निकारागुआ चिड़ियाघर में पैदा हुआ दुर्लभ सफेद बाघ


जनवरी 2021 में मध्य अमेरिकी देश निकारागुआ के राष्ट्रीय चिड़ियाघर मसाया में, 'नीव' (Nieve) नामक एक दुर्लभ सफेद बाघ का जन्म हुआ।

महत्वपूर्ण तथ्य: स्पेनिश में नीव का अर्थ ‘बर्फ’ है। इसकी माँ द्वारा इसे छोड़ दिए जाने के बाद इंसानों द्वारा इसकी देखभाल की जा रही है।

  • चिड़ियाघर के अनुसार नीव इस देश में पैदा होने वाला पहला सफेद बंगाल टाइगर है, जिसके माता-पिता पीले और काले रंग की धारियों वाले बंगाल टाइगर (Bengal Tiger) हैं।
  • यह सफेद रंग का बाघ 'एक आनुवंशिक विसंगति' के कारण पैदा हुआ है, जिसके किसी भी जंगली बाघ में मौजूद होने की जानकारी नहीं है।

सफेद बाघ: 'सफेद बाघ' बंगाल टाइगर (पैंथेरा टाइग्रिस टाइग्रिस) का एक दुर्लभ रूप है, जो भारत, बांग्लादेश, नेपाल और भूटान में पाया जाता है।

  • ये एक अलग प्रजाति नहीं है, बल्कि इसका सफेद रंग एक जीन के रिसेसिव म्यूटेशन (recessive mutation) यानि कमजोर पड़ जाने का परिणाम है।
  • 2013 में, चीनी शोधकर्ताओं की एक टीम ने पाया कि SLC45A2 नामक वर्णक जीन (pigment gene) इस विशेषता के लिए जिम्मेदार था। सफेद बाघ में इस जीन का ही एक प्रकार होता है, जो लाल और पीले रंग (red and yellow pigments) के उत्पादन को रोकता है।