कोसी रेल महासेतु

( 18 September, 2020, , www.pib.gov.in )


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 18 सितंबर, 2020 को बिहार में ऐतिहासिक कोसी रेल महासेतु को राष्ट्र को समर्पित किया।

  • कोसी महासेतु और किऊल पुल के उद्घाटन, रेल विद्युतीकरण परियोजनाओं सहित 3000 करोड़ रुपये की लागत की एक दर्जन से अधिक परियोजनाएं शुरू की गई।
  • 1934 में भारत और नेपाल में आए भूकम्प और बाढ़ के कारण मिथिला और कोसी क्षेत्र को जोड़ने वाला रेल सम्पर्क बह गया था।
  • इस नई कोसी रेल लाइन की परिकल्पना 2003 में की गई थी।
  • सुपौल-आसनपुर-कुपहा रेल मार्ग राष्ट्र को समर्पित किया गया। 1.9 किमी. कोसी महासेतु के माध्यम से निर्मली से सरायगढ़ की 300 किमी. की यात्रा केवल 22 किमी. हो गई है।
  • कोसी महासेतु की तरह, किऊल नदी पर इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग सुविधा के साथ एक नये रेल मार्ग के कारण पूरे रेल मार्ग पर 125 किमी. प्रति घंटे की गति से रेलगाड़ियां चलने में सक्षम होंगी।
  • बरौनी में बिजली के इंजनों के रख-रखाव के लिए बिहार का पहला लोको शेड का भी उदघाटन किया गया। बिहार में रेल नेटवर्क के लगभग 90% हिस्से का विद्युतीकरण पूरा किया जा चुका है।

स्रोत : सिविल सर्विसेज क्रॉनिकल ऑनलाइन. सितंबर 2020