संसद प्रश्न और उत्तर

जनजातीय संस्कृति हेतु केंद्र

प्रश्न:

  1. क्या देश में जनजातीय संस्कृति के लिए कोई केंद्र हैं और यदि हां, तत्संबंधी ब्यौरा क्या है;
  2. मंत्रालय द्वारा जनजातीय संस्कृति और कलाकृतियों के संरक्षण और संवर्धन हेतु क्या कदम उठाए जा रहे हैं।

ई-अपशिष्ट हेतु पुनर्चक्रण इकाइयां

प्रश्न:

  • आरम्भ से लेकर अब तक देश में ई-अपशिष्ट के निपटान के लिए पंजीकृत अपशिष्ट प्रसंस्करण और पुनर्चक्रण इकाइयों की राज्य-वार और वर्ष-वार संख्या कितनी है; और
  • कुल कितनी मात्रा में अपशिष्ट उत्पन्न हुआ है और इन विनियमित अपशिष्ट प्रसंस्करण इकाइयों के माध्यम से कितने प्रतिशत ई-अपशिष्ट का निपटान किया गया है?

मदरसों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करना

प्रश्न: समाज के सबसे निचले तबके के लोगों को शिक्षित करने के लिए किए गए प्रयासों का ब्यौरा क्या है;

  • राज्यों के अधिकांश मदरसों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए शिक्षकों को प्रशिक्षित करने के लिए किए जा रहे प्रयासों का ब्यौरा क्या है;
  • क्या सरकार का मदरसा पाठ्यक्रम को विनियमित करने और मदरसा के मौजूदा पाठ्यक्रम में आधुनिक पाठ्यक्रम को शामिल करने का भी प्रस्ताव है?

इंडियन स्टार कछुआ

वन्यजीव अपराध नियंत्रण ब्यूरो (WCCB) में उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, 'इंडियन स्टार कछुओं (Indian Star Tortoise) की सबसे पसंदीदा पालतू जानवरों के रूप में मांग इसके अस्तित्व के लिए प्रमुख खतरों में से एक है।


पारिवारिक वानिकी की अवधारणा

'लैंड फॉर लाइफ' संयुक्त राष्ट्र मरुस्थलीकरण रोकथाम अभिसमय (UNCCD) का एक पुरस्कार कार्यक्रम है, जिसे हर दो साल में प्रदान किया जाता है।


इंडियन टेंट टर्टल

ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं है जिससे यह संकेत मिले हैं कि नर्मदा नदी में अवैध खनन के कारण इंडियन टेंट टर्टल (Indian Tent Turtles) विलुप्त होने के कगार पर है।

  • इंडियन टेंट टर्टल (Indian Tent Turtles) को वैज्ञानिक रूप से 'पंगशुरा टेंटोरिया' (Pangshura tentoria) के नाम से जाना जाता है।

टाइप-1 मधुमेह पर नियंत्रण के उपाय

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद द्वारा वर्ष 2006 से मधुमेह के रिकॉर्ड को बनाए रखने के लिए 'यंग डायबिटीज रजिस्ट्री' (YDR) नामक एक रजिस्ट्री का रखरखाव किया जाता है।


पेयजल संबंधित भारतीय मानक

केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्री ने 16 मार्च, 2022 को लोक सभा को जानकारी दी कि भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) ने पेयजल के संबंध में दो भारतीय मानक बनाए हैं।


समुद्री उद्योग द्वारा कार्बन उत्सर्जन

समुद्री उद्योग (सैन्य अभियानों को छोड़कर) से ग्रीन हाउस गैस (जीएचजी) उत्सर्जन समग्र परिवहन क्षेत्र के जीएचजी उत्सर्जन में 1 प्रतिशत का योगदान करता है यानी लगभग 2,744.34 Gg CO2e।

  • विभिन्न पहलों और कार्यक्रमों के माध्यम से इसे ईंधन-कुशल, परिवहन का स्वच्छ माध्यम बनाकर उत्सर्जन को कम करने के लिए उपाय किए गए हैं।

हिमालयी क्षेत्र के ग्लेशियरों का पिघलना

विभिन्न भारतीय संस्थान/विश्वविद्यालय/संगठन जैसे- भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (GSI), वाडिया हिमालय भूविज्ञान संस्थान (WIHG), राष्ट्रीय ध्रुवीय एवं समुद्री अनुसंधान केन्द्र (NCPOR) आदि विभिन्न वैज्ञानिक अध्ययनों समेत हिमनद पिघलने पर नजर रखने के लिए हिमालय हिमनदों की निगरानी करते हैं।

  • कुछ हिमालयी हिमनदों पर किए गए द्रव्यमान संतुलन अध्ययनों में पाया गया कि अधिकांश हिमालयी हिमनद पिघल रहे हैं या अलग-अलग दरों पर उनका संकुचन हो रहा है।

Showing 1-10 of 174 items.