जनजातीय विश्वविद्यालयों की स्थापना

मुख्य रूप से देश की जनजातीय आबादी के लिए उच्च शिक्षा और अनुसंधान सुविधाओं के अवसर प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार ने पहले से ही दो केंद्रीय जनजातीय विश्वविद्यालयों नामत: इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय, अमरकंटक और आंध्र प्रदेश केंद्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय, विजयनगरम की स्थापना की है।

  • इसके अलावा, आंध्र प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम, 2014 में अन्य बातों के साथ-साथ तेलंगाना में एक नए केंद्रीय जनजाति विश्वविद्यालय की स्थापना का अधिदेश है। यह विश्वविद्यालय संसद द्वारा अधिनियमित होने के बाद कार्य करेगा।
  • इसके अलावा, विभिन्न राज्यों में कई केंद्रीय विश्वविद्यालय हैं, जो क्षेत्र के आदिवासी युवाओं की उच्च शिक्षा की आकांक्षाओं को भी पूरा करते हैं।

Source : सिविल सर्विसेज क्रॉनिकल ऑनलाइन. अगस्त 2021