।


बाघों का पुनर्वास

राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण के माध्यम से भारत सरकार ने भूदृश्य स्तर (landscape level) पर स्रोत क्षेत्रों से बाघों के पुनर्वास के लिए सक्रिय प्रबंधन पर एक मानक संचालन प्रक्रिया जारी की है, जिसमें पूरे देश को संरक्षण आनुवंशिकी के आधार पर, पांच व्यापक भूदृश्यों के अंतर्गत समूहों में विभाजित किया गया है।


भारतीय प्राकृतिक कृषि पद्धति

प्राकृतिक खेती सहित पारंपरिक स्वदेशी पद्धतियों को बढ़ावा देने के लिए 2020-21 से परम्परागत कृषि विकास योजना (PKVY) की उप-योजना के रूप में 'भारतीय प्राकृतिक कृषि पद्धति' (Bhartiya Prakritik Krishi Padhati- BPKP) की शुरुआत की गई है।


संकटापन्न जनजातीय भाषाओं का संरक्षण और प्रलेखन

'जनजातीय अनुसंधान संस्थान (TRIs) को सहायता' योजना के तहत, जनजातीय मामलों का मंत्रालय, जनजातीय भाषाओं, बोलियों, कला, संस्कृति, नृत्य, संगीत और द्विभाषी प्राइमर्स के विकास के कार्यक्रमों सहित विभिन्न अनुसंधान और प्रलेखन गतिविधियों को पूरा करने के लिए जनजातीय अनुसंधान संस्थान को सहायता प्रदान करता है।


यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर स्थलों की घोषणा

वर्तमान में, भारत में 38 विश्व विरासत स्थल हैं। संस्कृति मंत्रालय के अंतर्गत सभी स्थल भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की संरक्षण नीति के अनुसार संरक्षित हैं।


कृषि पर जलवायु परिवर्तन का प्रभाव

जलवायु परिवर्तन अखिल भारतीय औसत तापमान में वृद्धि और पिछले तीन दशकों में अत्यधिक वर्षा की घटनाओं की आवृत्ति में वृद्धि के कारण बोधगम्य है।


Showing 1-10 of 96 items.